स्वास्थ्य

Ashwagandha Benefits in Hindi : जानिए अश्वगंधा के फायदे, उपयोग और नुकसान

Ankit Singh
11 Oct 2021 10:24 AM GMT
Ashwagandha Benefits in Hindi : जानिए अश्वगंधा के फायदे, उपयोग और नुकसान
x
Ashwagandha in Hindi: अश्वगंधा को एक जादुई जड़ी बूटी माना जाता है। तो चलिए विस्तार से जानते है कि अश्वगंधा क्या है? (What is Ashwagandha in Hindi), अश्वगंधा के फायदे क्या है (Ashwagandha Benefits in Hindi) और इसका कितना सेवन (Ashwagandha Dosage in Hindi) कैसे किया जाना चाहिए?

Ashwagandha in Hindi: अश्वगंधा (Ashwagandha) का उपयोग सदियों से अनगिनत लाभ के लिए किया जाता है। अश्वगंधा व्यक्ति को स्वस्थ रखने में अहम योगदान निभाता है। वैज्ञानिक भी Ashwagandha को गुणकारी औषधि मानते हैं। इसी वजह से आज के लेख में हम आपको अश्वगंधा के फायदे (Ashwagandha Benefits in Hindi) के बारे में विस्तार से बताएंगे।

बेशक, Ashwagandha एक औषधि है, लेकिन इसकी मात्रा पर ध्यान देना भी जरूरी है। इसका कितना सेवन (Ashwagandha Dosage in Hindi) किया जाना चाहिए, इससे जुड़ी जानकारी भी यहां दी गई है। साथ ही अधिक सेवन से होने वाले अश्वगंधा के नुकसान (Side Effects of Ashwagandha in Hindi) के बारे में भी हम बता रहे हैं। तो आइए जानते है Ashwagandha in Hindi

What is Ashwagandha in Hindi | अश्वगंधा क्या है?

अश्वगंधा (Ashwagandha) का वैज्ञानिक नाम विथानिया सोम्निफेरा (Withania somnifera) है। आम बोलचाल में इसे अश्वगंधा के साथ-साथ इंडियन जिनसेंग (Indian Ginseng) और इंडियन विंटर चेरी (Indian Winter Cherry) भी कहा जाता है। Ashwagandha एक प्राचीन जड़ी बूटी है। इसका इस्तेमाल कई तरह की बीमारियों को भी ठीक करने के किया जाता है। इस जड़ी-बूटी से अश्वगंधा चूर्ण, पाउडर और कैप्सूल बनाया जाता है।

विश्वभर में Ashwagandha की 23 और भारत में इसकी दो प्रजातियां पाई जाती हैं। अश्वगंधा की खेती भारत के सूखे इलाकों में होती है। मध्यप्रदेश, पंजाब, राजस्थान व गुजरात में Ashwagandha की पैदावार ज्यादा है।

Medicinal properties of Ashwagandha | अश्वगंधा के औषधीय गुण

Ashwagandha के गुण में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटी स्ट्रेस, एंटीबैक्टीरियल एजेंट और इम्यून सिस्टम को बेहतर करना व अच्छी नींद शामिल हैं। इसके सेवन से मस्तिष्क की कार्यप्रणाली बेहतर हो सकती है। इसके अलावा, Ashwagandha के औषधीय गुण में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव भी शामिल है, जो शरीर में फ्री रेडिकल्स को बनने से रोक सकता है। साथ ही Ashwagandha इम्यूनिटी को बढ़ाने, पुरुषों में यौन व प्रजनन क्षमता को बेहतर करने और तनाव को कम करने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है।

Benefits of Ashwagandha in Hindi | अश्वगंधा के फायदे

Ashwagandha Benefits in Hindi: अश्वगंधा के गुण की वजह से इसके फायदे अनेक होते हैं। इसी वजह से हम आगे विस्तार से अश्वगंधा के फायदे बता रहे हैं।

  1. एंटीइंफ्लामेट्री गुणों की वजह से ये कोलेस्ट्रॉल और ट्राईग्लिसराइड लेवल को कम करता है और हृदय को स्वस्थ रखता है।
  2. तनाव, चिंता, थकावट, नींद की कमी जैसी समस्यों का कारगर इलाज Ashwagandha से किया जा सकता है। यह स्ट्रेस हार्मोन कॉर्टिसोल के लेवल को कम करता है, जिससे स्ट्रेस कम होता है।
  3. गंभीर डिप्रेशन से पीड़ित का इलाज भी अश्‍वगंधा से संभव है।
  4. यह कैंसर के मरीज़ों के लिए लाभकारी है। रिसर्च के मुताबिक Ashwagandha कीमोथेरेपी के बुरे प्रभाव को कम करने में मदद करता है।
  5. सूजन और दर्द को कम करने लिए भी इसका प्रयोग किया जाता है।
  6. Ashwagandha की जड़ों को पीसकर घाव पर लगाने से घाव जल्दी भरता है।
  7. Ashwagandha ये इम्यून सिस्टम को मज़बूत करता है।
  8. Ashwagandha त्वचा रोगों को दूर करने में मदद करता है. ये न स़िर्फ झुर्रियों को कम करता है, बल्कि चर्म रोग को भी ठीक करता है।
  9. Ashwagandha अनिद्रा की शिकायत को दूर करता है।
  10. यह डायबिटीज़ को कंट्रोल करत है। ब्लड शुगर को कम करता है और इंसुलिन सेंसिटिविटी को मसल्स सेल्स में इंप्रूव करता है।
  11. यह पुरुषों में मसल्स मास को बढ़ाकर, बॉडी फैट्स कम करता है और स्ट्रेंथ देता है।
  12. Ashwagandha ज्वाइंट पेन और कमरदर्द के लिए भी फायदेमंद होता है।
  13. अल्ज़ाइमर का इलाज करने के लिए भी Ashwagandha का इस्तेमाल किया जाता है।
  14. एंटीबैक्टेरियल गुणों के कारण Ashwagandha कई बैक्टीरियल इंफेक्शन से भी बचाता है।

How to Use Ashwagandha in Hindi | अश्वगंधा का उपयोग कैसे करें?

Ashwagandha in Hindi: बाजार में Ashwagandha मुख्य रूप से टेबलेट, चूर्ण और कैप्सूल के रूप में मिलते है। लेकिन साबसे ज्यादा लोग इसे पाउडर के रूप में खाना पसंद करते है और वह फायदेमंद भी है। अश्वगंधा का उपयोग शहद, पानी या फिर घी में मिलाकर अश्वगंधा चूर्ण का उपयोग किया जा सकता है। इसके अलावा, बाजार में या फिर ऑनलाइन अश्वगंधा चाय, अश्वगंधा कैप्सूल और अश्वगंधा का रस भी आसानी से मिल जाता है।

अगर आपको अभी भी संदेह है कि Ashwagandha का उपयोग कैसे करें? तो डॉक्टर से संपर्क करके इसके सेवन के बारे में जानकारी प्राप्त कर लें।

Precautions for Ashwagandha in Hindi | अश्वगंधा लेने से पहले की सावधानियां

  • प्रेग्नेंट महिलाएं या वो महिलाएं जो स्तनपान कराती हैं, वो Ashwagandha का सेवन न करें।
  • ऑटोइम्यून डिसीज़ से पीड़ित लोगों को भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • जो लोग थायरॉइड की दवाइयां खा रहे हैं, उन्हें भी Ashwagandha नहीं खाना चाहिए, क्योंकि इससे थायरॉइड हार्मोन लेवल बढ़ सकता है।
  • Ashwagandha के सेवन से ब्लड शुगर और ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। इसके सेवन से पहले डॉक्टर से संपर्क करें, क्योंकि दवाओं का डोज़ बदलना पड़ेगा।
  • अश्‍वगंधा की टैबलेट या पाउडर बिना डॉक्टरी सलाह के न लें।
  • डॉक्टर के बताए अनुसार ही डोज लें। इसके ज़्यादा सेवन से डायरिया, उल्टी या पेट ख़राब हो सकता है।

Side Effects of Ashwagandha in Hindi | अश्वगंधा के नुकसान

Ashwagandha Side Effects: अश्वगंधा के फायदे के साथ ही इसके कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं। इसलिए, इसकी संयमित मात्रा का ही सेवन करना चाहिए। अब जानते हैं कि अश्वगंधा के नुकसान क्या हैं-

> Ashwagandha का अधिक सेवन करने से पेट में दर्द व डायरिया जैसी समस्या होने लगती है।

> Ashwagandha अनिद्रा दूर करने में फायदेमंद होता है। लेकिन अधिक मात्रा में इस्तेमाल करने सेहत को हानि हो सकती है।

> Ashwagandha का सही मात्रा में उपयोग ना करने से व्यक्ति को उल्टी, जी मिचलाने जैसी समस्या होने लगती है।

> यदि मधुमेह से पीड़ित व्यक्ति डायबिटीज की गोली का सेवन कर रहा है। तो उन व्यक्तियों Ashwagandha का सेवन बिलकुल भी नहीं करना चाहिए। यह शरीर में रक्त स्तर को नीचे कर देता है।

> Ashwagandha का अधिक सेवन करने व्यक्ति को बुखार, थकावट, दर्द की समस्या होने लगती है।

Conclusion -

आज की इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि अश्वगंधा क्या है? (What is Ashwagandha in Hindi) और अश्वगंधा के फायदे (Benefits of Ashwagandha in Hindi) क्या है। इसके आलावा हमने आपको Ashwagandha in Hindi के बारे में कई तरह की जानकारियां दी। हमारी इस पोस्ट के बारे में आपकी क्या राय है। हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं और इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

ये भी पढ़ें-

Sesame Seeds in Hindi : क्या आप जानते है तिल के हैरान कर देने वाले फायदें? जानिए Benefits of Sesame Seeds

Uric Acid Ko Kaise Kare Control? : इन घरेलू उपायों से बढ़े हुए यूरिक एसिड को करें कंट्रोल

Flax Seeds in Hindi : सुपरफूड का काम करते हैं अलसी के बीज, जानिए Flax Seeds Benefits

Chia Seeds in hindi : शरीर के साथ दिमाग भी तंदरुस्त रखता है चिया सीड्स, जाने Chia Seeds Benefits

Sensitive Teeth Home Remedies in Hindi: दांतों में हो रही है झनझनाहट? तो अपनाए यह घरेलू इलाज

Gallbladder in Hindi : Gallbladder kya hai?, जानिए गॉलब्लैडर (पित्ताशय) का मुख्य काम?

Next Story
Share it