देश

क्या वैक्सीन के दोनों डोज के बाद बूस्टर डोज की भी होगी जरूरत? जानिए डॉ गुलेरिया की राय

Janprahar Desk
25 July 2021 11:17 AM GMT
क्या वैक्सीन के दोनों डोज के बाद बूस्टर डोज की भी होगी जरूरत? जानिए डॉ गुलेरिया की राय
x
क्या वैक्सीन के दोनों डोज के बाद बूस्टर डोज की भी होगी जरूरत? जानिए डॉ गुलेरिया की राय

अभी तक तो यही कहा जा रहा था की कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद आप काफी हद तक कोविड से सुरक्षित है। लेकिन AIIMS प्रमुख डॉ रणदीप गुलेरिया के नए बयान से कोरोना की स्थिती और चिंताजनक दिखाई पड़ती है।

डॉ रणदीप गुलेरिया ने एक बयान में कहा, भारत मे जिस तरह से कोविड के नए-नए वैरिएंट सामने आ रहे है, वैसी स्थिती में हमे बूस्टर डोज की जरूरत पड़ेगी। डॉ गुलेरिया का कहना है कि समय के साथ इम्युन सिस्टम में कमी होने के संकेत मिल रहे है। ऐसे में हमे अपने आप को और सुरक्षित करने के लिए बूस्टर डोज की जरूरत पड़ेगी।

उन्होंने कहा, अभी से कोरोना के नए नए म्यूटेशन सामने आ रहे है और भविष्य में भी नए म्यूटेशन होंगे, तो उस स्थिती में भारत को कोविड वैक्सीन की दूसरी पीढ़ी के साथ बूस्टर डोज लगवाना होगा। बूस्टर डोज भविष्य में होने वाले नए वैरिएंट से हमे सुरक्षित रखेगा।

यह भी पढ़ें: भारत में कोरोना की तीसरी लहर का संकट, इन राज्‍यों में बढ़ा संक्रमण..

डॉ गुलेरिया ने बताया कि बूस्टर डोज का ट्रायल भी शुरू हो चुका है। जब पूरे देश की आबादी की वैक्सीन की दोनों डोज लग जाएगी तब बूस्टर डोज के अभियान की शुरुआत की जाएगी।

बता दें कि भारत में भी कोरोना की शुरुआत से लेकर अबतक कोविड के 230 म्यूटेशन हो चुके है। इनमे से ज्यादातर नुकसान देने वाले नहीं है। लेकिन कुछ ऐसे है जो बेहद से चिंताजनक होते है। इन्ही में एक डेल्टा वैरिएंट की वजह से हमे अप्रैल-मई में दूसरी लहर का सामना करना पड़ा था।

अन्य खबरें

Next Story