देश

अब SIM Card लेना हुआ और आसान, कागजी तामझाम के बिना ले सकेंगे नया कनेक्शन, जानें पूरी जानकारी

Ankit Singh
22 Sep 2021 4:31 AM GMT
अब SIM Card लेना हुआ और आसान, कागजी तामझाम के बिना ले सकेंगे नया कनेक्शन, जानें पूरी जानकारी
x
संचार मंत्रालय ने नया सिम कार्ड लेने की प्रक्रिया को बेहद आसान बना दिया है। अब नए कनेक्शन के लिए ग्राहक को ज्यादा कागजी तामझाम नहीं करना पड़ेगा, ग्राहक आसानी से घर बैठे सिम कार्ड प्राप्त कर सकेंगे।

टेलीकॉम क्षेत्र में सरकार ने उपभोक्ताओं के लिए भी कई सहूलियतों का ऐलान किया है। संचार मंत्रालय के अनुसार अब ग्राहकों को नया प्री-पेड या पोस्ट-पोस्ट कनेक्शन के लिए रिटेलर शॉप के चक्कर नहीं काटने होंगे। यह कार्य ग्राहक घर बैठे ही बड़ी आसानी से कर सकेंगे। इसके अलावा प्रीपेड से पोस्टपेड और पोस्टपेड से प्रीपेड में बदलवाने के नियम भी और आसान बना दिये गए है।

अगर आपको नया सिम कार्ड लेना है तो आपको केवल उस कंपनी के ऐप या वेबसाइट पर आवेदन फॉर्म भरना होगा जिसका सिम लेना चाहते है। फॉर्म भरते समय वैकल्पिक नंबर पर भेजे गए OTP के जरिए यूजर के सत्यता की जांच की जाएगी। वहीं, कंपनियां यूजर के आधार के जरिए नया सिम कनेक्शन सत्यपित करेगी।

अब सिम लेने के लिए ज्यादा कागजी तामझाम करने की जरूरत नहीं है। बस ग्राहक के आधार कार्ड के जरिये ही नया सिम प्रदान कर दिया जाएगा। आवेदक को नए सिम कनेक्शन के लिए फॉर्म भरते समय अपनी तस्वीर अपलोड करनी होगी, साथ ही एक वीडियो भी अपलोड करना होगा। फॉर्म भरने की पूरी प्रक्रिया के बाद आवेदक के पते पर एक निष्क्रिय सिम भेज दिया जाएगा। इसके बाद ग्राहक उस सिम को वेरिफिकेशन के बाद एक्टिव कर सकेंगे।

पहले नया सिम लेने के लिए आधार के साथ कोई और डॉक्यूमेंट देना पड़ता था। लेकिन अब आधार से प्राप्त जानकारी के ज़रिए ही उपभोक्ताओं को नया सिम दिया जा सकेगा। आधार से जानकारी लेने के लिए मोबाइल कंपनियों को प्रति लेन देन एक रुपया ख़र्च करना पड़ेगा।

सरकार ने ग्राहकों को प्रीपेड कनेक्शन पोस्टपेड में या पोस्टपेड कनेक्शन प्रीपेड में परिवर्तित कराने की सुविधा आसान कर दी है। इसके लिए अब केवल OTP के ज़रिए सत्यापन कराना होगा। OTP आधारित कन्वर्जन प्रक्रिया से ग्राहक घर बैठे यह कर सकता है।

गौरतलब है कि अभी तक नया मोबाइल कनेक्शन प्राप्त करने या मोबाइल कनेक्शन को प्रीपेड से पोस्टपेड या पोस्टपेड से प्रीपेड में बदलने के लिए ग्राहक को केवाईसी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता था।

ये भी पढ़ें-

देश के लिए अचछी खबर: नाक के जरिए दी जाएगी नेजल वैक्सीन, जल्द होगा AIIMS में क्लीनिकल ट्रायल

COVID-19: कोरोना वैक्सीन के साथ अब HIV का इलाज भी संभव, Moderna अब इंसानों पर करेगी ट्रायल

रहे सावधान! वैक्सीन लगाने के बाद भी संक्रमित कर सकता है कोरोना का ये वेरिएंट, ICMR का खुलासा

Next Story
Share it