DCGI ने नियमों में किया बदलाव, अब मॉडर्ना, फाइजर जैसी विदेशी वैक्सीनों का भारत में आना हुआ आसान

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) ने भारत में वैक्सीन की रफ्तार को तेज करने के लिए नया कदम उठाया इस नए कदम के बाद से अब भारत में मॉडर्ना, फाइजर जैसी विदेशी वैक्सीन की पहुंच आसानी से हो जाएगी।
 
vaccine

ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DGCI) ने भारत में वैक्सीन की रफ्तार को तेज करने के लिए नया कदम उठाया इस नए कदम के बाद से अब भारत में मॉडर्ना, फाइजर जैसी विदेशी वैक्सीन की पहुंच आसानी से हो जाएगी। दरअसल अब इमरजेंसी यूज के लिए WHO की मंजूरी वाली वैक्सीन को भारत मे बिंजिंग ट्रायल की जरूरत नहीं पड़ेगी।

DGCI के एक डॉक्यूमेंट में वीजी सोमानी ने कहा है कि  भारत मे वैक्सीन की कमी के कारण ये फैसला लिया गया है। बता दें कि वैक्सीन कंपनियों ने सरकार से लोकल ट्रायल से छूट के लिए अनुरोध किया था. 

आपातकालीन स्थिति में प्रतिबंधित इस्तेमाल के लिए भारत में COVID-19 वैक्सीन के लिए उन टीकों को मंजूरी मिलेगी जिन्हें पहले से ही US FDA, EMA, UK MHRA, PMDA जापान ने इमरजेंसी यूज के लिए मंजूरी दे रखी है. इसके अलावा WHO की इममरजेंसी यूज लिस्ट (EUL) में जो वैक्सीन शामिल हैं और पहले से ही लाखों लोगों को जो लगाए जा चुके हैं.

इस नए नियमों के बाद से किसी भी देश की वैक्सीन जिसे मूल देश राष्ट्रीय प्रयोगशाला में प्रमाणित किया गया है तो उसे भारत में बिंजिंग ट्रायल की अनुमति लेने की जरूरत नहीं होगी।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|