What to do after a snake bite? सांप के काटने के बाद क्या करना चाहिए? 

सांप के काटने के बाद क्या करना चाहिए? हम यहां कुछ उपाय बताएंगे जिसके मदद से आपके सामने किसी की इंसान को अगर सांप ने काटा होगा तो आप उनकी मदद कर पाएंगे।
 
What to do after a snake bite? सांप के काटने के बाद क्या करना चाहिए?

जानवरों द्वारा इंसानों की जान को कई तरह खतरे हो सकते हैं। जंगली जानवरों द्वारा हमला करने से लेकर ज़हरिलें सांपों के काटने तक। कई तरह की चीजें इंसान के लिए जानलेवा हो सकता हैं। सांपो द्वारा काटने के बाद शरीर में आसानी से जहर फैल जाता है जिससे इंसान की जान भी जा सकती है। पीड़ित को सही चिकित्सा मिलने पर उन्हें बचाया भी जा सकता है। ऐसे में हम यहां कुछ उपाय बताएंगे जिसके मदद से आपके सामने किसी की इंसान को अगर सांप ने काटा होगा तो आप उनकी मदद कर पाएंगे।

सांप काटने पर क्या करना चाहिए? 

  • हमने अक्सर फिल्मों में देखा होगा कि सांप के जहर को शरीर से निकालने के लिए लोग उसे चूस कर बाहर निकालते हैं। हालांकि यह करना बिल्कुल भी सही तरीका नहीं है। ऐसा करने वाले की जान को भी खतरा बन सकता है क्योंकि उसके शरीर में जहर की मात्रा फैल सकती है तो ऐसा बिल्कुल ना करें और मरीज को डॉक्टर की के पास पहुंचाए।
  • इस बात को अच्छे से जान लें कि हर सांप ज़हरीला नहीं होता है। कई सांप इंसानों के घरों के आसपास पाए जाने वाले सांप होते हैं जिसमें कोई भी जहर नहीं होता है और उनके काटने से कोई भी नुकसान नहीं होता है। ऐसे में आपको जान का खतरा नहीं होता है और केवल प्राथमिक चिकित्सा ही काफी होती हैं। 
  • जिस व्यक्ति को सांप ने काट लिया हो उसे जितना जल्दी हो सके सांप से दूर ले जाए। ऐसे में सांप के नजदीक रहने से उसे घबराहट महसूस हो सकती है जिससे उसके बेहोश होने की संभावना हो सकती है।
  • सांप के काटने की जगह पर अगर व्यक्ति ने कोई गहना पहना हुआ है तो उसे तुरंत उतार दे। साथ ही व्यक्ति के जूतों को भी उतार दे। जरूरत ना पड़ने पर कपड़े ना उतारें।
  • सांप द्वारा काटी गई जगह पर तुरंत कोई कपड़ा या पट्टी बांध ले। ऐसा करने से जहर का फैलने को आप रोक सकते हैं और इससे जान का खतरा कम हो सकता है।
  • घाव पर पट्टी लगाने के बाद उसमें बिलकुल भी हाथ ना लगाएं। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें मरीज बिल्कुल भी हिले डुले ना और सही तरीके से उसे डॉक्टर के पास पहुंचाया जाए।
  • सांप द्वारा काटे गए मरीज को बिल्कुल भी उत्तेजित होने ना दें। उनको जितना हो सके उतना शांत रखने की कोशिश करें। उनकी उत्तेजना से रक्तचाप पर असर पड़ेगा और यह ज़हर को फैलने में और भी मदद करेगा।
  • काटे गए व्यक्ति को बिल्कुल भी बेहोश ना होने दे। उनसे बातें करते रहे और उन्हें होश में रखें।
  • अगली बार अगर आपके सामने ऐसा कोई हादसा होता है तो इन बातों को ध्यान रखकर रखते हुए पीड़ित की जितनी ज्यादा हो सके उतनी मदद करने के लिए आगे बढ़े।
अन्य खबरें:

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|