हंगामे की भेंट चढ़ा मानसून सत्र का पहला दिन, लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित

 
Lok Sabha and Rajya Sabha proceedings adjourned till tomorrow

संसद के मानसून सत्र का पहला दिन हंगामे की भेंट चढ़ गया। संसद की शुरुआत होते विपक्षी दलों के सांसदों ने हंगामा शुरू करते हुए वेल तक पहुंच गए, जिसके बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कार्रवाई को 3:30 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया था। इसके बाद फिर हंगामेदार शुरुआत हुआ तो से लोकसभा को कल सुबह 11 बजे तक के किये स्थगित कर दिया गया है। साथ ही राज्य सभा की कार्रवाई को भी मंगलवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित किया गया है।

आज लोकसभा में सत्र की शुरुआत में ही कांग्रेस, टीएमसी, बसपा और अकाली दल के सांसदों ने महंगाई, किसान आंदोलन और अन्य मुद्दों पर नारेबाजी की और सदन के वेल में पहुंच गए। जिस वजह पीएम मोदी कैबिनेट के नए मंत्रियों का परिचय सदन में नहीं करवा पाएं। 

इस दौरान आप सांसद भगवंत मान ने कहा, सरकार किसानों की बात नहीं सुन रही और न ही किसानों के बारे में एक शब्द कह रही है। हमारे पास हंगामा करने के सिवा कोई चारा नहीं बचता। 500 से ज्यादा किसान आंदोलन में मारे गए लेकिन सरकार के कानों पर जू तक नहीं रेंग रहा। 

जब सदन में पीएम मोदी नए मंत्रियों का परिचय करवा रहे थे तब विपक्षी जोरदार हंगामा करने लगे जिसके बाद पीएम मोदी ने कहा, कुछ लोगों को बहुत पीड़ा हो रही है। महिला मंत्रियों के परिचय करने के संबंध में उन्होंने कहा, यह कौन सी महिला विरोधी मानसिकता है।

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से दर्ज हुए राजद्रोह के सबसे ज्यादा मामले, देखिए आंकड़ें

लंबे समय बाद शुरू वाले संसद सत्र में विपक्षी पार्टी सारकर को किसान आंदोलन, महंगाई और कोरोना महामारी जैसे मुद्दों पर घेरने का प्लान बना चुका है। वहीं, संसद सत्र से पहले पेगासस स्पाईवेयर के जरिये फोन हैकिंग के मामले में सरकार की टेंशन और बढ़ गई है। 

सरकार ने इस बार मॉनसून सत्र के दौरान 30 बिलों को पारित कराने की योजना बनाई है। इन बिलों में इलेक्ट्रिसिटी एमेंडमेंट बिल, मानव तस्करी विधेयक और केंद्रीय विश्वविद्यालय संशोधन विधेयक भी शामिल है। बता दें कि के मॉनसून सत्र की अवधि 26 दिनों की है अगर इसमें से छुट्टियां हटा दी जाएं तो कामकाज सिर्फ 19 दिन ही चलेगा। वहीं, इसमें से पहला दिन हंगामे की भेंट चढ़ गया।

अन्य खबरें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|