स्वास्थ्य

ESR Test in Hindi | ESR Test Kya hota hai? | विस्तार से जानें ईएसआर टेस्ट क्या है और क्यों करवाते है?

Ankit Singh
13 Oct 2021 10:13 AM GMT
ESR Test in Hindi | ESR Test Kya hota hai? | विस्तार से जानें ईएसआर टेस्ट क्या है और क्यों करवाते है?
x
ESR Test in Hindi: इस लेख में जानें ESR test Kya hota hai? (What is ESR Test in Hindi) और ईएसआर टेस्ट क्यों करवाया जाता है। विस्तार से ये भी जाने कि ईएसआर ESR टेस्ट की नार्मल रेंज कितनी होनी चाहिए? (ESR Test Normal Range) और ESR Result कैसे समझे?

ESR Test in Hindi: ESR एक प्रकार का Blood Test होता है, जो लाल रक्त कोशिकाओं (RCB) के लिए मुख्य रूपमे।किया जाता है। ESR Test ये यह पता चल जाता है कि व्यक्ति के खून में किसी प्रकार का संक्रमण तो नहीं। यह बहुत ही महत्वपूर्ण टेस्ट है जिससे डॉक्टरों द्वारा जांच के लिए कहा जाता है।

आजकल ESR Test एक कॉमन टेस्ट माना जाता है, क्योंकि यह टेस्ट लगभग प्रत्येक मरीजों को लिखा जाता है और यह टेस्ट विश्व भर में सबसे अधिक किया जाता है। तो अगर आपको भी जानना चाहते है कि ESR test Kya hota hai? तो इस लेख को पूरा अंत पढें यहां हम आपको ईएसआर (ESR) टेस्ट की पूरी जानकारी हिंदी में बताएंगे। तो आइए जानते है ESR Test in Hindi

What is ESR Test in Hindi | ESR test Kya hota hai?

ESR test एक सामान्य रक्त जांच (Blood Test) है जिसमें लाल रक्त कोशिकाओं (RCB) की जांच की जाती है इस जांच के द्वारा पता लगाया जाता है कि आपके रक्त में कितने Sediment Rate हैं। अगर आपके शरीर में कहीं सूजन हुई है या संक्रमण का पता लगाया जाता है इससे यह पता लगाया जाता है कि आपके रक्त कोशिकाओं में संक्रमण दर कैसी है?

ESR test में मरीज के शरीर से रक्त को लिया जाता है और उस रक्त को टेस्ट ट्यूब में रखा जाता है कुछ समय बाद उस टेस्ट ट्यूब को जाता जाता है और देखा जाता है कि कितना रक्त कोशिकाएं नीचे जम गई है अगर रक्त कोशिकाएं ज्यादा जम गई हैं। तो व्यक्ति के रक्त में संक्रमण दर ज्यादा है और अगर रक्त कोशिकाएं कम जम रही है तो उस व्यक्ति के खून में संक्रमण कम है। इसी टेस्ट के माध्यम से है हम शरीर में हो रहे विभिन्न घाव और सूजन को ठीक कर सकते हैं डॉक्टर मरीज के घाव और सूजन की दवाई देने से पहले मरीज को ESR test को कराया जाता है ताकि वह मरीज के संक्रमण दर और रक्त में गंदगी का पता लगा सके इसके बाद ही वह मरीज को दवाई देते हैं।

ESR Full Form in Hindi

ESR Full Form - "Erythrocytes Sedimentation Rate" होता है।

ESR Ka Full Form In Hindi – "एरिथ्रोसाइट्स सेडीमेन्टेशन रेट" होता है।

ESR Test Normal Range | ESR टेस्ट की नार्मल रेंज कितनी होनी चाहिए?

  1. ESR Test in Hindi: ESR टेस्ट की नार्मल वैल्यू आपके उम्र और लिंग के आधार पर निर्धारित की जाती है, आगे आपको सारी जानकारी दी गई है, जानने के लिए नीचे पढें-
  2. नवजात शिशु में इसकी नॉर्मल रेंज 2mm/hr से कम होनी चाहिए।
  3. बड़े बच्चों में इसकी नॉर्मल रेंज 2 से 13mm/hr के बीच में होनी चाहिए।
  4. 50 वर्ष से कम उम्र वाले पुरुषों में ESR टेस्ट की नॉर्मल वैल्यू 15mm/hr से नीचे होती है।
  5. 50 वर्ष से अधिक उम्र वाले पुरुषों में इसकी नॉर्मल रेंज 20mm/hr से कम होती है।
  6. 50 वर्ष से कम उम्र वाली महिलाओं में इसकी नार्मल रेंज 20mm/hr से कम होती है।

Why does ESR rise? | ESR बढ़ने का कारण

> महिलाओं में मासिक धर्म और गर्भावस्था के दौरान इसका का लेवल थोड़ा बढ जाता है।

> यदि किसी व्यक्ति को खून की कमी (Anemia) हो तो इस स्थिति में इसका स्तर बढ़ सकता है।

> इसके अलावा ESR का स्तर इन्फेक्शन, ट्यूबरक्यूलोसिस, कॉरोना वायरस, गठिया, लिंफोमा, मल्टीपल मायलोमा, थायरॉइड रोग, हृदय रोग, लिवर रोग, ऑटोइम्यून डिजीज, और इन्फ्लेमेटरी डिजीज के कारण बढ सकता है।

> कॉरोना वायरस (Covid 19) के कारण भी ESR का लेवल बढ जाता है, क्योंकि कॉरोना वायरस आपके फेफड़ों को संक्रमित करके फेफड़ों में सूजन (Inflammation) पैदा करता है।

ESR लेवल कम होने के कारण

  • सिकल सेल एनीमिया
  • ल्यूकोसाइटोसिस
  • पोलिसिथिमिया
  • हाइपरविस्कॉसिटी
  • कंजेस्टिव हार्ट फेलियर

ESR blood test kab karwana chahiye | ESR Test कब करवाना चाहिए?

जब कभी शरीर में इस तरह की कोई तकलीफ बनी रहे-

  • गठिया का कोई प्रकार
  • बुखार
  • सिर दर्द
  • गर्दन या कंधे में दर्द
  • एनीमिया
  • पेल्विक में दर्द
  • भूख कम लगना
  • जोड़ों का अकड़ना
  • वजन का कम होना

ESR Test Price in India | ईएसआर टेस्ट की कीमत

इस टेस्ट की कीमत अलग अलग अस्पतालों द्वारा अलग-अलग निर्धारित की गई है। परंतु जो इसकी बेसिक कॉस्ट हैं ₹100 से लेकर ₹500 तक देनी होती है। अगर आपके पास BPL कार्ड है तो आप सरकारी हॉस्पिटल में जाकर इस टेस्ट को फ्री में करवा सकते हैं आपको पैसे देने की जरूरत बिल्कुल भी नहीं है।

ESR Rate बढ़ने से बचने के घरेलू उपाय

  • अगर आपका ESR लेवल बढ़ता है तो सबसे पहले यह पता लगाएं कि ESR लेवल क्यों बढ़ा है। इसके अलावा अपने जीवन शैली और खानपान की आदतों में सुधार लाएं।
  • ESR लेवल को बढने से रोकने के लिए आपको रोज कम से कम आधे घंटे व्यायाम करना चाहिए
  • ESR लेवल को कम करने के लिए आप नियमित योगाभ्यास करें।
  • ज्यादा तेल, मिर्च मसाले और मीठे खाद्य पदार्थों का सेवन न करें क्योंकि ये कोलेस्ट्रोल को को बढ़ाते हैं, इससे आपका ESR लेवल बढ़ सकता है।
  • ज्यादा पानी पियें और हरे पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें।
  • दूध में हल्दी मिलाकर पिएं, हल्दी में एंटी बायोटिक गुण पाए जाते हैं, जो बॉडी के इन्फेक्शन को दूर करके सूजन कम करते है।
  • अप नीम का जूस बनाकर भी पी सकते हैं। नीम शरीर के संक्रमण को दूर कर खून को साफ करती है।

Precautions for Increase ESR | बढ़े हुए ESR में क्या नहीं खाना चाहिए?

  • इसमें आपको बाहरी पैकिंग वाले खाद्य पदार्थ जैसे कि व्हाइट ब्रेड, व्हाइट पास्ता, चिप्स, क्रैकर्स और प्रोसेस्ड कार्ब्स (Carb's) नहीं खाने चाहिए।
  • ज़्यादा तली भुनी और मसालेदार चीजें जैसे कि टिक्की, बर्गर, और रेड मीट का भी सेवन नहीं करना चाहिए।
  • इसके अलावा कोल्ड ड्रिंक्स, सिगरेट और शराब भी नहीं लेना चाहिए यह सारी चीजें आपके शरीर में सूजन और कई गंभीर बीमारियां पैदा करती है।

Conclusion-

आज इस आर्टिकल में हमने आपको बताया कि ESR Test kya hota hai? और ESR क्यों करवाया जाता है? अगर आपको ESR Test in Hindi के बारे में कुछ और जानना है तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके भी हमसे पूछ सकते हैं।

ये भी पढ़ें-

Gallbladder in Hindi : Gallbladder kya hai?, जानिए गॉलब्लैडर (पित्ताशय) का मुख्य काम?

Cetirizine Tablet Uses in Hindi: सेट्रीज़ीन क्या है? जानिए Dosage and Side Effects of Cetirizine

Home Remedies for Sinus in Hindi: साइनस से हैं परेशान, तो ये घरेलू उपचार आपको देंगे राहत

Uric Acid Ko Kaise Kare Control? : इन घरेलू उपायों से बढ़े हुए यूरिक एसिड को करें कंट्रोल

Chia Seeds in hindi : शरीर के साथ दिमाग भी तंदरुस्त रखता है चिया सीड्स, जाने Chia Seeds Benefits

Next Story
Share it