स्वास्थ्य

Mustard Oil in Hindi: जानिए सरसों के तेल के फायदे-नुकसान | Mustard Oil Benefits and side Effects

Ankit Singh
19 Nov 2021 9:52 AM GMT
Mustard Oil in Hindi: जानिए सरसों के तेल के फायदे-नुकसान | Mustard Oil Benefits and side Effects
x
Mustard Oil in Hindi: सरसों का तेल (sarso ka tel) डाइट में आसानी से शामिल किया जा सकता है। यह शरीर के लिए फायदेमंद है। यहां जाने सरसों के तेल का उपयोग (mustard oil uses) कैसे करें? और Sarson ke Tel ke Fayde (Mustard Oil Benefits in Hindi) क्या है।

Mustard Oil in Hindi: सरसो का तेल (Mustard Oil) लगभग भारत के सभी घरों में किया जाता है। सरसो के तेल (Sarson ka Tel) के बिना ज्यादातर भारतीय व्यंजन अधूरे है। सरसो के तेल को सरसो (Mustard) से निकाला जाता है। Mustard Oil का उपयोग खाने के अलावा और भी कई कामों में आता है। Mustard Oil के अनेकों फायदे (Sarson Tel ke Fayde) है। इसलिए ज्यादातर व्यंजनों में सरसों के तेल का ही उपयोग किया जाता है। बंगाली खाने को सरसों के तेल के बिना सोचा भी नहीं जा सकता है। असम और ओडिशा में भी भारी मात्रा में सरसों के तेल को उपयोग (mustard oil uses) किया जाता है।

आपको यह बात नहीं पता हो कि जिन लोगों को दिल की बीमारी होती है उन लोगों को सरसों के तेल (Mustard Oil) का सेवन करने की सलाह दी जाती है। इसमें मोनो-सैचुरेटेड फैट, पॉली-सैचुरेटेड फैट और सैचुरेडेट फैट पाएं जाते हैं जो शरीर के लिए अच्छे होते हैं क्योंकि यह पेट में जमा नहीं होते हैं। आज के लेख में जनेंगे Mustard Oil Kya hai (What is Mustard Oil in Hindi) और Sarson ke tel ke Fayde (Mustard Oil Benefits in Hindi) क्या है। तो आइए विस्तार से जानते है Mustard Oil in Hindi

What is Mustard Oil in Hindi : Mustard Oil Kya hai?

Mustard Oil in Hindi: सरसों के तेल को सरसों (पौधा) के बीजों से निकाला जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम ब्रेसिका जुनसा (Brassica Junsa) है, जिसे विभिन्न भाषाओं में अलग-अलग नामों से जाना जाता है। अंग्रेजी में इसे मस्टर्ड (Mustard), तेलुगु में अवन्यून, मलायम में कदुगेना और मराठी में मोहरीच कहा जाता है। भारत के पुर्वांचल में इसे कड़ू का तेल (Mustard Oil) भी कहा जाता है। सरसों के बीज भूरे, लाल और पीले रंग के होते है। मशीनों की मदद से इनमें से तेल निकाला जाता है। भारत में इसका प्रचलन ज्यादा है और प्रतिदिन बनने वाले भोजन में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।

Mustard Oil Nutritional Value in Hindi | सरसों के तेल का पोषण

Mustard Oil in Hindi: सरसों के तेल के फायदे इसमें मौजूद मोनो-सैचुरेटेड फैट, पॉली-सैचुरेटेड फैट और सैचुरेडेट फैट के कारण जाने जाते हैं जो शरीर के लिए अच्छे होते हैं क्योंकि यह पेट में जमा नहीं होते हैं।

सरसों के तेल (Mustard Oil) में एलिल आइसोथियोसाइनेट (Allyl Isothiocyanate) नाम का केमिकल पाया जाता है। अधिक मात्रा में सरसों के तेल का सेवन करने से फेफड़ों में जलन हो सकती है। इसके अलावा यह अंतड़ी में भी परेशानी दे सकता है। इसलिए यह जानना बेहद जरुरी है कि सरसों के तेल का सेवन कितनी मात्रा (How to Use Mustard Oil) में करना सेहतमंद होगा।

Types of Mustard Oil in Hindi | सरसों के तेल के प्रकार

Mustard Oil भी कई प्रकार के होते है जो नीचे बताएं गए है।

Refind Mustard Oil (रिफाइंड सरसों का तेल): रिफाइंड सरसों का तेल काले, भूरे या सफेद सरसों के बीजों से निकाला जाता है। यह स्वाद में कड़वा होता है, इसका ज्यादातर प्रयोग भारतीय घरों में खाना बनाने के लिए किया जाता है।

kacchi Ghani Mustard Oil (कच्ची घानी): इसे सरसो के तेल का शुद्ध रूप माना जाता है, भारत के अधिकतर घरों में यही तेल का उपयोग खाना बनाने के लिए किया जाता है। इस प्रकार का सरसों का तेल स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद माना जाता है।

Grade 2 Mustard Oil: इस तेल का इस्तेमाल भोजन बनाने के लिए नहीं, बल्कि थेरेपी के लिए किया जाता है।

Benefits of Mustard Oil in Hindi | Sarson Ke Tel ke fayde

  1. थियामाइन, फोलेट व नियासिन काफी मात्रा में होने की वजह से यह वजन घटना में सहायक होता है।
  2. सरसो के तेल (Mustard Oil) से पाचन दुरुस्त रहती है और भूख बढ़ाने में भी मददगार होता है।
  3. सरसों का तेल (Mustard Oil) दांत दर्द और पायरिया में भी फायदेमंद है।
  4. सरसों के तेल (Mustard Oil) का इस्तेमाल फंगल संक्रमण के लिए भी किया जाता है।
  5. सरसों का तेल (Mustard Oil) हमें कैंसर को पैदा करने वाले गुणों के लिए बचाता है क्योंकि सरसों के तेल में ग्लूकोसिनोलेट नामक तत्व होता है।
  6. इसकी मालिश से भी शरीर की अतिरिक्त चर्बी घटती है।
  7. सरसों का तेल (Mustard Oil) कोलेस्ट्रॉल को संतुलित रखने में मददगार होता है।
  8. सरसों के तेल (Mustard Oil) की मालिश से शरीर की मांसपेशियां मजबूत होती हैं और ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है।
  9. यह त्वचा के रुखापन को खत्म करता है।
  10. जोड़ों के दर्द को दूर करने के लिए रोजाना सरसों के तेल (Mustard Oil) से जोड़ों की मालिश करें। नियमित रूप से मालिश करने से जोड़ों का दर्द दूर हो सकता है।

How to Use Mustard Oil in Hindi | सरसों के तेल का उपयोग कैसे करें?

  • इस तेल को अचार बनाने के लिए उपयोग में लाया जा सकता है।
  • Mustard Oil को बालों और त्वचा पर लगाने के लिए भी उपयोग में लाया जा सकता है।
  • इसे नींबू और शहद के साथ सलाद में डालकर भी उपयोग किया जा सकता है।
  • सरसों का तेल शाकाहारी और मांसाहारी आहार बनाने के लिए उपयोग किया जा सकता है।
  • Mustard Oil से दाल को तड़का लगा सकते हैं।
  • गोभी मंचूरियन व नूडल जैसे चाइनीज खाद्य सामग्री में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

Sarso Ke Tel Ke Nuksan | side Effects of Mustard Oil in Hindi

>> यदि आप सरसों के तेल (Mustard Oil) का सेवन अधिक मात्रा में करते हैं तो यह दस्त, एनीमिया और श्वसन से संबंधित बीमारियों का कारण बन सकता है।

>> गर्भवती महिलाओं को सरसों के तेल (Mustard Oil) का ज्यादा सेवन नहीं करना चाहिए इससे शिशु के ऊपर गलत प्रभाव डालते। हैं जिससे कि गर्भपात होने का कारण भी बढ़ जाता है।

>> कई लोगों को सरसों के तेल (Mustard Oil) का से एलर्जी होनी शुरू हो जाती है। इसके सेवन से त्वचा पर लालिमा खुजली और त्वचा का सूखापन जैसे लक्षण पाए जाते हैं।

ये भी पढें-

Semolina in hindi : जानिए कैसे बनती है सूजी? | Semolina Flour Benefits and Side Effects

Corn Flour in Hindi : कॉर्न फ्लोर क्या होता है? | Corn Flour Benefits and Side Effects

Epsom Salt in Hindi : Epsom Salt Kya Hai? | जानिए एप्सम साल्ट के फायदे, नुकसान और उपयोग

Ashwagandha Benefits in Hindi : जानिए अश्वगंधा के फायदे, उपयोग और नुकसान

Buckwheat in hindi: कुट्टू के आटे के क्या फायदे हैं? | Buckwheat Benefits and Side Effects

Next Story
Share it