कुलदीप राघव सहित 6 लेखक प्रताप नारायण मिश्र सम्मान से नवाजे गए

 
कुलदीप राघव सहित 6 लेखक प्रताप नारायण मिश्र सम्मान से नवाजे गए कुलदीप राघव सहित 6 लेखक प्रताप नारायण मिश्र सम्मान से नवाजे गएलखनऊ, 26 दिसंबर (आईएएनएस)। भाऊराव देवरस न्यास की ओर से शनिवार को छह युवा साहित्यकारों को पंडित प्रताप नारायण मिश्र युवा साहित्यकार सम्मान से नवाजा गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उत्तर प्रदेश सरकार में विधि एवं न्याय मंत्री बृजेश पाठक और कार्यक्रम अध्यक्ष उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान के अध्यक्ष प्रो. सदानंद गुप्त रहे।

इस दौरान यूपी के कानून मंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा, जब मैं पीजीआई के पास से गुजरता हूं तो वहां दुखी लोगों की लाइन लगी रहती है। न्यास उन लोगों की मदद करता है। सेवा का अद्भुत प्रकल्प है। साहित्यकार सम्मान जैसे इस तरह के आयोजनों से साहित्य में आने की प्रेरणा मिलेगी। लेखन जारी रहेगा। हम पढ़ना छोड़ देंगे तो भूलने की बीमारी होगी। हमें पढ़ने के लिए साहित्य चाहिए। साहित्य के बिना हमारा जीवन नहीं है।

बीते 26 सालों से प्रदान किए जा रहे पंडित प्रताप नारायण मिश्र युवा साहित्यकार सम्मान के लिए इस बार कथा साहित्य श्रेणी में आईलवयू जैसी लोकप्रिय और चर्चित पुस्तक के लेखक कुलदीप सिंह राघव को चुना गया।

चयन समिति के संयोजक डॉ. विजय कर्ण ने बताया कि इस साल कथा साहित्य श्रेणी में कुलदीप सिंह राघव, काव्य विधा में अतुल वाजपेई, पत्रकारिता विधा में डॉ. सौरभ मालवीय, बाल साहित्य विधा में श्याम कृष्ण सक्सेना, संस्कृत में ऋषिराज जानी और भोजपुरी में अम्बरीश राय को पुरस्कृत किया गया है। सभी साहित्यकारों को पुरस्कार स्वरूप दस हजार की धनराशि, अंगवस्त्र, सरस्वती प्रतिमा और पं. प्रताप नारायण मिश्र रचित साहित्य प्रदान किया गया।

कार्यक्रम के दौरान लेखक कुलदीप राघव ने अपने उपन्यास आईलवयू पर बात करते हुए बताया कि यह एक ऐसी प्रेम कहानी है जो समाज की सोच, प्रेम एवं विवाह में उम्र के बंधनों पर चोट करता है। यह एक ऐसे शख्स की कहानी है जिसे खुद से 5 साल बड़ी महिला से प्रेम हो जाता है। यह महिला एक बेटी की मां है और तलाकशुदा है। इस उपन्यास को खास पसंद किया गया है।

बता दें कि कुलदीप राघव युवाओं के बीच काफी लोकप्रिय हैं। वह नरेंद्र मोदी- एक शोध एवं इश्क मुबारक (उपन्यास) जैसी पुस्तकें लिख चुके हैं। इनकी पुस्तकें अमेजन बेस्ट सेलर हैं। इससे पहले उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार की संस्था हिंदुस्तानी अकादमी की ओर से युवा सम्मान के लिए चुना गया था। जल्द ही यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उन्हें सम्मानित करेंगे। कुलदीप 100 इंस्पारिंग ऑथर्स ऑफ इंडिया अवॉर्ड से भी सम्मानित हो चुके हैं। 28 साल के कुलदीप राघव मूलरूप से खुर्जा (बुलंदशहर) के रहने वाले हैं।

--आईएएनएस

वीकेटी/एसजीके

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|

From around the web