आर्थिक

Equity or Debt? वित्तीय लक्ष्‍यों तक जल्दी पहुंचने के लिए अपना एसेट कहा एलोकेट करना चाहिए?

Ankit Singh
9 April 2022 4:47 AM GMT
Equity or Debt? वित्तीय लक्ष्‍यों तक जल्दी पहुंचने के लिए अपना एसेट कहा एलोकेट करना चाहिए?
x
Equity vs Debt: आपके द्वारा इन्वेस्ट किया गया फंड रिटायरमेंट के बाद आपकी जरूरतों को पूरा करने में काम आता है। लेकिन वेल्थ क्रिएशन के लिए यह सवाल अहम है कि आपको अपना एसेट एलोकेशन इक्विटी या डेट में करना चाहिए?

Equity vs Debt: नियमित रूप से पैसा कमाने से दिन-प्रतिदिन का जीवन काफी आसान हो जाता है। हालांकि अगर आप अपनी कमाई का प्रबंधन ठीक से नहीं करते हैं, तो आप लंबे समय तक बेरोजगार रहने की स्थिति में परेशानी में पड़ सकते हैं। इसके अलावा, जब आप बिना किसी इनकम के रिटायर होते हैं, तो आपके द्वारा पहले बनाया गया फंड आपको रिटायरमेंट के दिनों में अच्छी स्थिति में रखेगा। इसलिए आपको समय के साथ अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए अच्छे वित्तीय साधनों में धन का निवेश करना चाहिए। ये वित्तीय साधन आम तौर पर इक्विटी या डेट होंगे।

इन वित्तीय साधनों में सीधे निवेश करने से आपको डायवर्सिफिकेशन का लाभ नहीं मिलेगा, बल्कि आपको अपने वित्तीय लक्ष्य और रिस्क के अनुसार यह समझना होगा कि अपने एसेट को किस प्रकार के म्यूच्यूअल फंड में निवेश करें।

चूंकि पैसे के संबंध में प्रत्येक व्यक्ति की अलग-अलग विचार प्रक्रिया होती है, इक्विटी और डेट कुछ के अनुरूप हो सकते हैं लेकिन सभी के लिए नहीं। किसे क्या चुनना चाहिए, यह जानने के लिए पोस्ट को आगे पढ़ें।

इन फैक्टर के आधार पर एसेट का एलोकेशन करें

एसेट एलोकेशन के लिए इक्विटी या डेट का चयन निम्नलिखित कारकों पर निर्भर करेगा।

वित्तीय लक्ष्य

आपके द्वारा निर्धारित वित्तीय लक्ष्य आपके द्वारा किए जाने वाले परिसंपत्ति आवंटन को निर्धारित करेगा। अगर आपने शादी और बच्चों की शिक्षा के लिए लक्ष्य निर्धारित किए हैं, तो आपको म्यूचुअल फंड के माध्यम से इक्विटी के लिए अधिक एसेट एलोकेट करनाबचाहिए। इक्विटी फंड मुख्य रूप से इक्विटी के उच्च-रिटर्न प्रस्ताव में निवेश करके पूंजी की वृद्धि की सराहना करते हैं।

इन फंडों से उत्पन्न रिटर्न आपको महत्वाकांक्षी लक्ष्यों को आसानी से प्राप्त करने में मदद कर सकता है। अगर आप नियमित आय अर्जित करना चाहते हैं, तो आप अपनी संपत्ति को डेट म्यूचुअल फंड में बेहतर तरीके से डायवर्ट कर सकते हैं, जो निवेशकों को आय का एक स्थिर प्रवाह प्रदान करने के लिए जाने जाते हैं। उक्त उद्देश्य की पूर्ति के लिए ये फंड मुख्य रूप से निश्चित आय के साधनों में निवेश करते हैं।

जोखिम लेने की क्षमता

अलग-अलग व्यक्ति निवेश जोखिमों पर अलग तरह से प्रतिक्रिया करते हैं। हालांकि म्युचुअल फंड विभिन्न वित्तीय साधनों में निवेश को फैलाकर जोखिमों में विविधता लाते हैं। लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि आपके द्वारा चुने गए म्यूचुअल फंड प्रोडक्ट के प्रकार के आधार पर जोखिम के विभिन्न स्तर हैं। जबकि इक्विटी फंड निवेश के लिए आपकी जोखिम-भूख अधिक होनी चाहिए, कम जोखिम वाले व्यक्ति के लिए डेट निवेश को प्राथमिकता दी जा सकती है।

यह भी महत्वपूर्ण है कि जोखिम-भूख पूरे जीवनकाल में समान नहीं रह सकती है। जब आप जीवन चक्र की एक अवस्था से दूसरी अवस्था में जाते हैं तो यह बदल सकता है। जब कोई 25-30 साल का होता है, तो उससे बड़े जोखिम लेने की उम्मीद की जाती है और इसलिए इक्विटी फंड उसकी निवेश विशेषता के साथ तालमेल बिठा सकता है। जैसे-जैसे आप 45-50 तक पहुंचते हैं, जोखिम लेने की क्षमता एक हद तक कम हो सकती है। लेकिन आप अभी भी एक हाइब्रिड फंड (इक्विटी-उन्मुख) के माध्यम से इक्विटी उपकरणों में निवेश कर सकते हैं जो निवेशकों को पूंजी वृद्धि और आय सृजन लाभ दोनों प्रदान करता है। जैसे-जैसे आप 60 के पार जाते हैं, जोखिम-भूख कम होने की उम्मीद है। ऐसे मामले में, डेट फंड निवेश अधिक फायदेमंद लगेगा।

निवेश क्षितिज

आप जिस समय तक निवेशित रहना चाहते हैं, वह भी इक्विटी और डेट फंडों में से किसी एक को चुनने से पहले विचार करने के लिए एक महत्वपूर्ण कारक होगा। अगर कोई लंबे समय के लिए निवेश कर सकता है, जैसे कि 5-10 वर्ष या उससे अधिक, तो संबंधित व्यक्ति को अपने जीवन के वित्तीय पाठ्यक्रम को निर्धारित करने के लिए इक्विटी फंडों का चयन करना चाहिए। अगर आप 1-3 साल की छोटी अवधि के लिए निवेश करना चाहते हैं, तो डेट फंड वह विकल्प होगा जिसका आप लाभ उठा सकते हैं।

ये भी पढ़ें -

निवेश पोर्टफोलियो में डायनेमिक एसेट एलोकेशन फंड को क्यों शामिल करना चाहिए? जानिए बड़ा कारण

History of Mutual Funds in India: भारत में म्यूच्यूअल फंड की शुरुआत कैसे हुई? जानिए इतिहास

जोखिम और समय सीमा के अनुसार अपना पहला Mutual Fund कैसे चुनें?

Investment Plan for Middle Class: मिडिल क्लास के लिए 6 सबसे अच्छी निवेश योजना

MF SIP for Child Education: अपने बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए SIP की योजना कैसे बनाएं?

Next Story