तीन कृषि कानून के खिलाफ आज से किसानों का संसद मार्च, छावनी में तब्दील हुआ जंतर मंतर

 
Sansad march

केंद्र के तीन कृषि कानून के खिलाफ आज से किसानों का प्रादर्शन जंतर-मंतर पर शुरू हो गया है। आज से लेकर 13 अगस्त तक किसान रोजाना जंतर-मंतर पर किसान संसद चलाएंगे। इसके मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने जंतर-मंतर के आसपास के इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया है। सुरक्षा के लिहाज से कड़ा सुरक्षा पहरा लगाया गया है। 

बता दें की जंतर-मंतर पर किसान 200 की संख्या में किसान संसद चलाएंगे। यह बिल्कुल असली संसद जैसा ही होगा। संसद में कृषि कानूनों पर किसान बात करेंगे और यह रोजा सुबह 11 से शाम 5 बजे तक चलेगी। किसानों के संसद में एक स्पीकर और डिप्टी स्पीकर भी होंगे जो संसद की कार्यवाही को संचालित करेंगे। 

दिल्ली पुलिस ने बुधवार को प्रादर्शन करने की इजाजत दे दी है। पुलिस से सिर्फ 200 किसानों को हो प्रादर्शन करने की इजाजत दी है। इस दैरान रोजाना 200 किसान टीकरी बॉर्डर से 5 अलग अलग बसों में जंतर-मंतर पहुंचेंगे। शांतिपूर्वक प्रादर्शन करने की अनुमति दी गई है। 

किसान नेताओं ने कहा है कि उनका प्रादर्शन शांतिपूर्वक ही रहेगा। किसान नेता ने बताया कि 26 जुलाई और 9 अगस्त को महिलाएं भी संसद मार्च में हिस्सा लेंगी, उस दिन सिर्फ महिलाएं ही संसद संभालेगी। 

यह भी पढ़ें: टैक्स चोरी के आरोप में मीडिया ग्रुप दैनिक भास्कर के दफ्तर पर आयकर विभाग का छापा

किसानों ने पहले ही बताया था कि जो भी किसान संसद के सामने प्रदर्शन करने जाएंगे उनके पास पहचान का बैज भी होगा। जिसमें प्रत्येक प्रदर्शकारियों का मोबाइल नंबर और आधार कार्ड भी शामिल होगा।

संसद मार्च के टीकरी बॉर्डर से भी किसान शामिल होंगे। टीकरी बॉर्डर से किसानों का एक जत्था सिंघु बॉर्डर के लिए रवाना होगा। इसके बाद यहां से कुल 200 किसान जंतर मंतर के लिए कूच करेंगे।


अन्य खबरें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|