लोगों को बाथरूम में दिल का दौरा क्यों पड़ता हैं? Why do people have heart attacks in bathrooms? 

आप में से कई लोगों ने इस बात पर गौर किया होगा कि ज्यादातर लोग जिनका दिल का दौरा पड़ने से मौत होती है कि यह बाथरूम में होता है। लेकिन क्या इसके पीछे कोई खास वजह है?
 
लोगों को बाथरूम में दिल का दौरा क्यों पड़ता हैं? Why do people have heart attacks in bathrooms?

आजकल लोगों में दिल का दौरा पड़ने की समस्या बहुत बढ़ गई हैं। हर दूसरे व्यक्ति को दिल का दौरा पड़ता है। ऐसे में कुछ लोगों की मौत हो जाती है वहीं कुछ लोगों को समय पर चिकित्सा मिलने पर ठीक किया जा सकता है। लेकिन अक्सर दिल का दौरा पड़ने पर लोगों को बचाना बहुत ही मुश्किल हो जाता है क्योंकि उन्हें इस बात का आभास नहीं होता। डॉक्टर के पास ले जाने तक समय खत्म हो जाता है और उनकी मृत्यु हो जाती है। Heart attack ज़्यादातर तब होता है जब दिल में खून का प्रवाह बंद हो जाता है ऐसे में दिल के आसपास fat, cholesterol जैसी चीजें जमा हो जाती है जिसके वजह से रक्त का प्रवाह धीमा हो जाता है और धीरे धीरे यह पूरी गति को धीमा कर देता है। ऐसे में किसी भी क्षण अचानक से दिल का दौरा पड़ने की संभावना होती है। लेकिन आप में से कई लोगों ने इस बात पर गौर किया होगा कि ज्यादातर लोग जिनका दिल का दौरा पड़ने से मौत होती है कि यह बाथरूम में होता है। लेकिन क्या इसके पीछे कोई खास वजह है? उससे पहले आइए बात करते हैं दिल का दौरा पड़ने की कुछ लक्षणों (symptoms) पर। 

Symptoms of heart attack in Hindi/ heart attack के लक्षण

  • सीने में दबाव, जकड़न या दर्द (Pressure, tightness or pain in chest)
  • पाचन में समस्या (indigestion)
  • दिल में जलन (heartburn)
  • सांस की तकलीफ (shortness of breath)
  • पसीना आना (sweating)
  • थकान (fatigue)
ऐसे लक्षणों को देखने पर तुरंत अपने डॉक्टर के पास जाए। ज़रा भी देरी ना करें क्योंकि थोड़ी सी भी देरी आपके सेहत के लिए जानलेवा हो सकती है। कभी भी इन लक्षणों को नजरअंदाज ना करें। 
bathroom mei heart attack kyun aata hai?

Risk factors of heart attack/ heart attack आने का जोखिम ज़्यादा कब होता है?

  • ज्यादातर 40 या उससे ज्यादा की उम्र के लोगों को जल्दी दिल का दौरा पड़ता है। उम्र के साथ उनकी सेहत कमजोर पड़ने लगती है जिससे आसानी से कोई भी बीमारी हो सकती हैं।
  • नियमित रूप से सिगरेट और तंबाकू का सेवन करने वाले लोगों में हार्ट अटैक आने की संभावना ज्यादा होती है। इतने ज्यादा मात्रा में तंबाकू का सेवन करने से उनका दिल कमजोर पड़ जाता है जिससे किसी भी वक्त दिल का दौरा पड़ने की संभावना रहती है।
  • ज़्यादा वजन होना हार्ड अटैक को बढ़ावा दे सकता है। शरीर में जरूरत से ज्यादा वजन होने से रक्त में cholesterol की मात्रा बढ़ जाती है। साथ ही रक्तचाप भी हो सकता है ऐसे में किसी भी क्षण दिल का दौरा पड़ सकता है।
  • इन सब के अलावा और भी कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हैं जैसे कि diabetes, cholesterol, depression, drug use या फिर अगर परिवार में किसी को ऐसी समस्या है तब भी होने की संभावना होती है।

सबसे ज्यादा हार्ट अटैक बाथरूम में क्यों आता है?

जैसा कि हमने पहले भी कहा था कि सबसे ज्यादा हार्टअटैक लोगों को बाथरूम में रहते वक्त ही आया है। ऐसे कई मामले भी सामने आए हैं जहां नहाते वक्त या बाथरूम में रहते वक्त लोगों को दिल का दौरा पड़ा और वहीं पर गिर पड़े। लेकिन इसके पीछे क्या वजह हो सकती है? दिल का दौरा खून के बहाव से संबंधित है। ऐसे में जब हम टॉयलेट सीट पर बैठते हैं और दबाव डालते हैं तो इसका असर खून के संचार पर पड़ता है जिससे दिल का दौरा पड़ सकता है।

इसके अलावा नहाते वक्त सीधे सिर पर पानी डालने से भी दिल का दौरा पड़ सकता है क्योंकि सीधे-सीधे सिर पर पानी डालने से इसका असर रक्त परिसंचरण पर पड़ता है जिसके कारण व्यक्ति की धड़कन अचानक रुक सकती है। इसीलिए नहाने से पहले अपने पैरों में पानी डाले। उसके बाद ही सिर पर पानी डालें। ऐसा करने से हमारे शरीर को यह संकेत मिल जाएगा कि हम अभी नहाने वाले हैं।

अन्य खबरें:

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|