राजनीती

भाजपा ने सभी धर्म के लोगोंको दी पनाह, मोदी सरकार का रिपोट कार्ड (J.P.Nadda)

Janprahar Desk
4 Jan 2020 6:20 PM GMT
भाजपा ने सभी धर्म के लोगोंको दी पनाह, मोदी सरकार का रिपोट कार्ड (J.P.Nadda)
x
भारत में लगभग 2,300 राजनीतिक दल हैं। उनमें से 54 क्षेत्रीय हैं और उनमें से 7 राष्ट्रीय दल हैं। ये सभी 54 क्षेत्रीय दल वंशवादी दल बन गए हैं। ये पार्टी आपने ही घर के सदस्य को आगे बढ़ती है | और अगर दूसरा कोई पार्टी में आये थो उसे खड़ा करके डूबने का काम

भारत में लगभग 2,300 राजनीतिक दल हैं। उनमें से 54 क्षेत्रीय हैं और उनमें से 7 राष्ट्रीय दल हैं। ये सभी 54 क्षेत्रीय दल वंशवादी दल बन गए हैं। ये पार्टी आपने ही घर के सदस्य को आगे बढ़ती है | और अगर दूसरा कोई पार्टी में आये थो उसे खड़ा करके डूबने का काम करती है |

CPI (M) के अलावा भाजपा एकमात्र राष्ट्रीय पार्टी है जो वैचारिक बनी हुई है| भारतीय जनता पार्टी ये १ ऐसी पार्टी है जो देश के हिट में फैसले लेती है और इस पार्टी में कोई वंशवादी आपको नहीं दिखेगा | इस पार्टी में जो सबसे अच्छा काम करता है उसी सदस्य को मौका मिलता है | ये पार्टी देश का हमेशा भला ही चाहती है |

2004-2014 के बीच रक्षा बलों के लिए उपकरणों का एक टुकड़ा नहीं खरीदा गया था। पीएम मोदी के निर्वाचित होते ही आरोप लागू हो गया। राफेल्स, अपाचे हेलीकॉप्टर, 7 पनडुब्बियां और 1.86 लाख बुलेट प्रूफ जैकेट खरीदे गए हैं। मोदी सरकार के तहत भारत बदल गया है|

अफगानिस्तान में 50,000 सिख परिवार थे। आज, अफगानिस्तान में केवल 2,000 परिवार बचे हैं। ये ४८००० परिवार खा गए इसका कोई जवाब दे सकता है | इन लोगोंके साथ जबरदस्ती करके उनके परिवार के बेटियेंसे जबरदस्तीसे शादी किया जाता है| ऐसे कर-कर के इन लोगोंकी संख्या काम होती चली गई | पाकिस्तान में, हिंदुओं, सिखों, ईसाइयों, पारसियों, जैनों, और बौद्धों की आबादी 23% थी। आज, यह सिर्फ 3% है। यह 20% लोग कहां गए? इसका जवाब है किसी के पास सब जानते है मगर कोई कह नहीं सकता ये लोग कहा गए| जो लोग अपनी जान बचाके, अपनी आबरू बचाके भारत में आ गए है उन्ही लोगोंको बचाने का काम CAA ने किया है | तो क्या गलत किया है|

भाजपा नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चल रही है यह सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि असम समझौते के खंड 6 को सच्ची भावना से संरक्षित किया जाएगा। यह हमारी जिम्मेदारी है कि हम असम की विरासत की रक्षा करें और हम करेंगे।

पूर्व पीएम राजीव गांधी ने 1985 में समझौते पर हस्ताक्षर किए। कांग्रेस सरकार ने 2014 तक कुछ नहीं किया|

Next Story