स्वास्थ्य

नेचुरल तरीके से एनर्जी लेवल को बूस्ट करने के लिए अपनाएं ये 9 टिप्स, हमेशा के लिए हो जाएंगे एक्टिव

Ankit Singh
3 Dec 2021 9:43 AM GMT
नेचुरल तरीके से एनर्जी लेवल को बूस्ट करने के लिए अपनाएं ये 9 टिप्स, हमेशा के लिए हो जाएंगे एक्टिव
x
कई बार हमारा रोजाना का खाना शरीर को सभी जरूरी पोषक तत्व नहीं दे पाता और नतीजा होता है थकान और एनर्जी का लेवल कम होना। लेकिन खाने के अलावा भी कुछ और भी कारण हो सकते है एनर्जी लेवल कम होने के। यहां जानिए 9 नेचुरल तरीके जिससे आप एनर्जी लेवल कर सकते है बूस्ट।

Boost Your Energy Level: यदि आप अपने आप को सुस्त महसूस कर रहे हैं, जागने में कठिनाई हो रही है, या सिर्फ दोपहर के भोजन को भोजन को स्किप कर आप कॉफी या चाय पी रहे है तो ऐसा करने वाले आप अकेले नहीं हैं। हम में से अधिकांश लोग दिन के अंत में थका हुआ महसूस करते है। आप से कई लोग अपनी एनर्जी लेवल को बूस्ट करने के लिए कई सारे उपाय भी करते होंगे, मगर यह काम नहीं आ रहे है तो आज हम आपको बतएंगे ऐसे तरीके जिससे आप अपने एनर्जी लेवल को बूस्ट कर सकते है।

हम यहां आपको 9 तरह के नेचुरल उपाय (Natural Ways to Boost your Energy Level) बतएंगे जिसे अपना कर आप सुस्ती को दूर भगा सकते है। तो आइए जानते है How to Boost Energy Level in Hindi

9 Natural Ways to Boost Your Energy Levels

1. पर्याप्त नींद

बहुत से लोग बिस्तर में बिताए जाने वाले घंटों में कटौती करते हैं, जैसे कि किसी समय सीमा को पूरा करने के लिए सोने का समय पीछे धकेलना या परीक्षा के लिए अध्ययन करना। पर्याप्त नींद न लेने से आपकी ऊर्जा का स्तर समाप्त हो सकता है, जिससे आप अगले दिन सुस्त और चिड़चिड़ापन महसूस कर सकते हैं। एक्सपर्ट का कहना है कि अपने आप को फिट रखने के लिए 24 घंटे में कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद जरूरी है।

यदि आपको सोने में परेशानी होती है, तो आपको नियमित रूप से सोने का समय निर्धारित करने और रात के अंत में बबल बाथ लेने, किताब पढ़ने या आरामदेह संगीत सुनने से लाभ हो सकता है।

2. तनाव कम करें

व्यस्त जीवन वाले लोगों के लिए तनावग्रस्त, चिंतित या अभिभूत महसूस करना आम बात है। तनाव न केवल आपके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर गंभीर असर डाल सकता है, बल्कि यह थकान से भी जुड़ा हुआ है।

इस बात पर विचार करें कि आप किस कारण अक्सर तनावग्रस्त यह थका हुआ महसूस करते हैं और अपने आप से पूछें कि क्या आप इसे अपने जीवन से दूर कर सकते हैं। तनाव कम करने के लिए आप माइंडफुलनेस या मेडिटेशन तकनीक भी आजमा सकते हैं, जिससे चिंता कम हो सकती है। अगर इससे भी आराम नहीं मिलता तो आपको किसी मनोचिकित्सक से परामर्श लेना चाहिए। (और पढ़ें- How to Reduce Stress in Hindi)

3. चहलकदमी करते रहें

हृदय रोग, टाइप 2 मधुमेह और मोटापा सहित पुरानी बीमारियों के जोखिम को कम करने के लिए नियमित व्यायाम जरूरी है। अगर आप व्यायाम नहीं कर सकते है तो दिन भर अपने आप को चलाते रहे। कुछ शोध बताते हैं कि अपनी दिनचर्या में अधिक शारीरिक गतिविधि जोड़ने से थकान से भी लड़ सकते हैं और आपकी ऊर्जा का स्तर बढ़ सकता है।

शोध से भी यह पता चला है कि जो व्यक्ति फिजिकल एक्टिव रहते है और और व्यायाम करते है उन्हें रात में अच्छी नींद आती है, जिस वजह से वो सारा दिन एक्टिव रहते है।

4. धूम्रपान करते हैं तो छोड़ने का विचार करें

धूम्रपान कई स्वास्थ्य पहलुओं को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है और कई पुरानी स्थितियों के जोखिम को बढ़ा सकता है। इतना ही नहीं, धुएं में मौजूद टॉक्सिन्स और टार आपके फेफड़ों की कार्यक्षमता को कम कर देते हैं। समय के साथ, यह आपके पूरे शरीर में पहुंचाए जाने वाले ऑक्सीजन की मात्रा को कम कर सकता है, जिससे आप थका हुआ महसूस कर सकते हैं।

अगर आप नियमित रूप से धूम्रपान करते हैं, तो इसे छोड़ना कई स्वास्थ्य लाभों से जुड़ा हो सकता है, जिसमें ऊर्जा का बढ़ा हुआ स्तर शामिल है।

5. शराब सीमित करें

बहुत से लोग मानते हैं कि रात में शराब का पैक पीना तेजी से सो जाने का एक प्रभावी तरीका हो सकता है। हालांकि, सोने से पहले नियमित रूप से शराब पीने से आपकी नींद की गुणवत्ता कम हो सकती है। शराब पेशाब के उत्पादन को बढ़ाता है। यदि आप सोने से ठीक पहले शराब पीते हैं, तो यह आपकी नींद को बाधित कर सकता है, जिससे आप आधी रात में जाग सकते हैं।

अगर आप शराब का सेवन छोड़ना चाहते है और ऐसा नहीं कर पा रहे है तो उचित होगा कि किसी स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर से संपर्क करने पर विचार करें।

6. पौष्टिक आहार लें

अगर आप हमेशा थका हुआ, सुस्त और कम ऊर्जा महसूस कर रहे हैं, तो अपने खाने की आदतों को बदलना फायदेमंद हो सकता है। एक संपूर्ण आहार का पालन करने से न केवल कई पुरानी स्थितियों के आपके जोखिम को कम किया जा सकता है, बल्कि आपके ऊर्जा स्तर (Energy level) को भी बढ़ाया जा सकता है।

दूसरी ओर बहुत सारे प्रोसेस्ड फूड जिनमें शुगर और फैट सबसे अधिक पाया जाता है यह आपके एनर्जी लेवल और स्वास्थ्य को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकते हैं। इसलिए जरुरी है कि आप दिन के दौरान खुद को ईंधन देने के लिए पर्याप्त भोजन करें। (और पढ़ें- How to Prepare Healthy Diet Plan in Hindi?)

7. शुगर की मात्रा सीमित करें

जब आप बहुत थका हुआ महसूस करते है तो चीनी का सेवन आपको जल्द ही ऊर्जावान बना देती है, लेकिन रोजाना अधिक मात्रा में चीनी का सेवन आपको पहले से अधिक थका हुआ महसूस करा सकती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि उच्च शर्करा वाले खाद्य पदार्थ रक्त शर्करा के स्तर में तेज वृद्धि का कारण बनते हैं।

बड़ी मात्रा में अतिरिक्त चीनी खाने से आपके मोटापे, टाइप 2 मधुमेह और हृदय रोग का खतरा भी बढ़ सकता है, इसलिए अतिरिक्त चीनी का सेवन सीमित करने से आपके ऊर्जा स्तर और आपके स्वास्थ्य दोनों को फायदा हो सकता है।

8. हाइड्रेटेड रहें

अपने शरीर को हमेशा तर रखना बहुत ही जरूरी है, क्योंकि में पानी की उचित मात्रा होने पर ही हमारे शरीर के बॉडी फंक्शन अच्छे से काम करते है। इसलिए सामान्य तौर पर प्यास न भी लगे तो थोड़ा थोड़ा पानी पीते रहे। यदि आप बहुत सक्रिय हैं या गर्म वातावरण में रहते हैं तो आपको अधिक पानी पीना चाहिए। सुबह उठने के बाद भी सबसे पहले पानी पीना चाहिए क्योंकि सुबह के वक्त हमारे शरीर में पानी की सबसे ज्यादा कमी होती है।

ध्यान रखें कि वयस्कों को पानी की आवश्यकता होने पर हमेशा प्यास नहीं लग सकती है। इसलिए जरूरी है कि दिन भर में कई बार पानी पीते रहें।

9. सामाजिक संबंध बनाएं

अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए सामाजिक संबंध भी जरूरी है। वास्तव में, सामाजिक अलगाव यानी अकेलापन कम मूड और थकान का कारण बन सकता है। जितना हो सके लोगों से जुड़े बातचीत करें, उनके साथ टहलने जाए और अपने मन की बात दोस्तों से शेयर करें।

लोगों से बातचीत करने से आप मेंटली एक्टिव रहेंगे और खुद को बिजी भी रख पाएंगे। कई शोध इस बात का दावा करते है कि सामाजिक मेलजोल से ऊर्जा के स्तर में वृद्धि होती है।

ये भी पढें-

Guava Benefits in Hindi : यहां जानें अमरूद खाने के फायदे, नुकसान और प्रयोग | Amrud ke Fayde

Black Pepper in Hindi | काली मिर्च के फायदे और नुकसान | Black Pepper Benefits and Side Effects

Home Remedies For Irregular Periods in Hindi : अनियमित माहवारी का घरेलू इलाज

Ajwain Ke Fayde: सर्दियों में इम्युनिटी और पाचन को करना है मजबूत तो करें अजवाइन का सेवन

Next Story
Share it