स्वास्थ्य

Uric Acid in Hindi: जानिए यूरिक एसिड क्या है? | Home Remedies for High Uric Acid

Ankit Singh
8 Nov 2021 8:10 AM GMT
Uric Acid in Hindi: जानिए यूरिक एसिड क्या है? | Home Remedies for High Uric Acid
x
Uric Acid in Hindi: आपने यूरिक एसिड के बारे में तो सुना ही होगा, लेकिन क्या आप जानते है कि Uric Acid Kya Hai? (What is Uric Acid in Hindi) तो यहां जानिए Uric Acid Kyo Badhta Hai? इसके लक्षण (Symptoms of Uric Acid in Hindi) और कम करने के उपाय (Home remedies for Uric Acid in Hindi) क्या है?

Uric Acid in Hindi: यूरिक एसिड के बारे में अपने भी सुना ही होगा। यह समस्या इस समय आम होती जा रही है। यूरिक एसिड (Uric Acid) हमारे शरीर का वेस्ट प्रोडक्ट होता है, जो किडनी (Kidney) के द्वारा बाहर फेंका जाता है। लेकिन किसी कारणवश जब किडनी का फंक्शन सामान्य रूप से कार्य नहीं करता तो Uric Acid उसे शरीर से बाहर नहीं फेंक पाती, इसलिए यह शरीर में ही जमने लगता है। Uric Acid के बढ़ने के कारण गाउट (Gout)की तकलीफ होती है। जिस कारण जोड़ो में दर्द होने लगता है।

असल में Uric Acid उन सब चीजों से बनता है जो हम खाते हैं। इसमें से Uric Acid का ज्यादातर हिस्सा किडनियों के जरिए फिल्टर हो जाता है और मूत्र मार्ग से मूत्र के जरिए शरीर से बाहर निकल जाता है। लेकिन अगर Uric Acid शरीर में ज्यादा बन रहा हो या किडनी फिल्टर नहीं कर पाती है। फिर यही से समस्या होनी शुरू हो जाती है। रक्त में बहुत अधिक यूरिक एसिड बढ़ने को चिकित्सीय भाषा में हाइपरयूरिसीमिया (Hyperuricemia) कहा जाता है।

यूरिक एसिड (Uric Acid) का स्तर बढ़ने से कई बीमारियां हो सकती हैं, जैसे गाउट (आर्थराइटिस का एक दर्दनाक रूप)। यह समस्या अन्य स्वास्थ्य स्थितियों जैसे हृदय रोग, शुगर और किडनी रोग से भी सम्बंधित है। इसलिए समय रहते यह जान लेना जरूरी है कि Uric Acid Kyo Badhta Hai? तो आज के इस लेख में हम जनेंगे कि Uric Acid Kya Hai? (What is Uric Acid in Hindi) इसके लक्षण (Symptoms of Uric Acid in Hindi) और कम करने के उपाय (Home remedies for Uric Acid in Hindi) क्या है? तो आइए जानते है Uric Acid in Hindi

Uric Acid Kya Hai? | What is Uric Acid in Hindi

यूरिक एसिड (Uric Acid) एक ऐसा केमिकल है जो शरीर में तब बनता है जब शरीर प्यूरिन (Purine) नामक केमिकल का संसाधन करता है यानि उसको छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ता है। प्यूरिन केमिकल हमारे शरीर में भी बनते है और कुछ खाद्य पदार्थों में भी पाए जाते है।

इस क्रिया में बना हुआ यूरिक एसिड (Uric Acid) रक्त में मिल जाता है और किडनी तक पहुंच जाता है। किडनी रक्त से इस केमिकल को छान लेता है और पेशाब द्वारा शरीर से बाहर निकाल देते है। लेकिन जब शरीर अधिक से ज़्यादा Uric Acid बनाने लगता है या फिर किडनी सही मात्रा में इस केमिकल को बाहर नहीं निकाल पाती है तो रक्त में इसकी मात्रा बढ़ती जाती है जिससे शरीर में फिर परेशानियां पैदा हो सकती है। इस स्तिथि को Hyperuricemia कहते है।

हाइपरयूरिसीमिया (Uric Acid) के जोखिम | Risk of Hyperuricemia

Hyperuricemia के कारण यूरिक एसिड (Uric Acid) के क्रिस्टल बन सकते हैं। ये क्रिस्टल जोड़ों में जमा हो सकते हैं और गाउट नामक दर्दनाक प्रकार के गठिया का निर्माण कर सकते हैं।

Uric Acid के क्रिस्टल किडनी को भी व्यवस्थित कर सकते हैं और किडनी स्टोन बना सकते हैं।

उच्च यूरिक एसिड (Uric Acid) का स्तर हृदय रोग, मधुमेह जैसी स्वास्थ्य स्थितियों से भी जुड़ा होता है।

Causes of Uric Acid in Hindi | यूरिक एसिड बढ़ने का कारण

> आहार में प्यूरिन ज्यादा होने की वजह से भी यूरिक एसिड ज्यादा बनता

> बहुत अधिक शराब पीना से भी Uric Acid बढ़ता है।

> शरीर में आयरन की मात्रा ज्यादा होने से भी Uric Acid बढ़ जाता है।

> मोटापे के कारण भी Uric Acid बढ़ जाता है।

> Uric Acid का बढ़ना आनुवंशिकी भी हो सकता है।

> थायरॉइड ग्रंथि (Thyroid Gland) का असामान्य कार्य भी Uric Acid बढ़ने की वजह है।

> जो लोग कम पानी पीते है उनमें भी यह समस्या पाई जाती है।

> विटामिन बी-3 की कमी के कारण भी Uric Acid बढ़ता है।

Symptoms of Uric acid in hindi | यूरिक एसिड के लक्षण

  • जोड़ों में तेज दर्द होना
  • जोड़ों में अकड़न जैसा महसूस होना
  • पेशाब करते वक्त ब्लड का आना
  • मांसपेशी में दर्द होना
  • बार-बार मूत्र मार्ग में संक्रमण होना
  • जोड़ों के आसपास सूजन होना
  • पेशाब करने में कठिनाई महसूस होना
  • एक स्थान पर देर तक बैठने पर उठने में पैरों की एड़ियों में सहन न होने वाले दर्द की अनुभूति होना
  • जोड़ों में लालिमा व सूजन उत्पन्न होना
  • अत्यधिक प्यास लगना

Home remedies for Uric Acid in Hindi | यूरिक एसिड कम करने के उपाय

प्यूरीन कम खाएं

चूंकि Uric Acid प्यूरीन के टूटने का एक अपशिष्ट पदार्थ है, इसलिए प्यूरीन से भरपूर खाद्य पदार्थों के सेवन को सीमित करने से शरीर में Uric Acid के स्तर को कम करने में मदद मिल सकता है। मटन, मशरूम, मछली और टर्की जैसे खाद्य पदार्थ खाने से बचना चाहिए।

अपने आहार में खट्टे फलों को शामिल करें

संतरे और नींबू जैसे फल विटामिन सी और साइट्रिक एसिड के समृद्ध स्रोत हैं। इन खाद्य पदार्थों को शामिल करने से आपको शरीर में स्वस्थ यूरिक एसिड के स्तर को बनाए रखने में मदद मिल सकती है, क्योंकि ये वेस्ट प्रोडक्ट को आसानी से शरीर से बाहर निकाल सकते हैं।

शराब और मीठा पेय पदार्थ कम करें

शराब आपके रक्त में प्यूरीन को बढ़ाती है, जिसके परिणामस्वरूप अधिक Uric Acid का उत्पादन होता है। बीयर में सबसे ज्यादा प्यूरीन होता है, जबकि वाइन में सबसे कम। ठंडे पेय जिनमें चीनी या उच्च फ्रुक्टोज कॉर्न सिरप होता है, वे भी Uric Acid के स्तर को बढ़ाते है।

उच्च फाइबर खाद्य पदार्थ का सेवन करें

रक्त में Uric Acid के स्तर को नियंत्रित करने के लिए अपने आहार में उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थों को शामिल करें। फाइबर फूड्स आपके रक्त में अतिरिक्त यूरिक एसिड को अवशोषित करता है और इसे आपके शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है। केला और अनाज जैसे ज्वार और बाजरा घुलनशील फाइबर के अच्छे स्रोत हैं।

विटामिन सी सप्लीमेंट ट्राई करें

विटामिन सी सप्लीमेंट लेने से Uric Acid का स्तर कम हो सकता है। शोध ने यह साबित नहीं किया है कि विटामिन सी गाउट को रोकता है, हालांकि ल केवल यह यूरिक एसिड के स्तर को कम करता है।

एप्पल साइडर विनेगर

एक गिलास पानी में एक चम्मच ऑर्गेनिक एप्पल साइडर विनेगर मिलाएं और इसे रोजाना पिएं। सेब का सिरका एक डिटॉक्सिफायर की तरह काम करता है। इसमें मैलिक एसिड होता है जो शरीर से यूरिक एसिड को तोड़ने और निकालने में मदद करता है।

Tips to Reduce Uric Acid | यूरिक एसिड कम करने के उपाय

  • कॉफी को अपने आहार में शामिल करें
  • ग्रीन टी पिएं
  • स्वस्थ शरीर का वजन बनाए रखें
  • चेरी का सेवन करें
  • सेब और केले को अपने भोजन में शामिल करें
  • अतिरिक्त यूरिक एसिड को बाहर निकालने के लिए खूब पानी पिएं

Conclusion -

आज की इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि Uric Acid Kya Hai? (What is Uric Acid in Hindi) और यूरिक एसिड कम करने के उपाय (Home remedies for Uric Acid in Hindi) क्या है। इसके आलावा हमने आपको Uric Acid in Hindi के बारे में कई तरह की जानकारियां दी। हमारी इस पोस्ट के बारे में आपकी क्या राय है। हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं और इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

ये भी पढें-

Gallbladder in Hindi : Gallbladder kya hai?, जानिए गॉलब्लैडर (पित्ताशय) का मुख्य काम?

Mucormycosis in Hindi : Black Fungus kya hai? जानिए Black Fungus Symptoms in Hindi

Home Remedies for Sinus in Hindi: साइनस से हैं परेशान, तो ये घरेलू उपचार आपको देंगे राहत

Lip Care Tips in Hindi: आपके होंठ फटने का कारण कहीं ये आदत तो नहीं? जानिए कैसे रखें होंठों का खयाल

Thyroid Eye Disease kya hai? जानें-इसके कारण, लक्षण और बचाव का तरीका

Next Story