मोदी कैबिनेट में 42 फीसदी मंत्रियों पर आपराधिक मामले, 90 प्रतिशत करोड़पति : ADR रिपोर्ट में दावा

 
ADR Report

सात जुलाई को मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार हुआ, जिसमें 15 नए कैनेट मंत्रियों और 28 राज्य मंत्रियों ने शपथ ली। अब मंत्री परिषद के कुल सदस्यों की संख्या 78 हो गई है। मोदी मंत्रिमंडल में शामिल कुल 78 मंत्रियों में से 42 फीसदी पर आपराधिक मामले दर्ज है।   इनमें से तो चार लोगों पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज है। एडीआर की रिपोर्ट से ये जानकारी सामने आई है।

एडीआर रिपोर्ट के अनुसार मोदी मंत्रिमंडल के चार मंत्री (जॉन बारला, प्रमाणिक, पंकज चौधरी, वी मुरलीधरन) ने तो हत्या के प्रयास से जुड़े मामलों की घोषणा की है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स के आकलन के अनुसार 33 फीसदी ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले होने का उल्लेख किया है।

वहीं, 24 से 31 फीसदी मंत्री ऐसे है जिन पर डकैती और हत्या के प्रयासों का मामला है उन्होंने नामांकन प्रक्रिया के दौरान इसकी घोषणा की है। मोदी कैबिनेट में शामिल हुए सबसे सबसे युवा (35 वर्ष) मंत्री निशित प्रमाणिक के खिलाफ भी हत्या से जुड़ा मामला दर्ज है। 

यह भी पढ़ें: तीसरी लहर की आशंका और बढ़ी, त्रिपुरा में आधे से अधिक सैंपल में मिला डेल्टा प्लस वेरिएंट

अगर मोदी मंत्रिमंडल में शामिल नए मंत्रियों की संपत्ति की बात करें तो 90 प्रतिशत (70 मंत्री) मंत्री करोड़पति है। ज्योतिरादित्य सिंधिया, पीयूष गोयल, नारायण तातु राणे और राजीव चंद्रशेखर ने 50 करोड़ रुपए से ज्यादा संपत्ति का उल्लेख किया है।

वहीं, 8 मंत्री ऐसे है जिनकी संपत्ति एक करोड़ से भी कम है। इनमें प्रतिमा भौमिक एकलौती ऐसी मंत्री है जिनकी संपत्ति 10 लाख से कम है, उन्होंने अपने नामांकन में 6 लाख की संपत्ति का उल्लेख किया है। 

अन्य खबरें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|