स्वास्थ्य

Buckwheat in hindi: कुट्टू के आटे के क्या फायदे हैं? | Buckwheat Benefits and Side Effects

Ankit Singh
7 Oct 2021 10:05 AM GMT
Buckwheat in hindi: कुट्टू के आटे के क्या फायदे हैं? | Buckwheat Benefits and Side Effects
x
Buckwheat in hindi: आपने आज तक कई तरह के अनाज का सेवन किया होगा। लेकिन इनमें से कुट्टू (Kuttu) के आटे या Buckwheat का सेवन केवल व्रत के समय ही किया होगा। पर क्या आप जानते हैं कि कुट्टू के आटे के क्या फायदे हैं?(Benefits of Buckwheat in Hindi), अगर नहीं तो चलिए जानते हैं Buckwheat Benefits and Side Effects

Buckwheat in hindi: कुट्टू (Buckwheat) एक प्रकार का अनाज (Cereal) है, जिसे गेंहू (Wheat) का सबसे बढ़िया विकल्प माना जाता है। Kuttu के आटे को सुपर फूड की श्रेणी में रखा गया है, में बहुत से पोषक तत्‍व और औषधीय गुण होते हैं। Kuttu (Buckwheat) को आहार में शामिल करने से हृदय रोग, डायबिटीज, कैंसर, पाचन आदि समस्‍याओं से बचा जा सकता है।

कुट्टू के आटे (Buckwheat) का सेवन ज्यादातर व्रत में किया जाता है। कुट्टू के आटे का सेवन करना आपको न केवल ऊर्जा बल्कि स्‍वास्‍थ्‍य लाभ भी दिलाता है। इस लेख में हम आपको बताएंगे कि कुट्टू के आटे के क्या फायदे हैं? (Buckwheat Benefits and Side Effects in Hindi) तो आइए जानते है Buckwheat in hindi

What is Buckwheat in Hindi | कुट्टू (Kuttu) क्या होता है?

कुट्टू पौधे में लगने वाला एक फल का बीज होता है जिसका उपयोग आनाज की भांति किया जाता है। इसे अंग्रेजी में Buckwheat जबकि कई स्थानों पर इसे ऊगल व फाफर के नाम से जाना जाता है। कुट्टू (Buckwheat) की खेती 8,000 से अधिक वर्षों से की जाती रही है यही वजह है कि इसे प्राचीन अनाज (Ancient Grains) भी कहा जाता है।

कुट्टू (Buckwheat) का इस्तेमाल पीस कर आटे के रूप में, सोबा नूडल्स के रूप में, काशा के रूप में या भुना हुए चने के रूप में किया जाता है। Buckwheat क्विनोआ (Quinoa) की तरह ग्लूटेन फ्री होता है तो जिन लोगों को ग्लूटेन एलर्जी है उनके लिए Buckwheat बढ़िया चीज है। Buckwheat को सुपर ग्रेन भी कहा जाता है।

Nutrients of Buckwheat in Hindi | Buckwheat Nutrients

Buckwheat in hindi: कुट्टू के आटे (Buckwheat) में गेंहू व बाजरा के आटे के मुकाबले प्रोटीन, लाइसीन और आरजिनीन नामक अमाइनो एसिड्स अधिक मात्रा में पाए जाते हैं। इसके साथ ही कुट्टू के आटे में कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, मैग्निशियम, विटामिन-बी, प्रोटीन, जिंक, कॉपर, आयरन, फास्फोरस, फॉलेट, नियासिन, थायमिन, विटामिन के, विटामिन ई, विटामिन बी 6, विटामिन ए, पोटैशियम, सोडियम, मैंगनीज आदि तत्व भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

Buckwheat Benefits in Hindi | कुट्टू (Kuttu) के आटे के क्या फायदे हैं?

Buckwheat in hindi: कुट्टू (Kuttu) के आटे (Buckwheat) में पाए जाने वाले पोषक तत्व के आधार पर यहां Buckwheat के फायदे फायदे बताये गए है।

Buckwheat for Bones : हड्डी को करता है मजबूत

कुट्टू के आटे (Buckwheat) में उच्च मात्रा में प्रोटीन, आयरन और कैल्शियम पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत बनाने में सहायता करते हैं। Buckwheat के सेवन से आपकी हड्डियां मजबूत रहती है जिस वजह से वृद्धा अवस्था में हड्डियों में होने वाले दर्द से छुटकारा मिलता है। Kuttu का आटा हड्डियों को मजबूत बनाकर सही आकार प्रदान करता है। (और पढ़ें- आपकी हड्डियां हो रही हैं कमजोर, इन 5 संकेतों से जानें)

Buckwheat for Gallbladder Stone : पित्त की पथरी

पित्ताश्य में पित्त जमने के कारण पित्ताश्य में पथरी होती है। पित्ताश्य में होने वाली पथरी का इलाज के केवल आपरेशन ही होता है। यदि आप इस बीमारी से बचना चाहते हैं तो आप कुट्टू आटे का इस्तेमाल कर सकते हैं। कुट्टू आटे में अघुलनशील फाइबर पाया जाता है जो शरीर को पित्त में होने वाली पथरी को रोकने में मदद करता है। (और पढ़ें- Gallbladder in Hindi : Gallbladder kya hai?)

Buckwheat for Skin : त्वचा को प्रदान करता है पोषण

त्वचा को स्वस्थ्य रखने के लिए पौष्टिक आहार का सेवन बहुत हु जरूरी है। त्वचा को पोषण नहीं मिलता है तो झुर्रियां व झाइयां पड़ जाती हैं और त्वचा की प्राकृतिक चमक बदलने लगती है। त्वचा का ख्याल रखने के लिए आप कुट्टू आटे (Buckwheat) का इस्तेमाल कर सकते हैं। कुट्टू के आटे में विटामिन ई, विटामिन ए, प्रोटीन, मैग्नीशियम, पोटाशियम और एन्टीऑक्सडेंट जैसे तत्व पाए जाते हैं जो त्वचा निखारने का काम करते है। (और पढ़ें- What not to Eat in skin Infection)

Buckwheat for Weight Loss : मोटापा कम करें

वर्तमान में मोटापे का समस्या सबसे गंभीर समस्या बन चुकी है। मोटापा बढ़ने के कई कारण होते है लेकिन आप खानपान पर और दिनचार्य में परिवर्तन करके नियंत्रित कर सकते हैं। मोटापे को कम करने के लिए आपको कुट्टू आटे (Buckwheat) का सेवन करना चाहिए। Buckwheat में मुख्य रूप से फाइबर पाया जाता है जो मोटापा कम करने में मदद करता है। (और पढ़ें- Wajan kaise kam kare?)

Buckwheat for physical weakness : शारीरिक कमजोरी दूर करें

बढ़ती उम्र के साथ ही कई लोगों को शारिरिक कमजोरी होने लगती है। ऐसे लोगों में पोषक तत्व की कमी के कारण शारीरिक कमजोरी होने लगती है। ऐसे लोग खुद को दूसरों से कमजोर समझने लगते है। ऐसे में इन लोगों का कुट्टू के आटे (Buckwheat) का सेवन जरूर करना चाहिए। Buckwheat आवश्यक मात्रा में पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं जो शारीरिक कमजोरी को दूर करते है।

Buckwheat for Blood Pressure : ब्लड प्रेशर करें नियंत्रित

अगर आप हाई ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) की समस्या से पीड़ित हैं तो आप कुट्टू आटे (Buckwheat) का उपयोग करके ब्लड प्रेशर को नियंत्रित कर सकते हैं। दलअसल Buckwheat में मैग्‍नीशियम व अन्य ऐसे गुड़कारी तत्व पाए जाते हैं जो हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में महत्पूर्ण भूमिका अदा करते हैं। बड़ा हुआ ब्लड प्रेशर बहुत हानिकारक होता है इसलिए बीपी कंट्रोल करने बेहद आवश्यक है। (और पढ़ें- ब्लड प्रेशर को काबू रखने के लिए अपनाएं चंद घरेलू नुस्खे)

Buckwheat for Diabetes : मधुमेय के लिए फायदेमंद

Buckwheat में ब्‍लड ग्‍लूकोज कम करने वाले गुण इसमें मौजूद चिरो-इनोसिटोल (chiro-inositol) नामक यौगिक की मौजूदगी के कारण होते हैं। जिसके कारण मधुमेह टाइप 1 के लक्षणों को कम करने में मदद मिल सकती है। यदि आप भी मधुमेह रोगी हैं तो Kuttu आपके लिए एक बेहतर आहार विकल्‍प हो सकता है। मधुमेह के लक्षणों को कम करने के लिए खाद्य आहार बेहतर विकल्‍प के रूप में Buckwheat का उपयोग किया जा सकता है। (और पढ़ें- Diabetes me kya nahi khana chahiye?)

Buckwheat for Liver : लिवर रखता है स्वस्थ्य

लिवर शरीर के लिए बेहद आवश्यक अंग हैं। लिवर में होने वाली किसी भी तरह की बीमारी पुरे शरीर के लिए घातक होती है। लिवर की बीमारियों से बचने के लिए एवं लिवर से सबंधित समस्याओं का समाधान करने के लिए आप कुट्टू आटे (Buckwheat) का उपयोग कर सकते हैं। Buckwheat में बी कॉम्लेक्स एवं लिवर को स्वस्थ रखने वाले तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो लिवर को स्वस्थ रखते है। (और पढ़ें- Diet for Healthy Liver)

Other Benefits of Buckwheat in Hindi | कुट्टू के (Kuttu) अन्य फायदे

  • सांस से संबंधित रोगियों को Buckwheat का सेवन करना चाहिए, क्योंकि इसमें खास तरह के एंजाइम व अम्ल एवं विटामिन्स पाए जाते है जो सांस संबंधी रोग ठीक करते है।
  • Buckwheat के सेवन से स्तन कैंसर व अन्य प्रकार के कैंसर से बचा सकते हैं। क्योंकि कुट्टू में एंटीकैंसर गुण पाए जाते हैं।
  • Kuttu का आटा पतले व झड़ते बालों को मजबूत बनाने में सहायक होता है क्यूंकि कुट्टू के आटे में विटामिन ई, विटामिन ए एवं प्रोटीन अधिक पाया जाता है।
  • फूड क्रेविंग से बचने के लिए भी Kuttu का सेवन किया जा सकता है। यह भूख को कंट्रोल करता है।
  • कुट्टू का आटा कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में भी लाभकारी होता है।
  • कुट्टू के आटे में एंटीस्ट्रैस गुण पाए जाते हैं जो तनाव को कम करने में प्रभावी होते हैं।
  • Kuttu में ऐसे भी गुण पाए जाते है जो सूरज की हानिकारक पराबैंगनी किरणों से शरीर को सुरक्षित रखता है।

Uses of Buckwheat in Hindi | कुट्टू (Kuttu) का उपयोग

  1. बिस्किट बनाकर कुट्टू आटे का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  2. यदि आप मीठा खाने के शौकीन हैं तो कुट्टू आटे का हलवा बनाकर भी इसका उपयोग कर सकते हैं।
  3. कुट्टू आटे का उपयोग आप इडली बनाकर कर सकते हैं।
  4. कुट्टू आटे के पकोड़े बनाकर इसका उपयोग किया जा सकता है।
  5. नूडल्स बनाकर आप कुट्टू आटे का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  6. पराठे, रोटी पूड़ी आदि बनाकर कुट्टू आटे का उपयोग कर सकते हैं।
  7. कुट्टू आटे का दलिया बनाकर इसका उपयोग कर सकते हैं।
  8. केक के रूप में कुट्टू आटे का उपयोग किया जा सकता है।

Side Effects of Buckwheat in Hindi | कुट्टू से होने वाले नुकसान

Buckwheat in hindi: कुट्टू खाना (Buckwheat) स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छा होता है। लेकिन अत्यधिक सेवन से गंभीर परिणाम भी हो सकते है, क्योंकि पोषक तत्‍वों की उच्‍च मात्रा का उपभोग करना आपकी अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं का कारण बन सकता है। आइए जानते है कुट्टू से होने वाले साइड इफेक्ट्स के बारे में-

  • अधिक मात्रा में कुट्टू (Buckwheat) का सेवन करने से त्वचा में सूजन और चकते हैं जो एलर्जी के कारण हो सकता है।
  • अधिक समय से रखे हुए कट्टू के आटे (Buckwheat) का उपभोग नहीं करना चाहिए। क्‍योंकि सामान्‍य रूप से कूटू का आटा 1 महीने में खराब हो सकता है।
  • फाइबर की उच्‍च मात्रा होने के कारण अधिक मात्रा में कुट्टू (Buckwheat) का सेवन पाचन संबंधी समस्याओं को बढ़ा सकता है। जिससे कब्‍ज और अपच जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं।
  • यदि आप किसी विशेष प्रकार की दवाओं का सेवन कर रहे हैं। ऐसी स्थिति औषधीय प्रयोजन हेतू कुट्टू (Buckwheat) का सेवन करने से पहले अपने चिकित्‍सक से सलाह लेना आवश्‍यक है।

Conclusion -

आज की इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि कुट्टू (Kuttu) क्या होता है? (What is Buckwheat in Hindi) और कुट्टू के आटे के क्या फायदे हैं? (Benefits of Buckwheat in Hindi)। इसके आलावा हमने आपको Buckwheat in Hindi के बारे में कई तरह की जानकारियां दी। हमारी इस पोस्ट के बारे में आपकी क्या राय है। हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं और इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

ये भी पढें-

Sesame Seeds in Hindi : क्या आप जानते है तिल के हैरान कर देने वाले फायदें? जानिए Benefits of Sesame Seeds

Flax Seeds in Hindi : सुपरफूड का काम करते हैं अलसी के बीज, जानिए Flax Seeds Benefits

Chia Seeds in hindi : शरीर के साथ दिमाग भी तंदरुस्त रखता है चिया सीड्स, जाने Chia Seeds Benefits

Thyroid Eye Disease kya hai? जानें-इसके कारण, लक्षण और बचाव का तरीका

Home Remedies for body pain in Hindi : अक्सर शरीर में रहता है दर्द? तो अपनाएं ये नुस्खे

Next Story