NCPCR की रिपोर्ट- कोरोना ने 9346 बच्चों के सिर से छीना मां-बाप का साया

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) के अनुसार कोरोना महामारी चलते 9346 बच्चों ने आने सर से मां-बाप का साया खो दिया है।
 
Orphan child

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (NCPCR) के अनुसार कोरोना महामारी चलते 9346 बच्चों ने आने सर से मां-बाप का साया खो दिया है। मंगलवार को NCPCR ने सुप्रीम कोर्ट के समक्ष यह डाटा पेश किया। यह डाटा सभी राज्यों द्वारा प्रदान किया गया है। 

वहीं, एक अलग नोट में महाराष्ट्र सरकार ने जस्टिस एलएन राव और जस्टिस अनुरुद्ध बोस के समक्ष एक डाटा पेश किया था जिसमे यह अवगत कराया गया था कि 30 मई तक मिली जानकारी के अनुसार राज्य के विभिन्न इलाकों के 4,451 बच्चों ने अपने माता-पिता में से किसी एक को खो दिया है तथा 141 ऐसे बच्चे है जिन्होंने माता-पिता दोनो को खो दिया।

NCPCR की रिपोर्ट के अनुसार सबसे ज्यादा बच्चे उत्तर प्रदेश से अनाथ हुए है। रिपोर्ट के अनुसार यूपी में 2110 बच्चों ने आने मां-बाप को खोया, इसके साथ ही बिहार में 1327, केरल में 952 और मध्य प्रदेश में 712 बच्चे कोरोना महामारी के कारण अनाथ हो गए।

सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकारों से कहा है कि वह 7 जून तक NCPCR की वेबसाइट बाल स्वराज पर यह सारा डाटा अपलोड करें। साथ ही अदालत ने यह भी कहा है कि मौत होने के मद्देनजर यह जरूरी हो गया है कि बच्चों के अधिकारों के संरक्षण के लिए अतिरिक्त प्रयास किए जाएं.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट बाल गृहों में कोविड फैलने पर स्वत: संज्ञान लेने से जुड़े एक मामले में सुनवाई कर रहा है.

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|