पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले टैक्स से हुई सरकार की बम्पर कमाई, 2020-21 में सबसे ज्यादा बढ़ा खजाना

 
Government's bumper earnings from tax on petrol and diesel

देश में बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दामों के बीच केंद्र सरकार ने तेल से होने वाली कमाई का डाटा पेश किया है जिसको जानने के बाद आप चौंक जाएंगे। प्रस्तुत किये तथ्यों के अनुसार रिपोर्ट में यह बताया गया है कि हर साल पेट्रोल-डीजल के दाम में कितना इजाफा किया गया है और एक्साइज ड्यूटी से होने वाली कमाई से सरकार का खजाना कितना बढ़ा है।

लोकसभा में पूछे गए लिखित प्रश्न के जवाब में पेट्रोलियम मंत्रालय की ओर से बताया गया कि इस साल एक जनवरी से 9 जुलाई के बीच पेट्रोल के दामों में 63 बार बढ़ोतरी की गई है। जबकि 123 दिन ऐसे रहे जब पेट्रोल के दाम स्थिर रहे। वहीं, इस बीच सिर्फ 4 बार पेट्रोल की कीमत घटाई गई। 

इसी अवधि के बीच डीजल के दामों में 62 बार इजाफा किया गया। 125 दिन ऐसे रहे जब डीजल की कीमतें स्थिर रही। जबकि 4 दिन ऐसे थे जब डीजल के दाम घटाए गए थे। 

इस तरह सरकार ने पिछले 3 सालों का आंकड़ा भी पेश किया है। जिसके तहत डीजल के दामों में सबसे ज्यादा बार बढ़ोतरी साल 2018-19 में की गई। साल 2018-19 में 140 बार डीजल के दाम में बढ़ोतरी की गई। साल में 2019-20 में 79 बार, जबकि 2020-21 में 73 बार दाम बढ़ाए गए। 

यह भी पढ़ें: क्या पेगासस सॉफ्टवेयर पूरी दुनिया पर सकता है जासूसी, जानें क्या है पेगासस ?

पेट्रोल की बात करें तो साल  2018-19 के दौरान सबसे ज्यादा 148 बार दामों में बढ़ोतरी की गई। वहीं, 2019- 20 में 89 बार जबकि 2020-21 में 76 बार दाम बढ़ाए गए। 

सरकारी खजाने में हुआ बम्पर इजाफा

वहीं, सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले एक्साइज ड्यूटी से होने वाली कमाई का डाटा भी पेश किया है। जिसके अनुसार सरकार ने साल 2020-21 में बम्पर कमाई की है। अगर सिलसिलेवार ढंग से देखे तो साल 2018-19 में 21,3000 करोड़ रुपए पेट्रोल और डीज़ल पर लगने वाले एक्साइज ड्यूटी से मिले है। वहीं, 197845 करोड़ रुपयों की आमदनी हुई। जबकि 2020-21 में यह आमदनी बढ़कर 334000 करोड़ रुपए पहुंच गई। 

अन्य खबरें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|