स्वास्थ्य

Kidney Stone in Hindi : गुर्दे की पथरी का इलाज, कारण और लक्षण | Home Remedies for Kidney Stone

Ankit Singh
29 Nov 2021 7:30 AM GMT
Kidney Stone in Hindi : गुर्दे की पथरी का इलाज, कारण और लक्षण | Home Remedies for Kidney Stone
x
Kidney Stone in Hindi: गुर्दे की पथरी का रोग इन दिनों आम हो गया है, अगर आप भी इस इस समस्या से ग्रस्त है तो यहां जानिए Kidney Stone Kya Hai? (What is Kidney Stone in Hindi) इस लेख में आप विस्तार से जनेंगे कि किडनी स्टोन क्यों होता है? (Causes of Kidney Stone in Hindi) और इसका उपचार (Treatments of Kidney stone in Hindi) क्या है?

Kidney Stone in Hindi: गुर्दे की पथरी यानी किडनी स्टोन (Kidney Stone) इन दिनों आम बीमारी हो गई है। भारत में प्रति वर्ष 1 मिलियन से अधिक मामले Kidney Stone के सामने आ रहे हैं। गुर्दे की पथरी या किडनी स्टोन क्रिस्टल से बने ठोस द्रव्यमान होते हैं। हमारे मूत्र (Urine) में कई घुले हुए खनिज और लवण होते हैं। जब मूत्र में इन खनिजों और लवणों का उच्च स्तर हो जाता है तो यह पथरी (Stone) बन जाता है। इसलिए इससे बचने के लिए सावधानी बहुत जरूरी है। तो आइए जानते है Kidney Stone Kya Hai? (What is Kidney Stone in Hindi) इसके लक्षण (Kidney Stone symptoms in Hindi) और उपचार (Treatment of Kidney Stone in Hindi) क्या है? तो आइए विस्तार से जानते है Kidney Stone in Hindi

Kidney Stone Kya Hai? | What is Kidney Stone in Hindi

शरीर में पथरी या किडनी स्टोन (Kidney Stone) एक बीमारी होती है। इस बीमारी में शरीर के कुछ अंगो में मिनरल और सॉल्ट जमकर पत्थर का रूप ले लेते है। इस पत्थर के रूप को पथरी (Stone) कहते है। इसका आकर छोटा दाना या गोल्फ गेंद की तरह बड़ा होता है। Kidney Stone शरीर के चार स्थान में हो सकती है। जैसे- किडनी, पेशाब की नली, पेशाब की थैली, पित्त की थैली।

Types of Kidney Stone in Hindi | गुर्दे की पथरी के प्रकार

मुखयतः किडनी स्टोन (Kidney Stone) के चार प्रकार है।

Calcium Stone (कैल्शियम स्टोन) - ज्यादातर किडनी स्टोन (Kidney Stone) कैल्शियम स्टोन होते हैं, जो आमतौर पर कैल्शियम ऑक्सालेट के रूप में होते हैं। जब मूत्र में साइट्रेट का स्तर कम होता है और कैल्शियम का उच्च स्तर हो जाता है तो यह पथरी का रूप लेने लगता है। जिन खाद्य पदार्थ में कम कैल्शियम होता है उन्हें खाकर स्टोन के विकास के जोखिम को कम किया जा सकता है।

Uric Acid Stone (यूरिक एसिड स्टोन) यूरिक एसिड स्टोन तब बनता है जब आपके पेशाब में बहुत अधिक एसिड हो। कुछ कारक हैं जो इस प्रकार के गुर्दे की पथरी के जोखिम को बढ़ा सकते हैं, जैसे कि

कम मूत्र उत्पादन

गाउट

शराब का सेवन बढ़ा देना

अधिक प्रोटीन आहार का सेवन जैसे मांस, अंडे और मछली

Struvite Stone (स्ट्रुवाइट स्टोन) - यह पथरी ज्यादातर महिलाओं को होती है। जो महिलाएं UTI से पीड़ित होती है उन्हें स्ट्रुवाइट स्टोन का खतरा अधिक होता है। ये पथरी बड़ी हो सकती है और पेशाब में रुकावट पैदा कर सकती है।

Cysteine (सिस्टीन) - ये पथरी उन लोगों में होती है जिन्हें आनुवंशिक विकार होता है, जिसके कारण गुर्दे से मूत्र में सिस्टीन का रिसाव होता है। यह बहुत कम लोगों को होता है।


Causes of Kidney Stone in Hindi | किडनी स्टोन के कारण क्या है?

  • गुर्दे की पथरी के लिए सबसे बड़ा कारक पर्याप्त तरल पदार्थ नहीं पीना है
  • उच्च स्तर के प्रोटीन, नमक, या ग्लूकोज वाले आहार का अधिक सेवन
  • आहार में बहुत अधिक नमक कैल्शियम स्टोन के का बड़ा कारण
  • मोटापा
  • हाइपर थाइरोइड के रोगियों में अधिक खतरा
  • अनुवांशिक होने के कारण व्यक्ति को अधिक पथरी की समस्या होती है।
  • कम पानी पीने की वजह से
  • यूरिन या कैल्शियम से संबंधित दवाइयों के अधिक सेवन से

Symptoms Of Kidney Stone in Hindi | किडनी स्टोन के लक्षण

  • पेट या पीठ के हिस्से में दर्द महसूस हो सकता है
  • मूत्र में रक्त
  • मतली और उल्टी
  • मूत्र में रक्त
  • पेशाब करते समय दर्द
  • ठंड लगना और बुखार
  • असामान्य मूत्र रंग
  • उसंधी दर्द
  • पेशाब से अधिक बदबू आना
  • बार-बार पेशाब करने लगना
  • पुरुषों को लिंग के सिरे पर दर्द महसूस हो सकता है
  • पसीना आना

Treatments of Kidney stone in Hindi | गुर्दे की पथरी का इलाज

> डॉक्टर गुर्दे की पथरी के निदान के लिए आपके चिकित्सा इतिहास, एक शारीरिक परीक्षा और प्रयोगशाला और इमेजिंग परीक्षणों का उपयोग करते हैं।

> सामान्य गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) जिसके लक्षण पैदा नहीं होते अक्सर स्वास्थ्य परीक्षण के दौरान एक्स-रे लेने पर पाए जाते हैं।

> किडनी स्टोन का इलाज डॉक्टर दो तरह से करते है। पहले मरीज को एंटीबायोटिक दवाएं देते है। इन एंटीबायोटिक दवाओं में फास्फोरस घोल, ड्यूरेटिक दवाये,सोडियम बाइकार्बोनेट, एलोप्यूरीनाल आदि दवाये शामिल है।

> यदि व्यक्ति को बड़ी पथरी है तो डॉक्टर उसे तोड़ने के लिए लिथोट्रिप्सी का प्रयोग करते है।

> परकतनेओस नेफ्रोलिथोटॉमी का उपयोग दर्द को नियंत्रण करने के लिए किया जाता है।

> यदि मूत्र वाहिनी मूत्राशय में फस जाती है तो डॉक्टर युरेट्रोस्कोप उपकरण का उपयोग करते है।

Prevention for kidney Stone in Hindi | किडनी स्टोन से बचने के उपाय

  • Kidney stone से बचने का सबसे अच्छा बचाव है खूब सारा पानी पीना।
  • अपने आहार में ज्यादा नमक का प्रयोग न करें।
  • पथरी बनाने वाले खाद्य पदार्थों से बचें। जैसे- चुकंदर, चॉकलेट, पालक, चाय, गेहूं की भूसी, सोया उत्पाद, शकरकंद, ऑक्सालेट से भरपूर होते हैं, जो गुर्दे की पथरी को बढ़ाने का काम कर सकते हैं।
  • सोडियम की अधिक मात्रा न लें। जंक फूड, डिब्बा बंद खाना और नमक के बहुत अधिक सेवन से बचें।
  • टमाटर के बीज, बैंगन के बीज, कच्चा चावल, उड़द और चने का अधिक सेवन करने से स्टोन की समस्या बढ़ जाती है।
  • शरीर में यूरिक एसिड को बढ़ने न दें इसलिये मांसाहार का सेवन बिल्कुल भी न करें।
  • कोल्ड ड्रिंक का सेवन न करें, इसमें मौजूद फॉस्फोरिक एसिड स्टोन के खतरे को और बढ़ाता है।

Home Remedies for Kidney Stone in Hindi | गुर्दे की पथरी का घरेलू उपचार

  • आम के ताज़े पत्ते छाया में सुखाकर बारीक़ पीस लें, हर रोज़ 8 ग्राम बासी पानी के साथ सुबह खाएं।
  • सेब का रस पीते रहने से पथरी बनना बंद हो जाती है और पथरी गलकर यूरिन द्वारा बाहर आ जाती है।
  • आंवले का चूर्ण मूली के साथ खाने से मूत्राशय की पथरी में लाभ होता है।
  • जामुन की गुठली का चूर्ण दही के साथ खाने से पथरी आसानी से गल जाती है।
  • नारियल का पानी पीते रहने से पथरी के दर्द से राहत मिलती है।
  • अखरोट को साबूत कूटकर (छिलके और गिरी सहित) एक-एक चम्मच सुबह-शाम ठंडे पानी से लेने से पथरी ठीक हो जाती है।
  • प्याज़ के रस में शक्कर डालकर शर्बत बनाकर दस-पंद्रह दिनों तक सेवन कीजिए। पथरी गलकर बाहर निकल जाएगी।
  • गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) से मुक्ति पाने के लिए काजू को दूध के साथ पीसकर उसे दिन में तीन-चार बार सेवन करें, अवश्य लाभ होगा।
  • पथरी कैसी भी हो, नियमित रूप से करेले का रस छाछ के साथ पीएं। इस प्रयोग को तब तक जारी रखें, जब तक कि पथरी गलकर बाहर न निकल जाए।

Conclusion-

आज की इस लेख में हमने आपको बताया कि Kidney Stone Kya Hai? (What is Kidney Stone in Hindi) और इसके लक्षण (Symptoms of Kidney Stone in Hindi) और बचाव (Prevention of Kidney Stone in Hindi) क्या है। इसके आलावा हमने आपको Kidney Stone in Hindi के बारे में कई तरह की जानकारियां दी। हमारी इस पोस्ट के बारे में आपकी क्या राय है। हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं और इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

ये भी पढें-

Gallbladder in Hindi : Gallbladder kya hai?, जानिए गॉलब्लैडर (पित्ताशय) का मुख्य काम?

Mucormycosis in Hindi : Black Fungus kya hai? जानिए Black Fungus Symptoms in Hindi

Depression in Hindi : Depression Kya Hai? | जानिए डिप्रेशन के लक्षण, इलाज और उपाय

Uric Acid Ko Kaise Kare Control? : इन घरेलू उपायों से बढ़े हुए यूरिक एसिड को करें कंट्रोल

Thyroid Eye Disease kya hai? जानें-इसके कारण, लक्षण और बचाव का तरीका

Next Story
Share it