राजनीती

यूपी के शिक्षा विभाग का बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया: CM योगी आदित्यनाथ का बड़ा ऐलान !

Janprahar Desk
15 Jun 2020 5:53 PM GMT
यूपी के शिक्षा विभाग का बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया: CM योगी आदित्यनाथ का बड़ा ऐलान !
x
उत्तर प्रदेश के शिक्षा विभाग में फर्जीवाङो की जानकारी मिलने पर ,सीएम योगी आदित्यनाथ जी ने शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के लिए एक बड़ा ऐलान किया है। उत्तर प्रदेश में पिछले कुछ समय में शिक्षा विभाग को लेकर फर्जीवाड़े के किस्से सामने आए हैं। इस पर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने योगी आदित्यनाथ के समक्ष कई सवाल खड़े कर दिए हैं।

उत्तर प्रदेश के शिक्षा विभाग में फर्जीवाङो की जानकारी मिलने पर ,सीएम योगी आदित्यनाथ जी ने शिक्षा व्यवस्था को सुधारने के लिए एक बड़ा ऐलान किया है। उत्तर प्रदेश में पिछले कुछ समय में शिक्षा विभाग को लेकर फर्जीवाड़े के किस्से सामने आए हैं। इस पर कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने योगी आदित्यनाथ के समक्ष कई सवाल खड़े कर दिए हैं।  इसे देखते हुए योगी आदित्यनाथ ने एक बड़ा फैसला लिया है कि प्रदेश के सारे माध्यमिक, उच्च और बेसिक शिक्षा विभाग , समाज कल्याण विभाग के सभी विद्यालय, तथा कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालयों में कार्यरत सभी शिक्षकों के पूरे डाक्यूमेंट्स की जांच करवाई जाएगी।

यूपी में जांचे जाएंगे सभी शिक्षकों ...
साथ में उन्होंने यह भी बताया कि डाक्यूमेंट्स की जांच करने के लिए एक स्पेशल कमेटी बनाई जाएगी जो भली-भांति यह काम करने में समर्थ होगी। किसी भी शिक्षक के डाक्यूमेंट्स में किसी भी प्रकार का फर्जीवाड़ा पाया जाने पर उस शिक्षक को विशेष प्रकार की कार्यवाही के कठोर दौर से गुजरना पड़ेगा। बता दें कि पिछले कुछ दिनों में उत्तर प्रदेश के शिक्षा विभाग की एक बड़ी घटना देखी गई। यह घटना अनामिका शुक्ला के नाम पर थी। बताया जा रहा है कि अनामिका शुक्ला के नाम पर प्रदेश के 25 विद्यालयों में नौकरी करने का किस्सा सामने आया है। इसी नाम से 13 महीनों में 25 स्कूलों में नौकरी करने का फर्जीवाड़ा सामने आया है। 


इस मामले की पुष्टि तब हुई जब असली अनामिका शुक्ला द्वारा बेसिक शिक्षा कार्यालय में उनके बेरोजगार होने की खबर सामने आई। उससे पहले एक अन्य घटना भी सामने आई थी, जिसमें बेसिक शिक्षा अधिकारियों को , शिक्षकों के प्रमाण पत्र में अंक बढ़ाने का फर्जीवाड़ा था। उसके पश्चात भी योगी आदित्यनाथ का सवाल था कि आखिर यह सारी घटनाएं और फर्जीवाड़े किसके कार्यकाल में हुए? इन घटनाओं को देखते हुए प्रियंका गांधी ने योगी आदित्यनाथ के नाम पर ट्वीट किया और उनसे इन सारी घटनाओं की संपूर्ण जानकारी लेने की मांग की।

Next Story