आर्थिक

Equity, Debt और Hybrid Fund में क्या अंतर है? तीनों में से निवेश के लिए क्या हो सकता है बेहतर?

Ankit Singh
23 July 2022 7:13 AM GMT
Equity, Debt और Hybrid Fund में क्या अंतर है? तीनों में से निवेश के लिए क्या हो सकता है बेहतर?
x
म्यूच्यूअल फंड को मुख्य रूप से तीन भागों (इक्विटी, डेट और हाइब्रिड) में वर्गीकृत किया गया है। तीनों ही फंडों की विशेषताएं और निवेश का तरीका अलग होता है। तो आइए इस लेख में समझे कि Equity, Debt और Hybrid Fund में क्या अंतर है?

Mutual Fund: जब म्यूचुअल फंड की बात आती है, तो चुनने के लिए कई अलग-अलग प्रकार होते हैं। इसमें इक्विटी म्यूचुअल फंड, डेट म्यूचुअल फंड और हाइब्रिड म्यूचुअल फंड शामिल हैं। प्रत्येक प्रकार का म्यूचुअल फंड एक अलग उद्देश्य को पूरा करता है और विभिन्न निवेशकों के लिए उपयुक्त है।

अगर आप यह नहीं जानते है कि इक्विटी, डेट और हाइब्रिड फंड में क्या अंतर हैं? तो यह लेख यह समझाने में मदद करेगा कि वे क्या हैं। लेकिन इससे पहले कि हम मतभेदों पर एक नज़र डालें, आइए पहले इन फंडों के बारे में जानने की कोशिश करें।

इक्विटी फंड क्या हैं? | What is Equity Fund in Hindi

इक्विटी फंड म्यूचुअल फंड होते हैं जो विभिन्न कंपनियों के शेयरों में निवेश करते हैं। फंड में कंपनियों के बाजार पूंजीकरण के आधार पर इक्विटी म्यूचुअल फंड को आगे लार्ज कैप फंड, स्मॉल कैप फंड, मिड-कैप फंड और मल्टी-कैप फंड में सब कैटेगराइज किया जा सकता है।

डेट फंड क्या हैं? | What is Debt Fund in Hindi

डेट फंड म्यूचुअल फंड हैं जो कई तरह की डेट सिक्योरिटीज और मनी मार्केट इंस्ट्रूमेंट्स जैसे कमर्शियल पेपर, डिबेंचर, सर्टिफिकेट ऑफ डिपॉजिट, ट्रेजरी बिल और गवर्नमेंट सिक्योरिटीज में निवेश करते हैं। फिर से, इक्विटी फंडों की तरह, डेट फंडों की कई अलग-अलग सब-केटेगरी हैं जैसे ओवरनाइट फंड, अल्ट्रा-शॉर्ट टर्म फंड, शॉर्ट-टर्म फंड और लॉन्ग-टर्म फंड।

हाइब्रिड फंड क्या होते हैं? | What is Hybrid Fund in Hindi

हाइब्रिड फंड म्यूचुअल फंड होते हैं जो इक्विटी और डेट मार्केट दोनों में निवेश करते हैं। इन दोनों बाजारों में निवेश करके, इन फंडों का उद्देश्य जोखिम को कम करना और निवेशकों को मिलने वाले रिटर्न को बढ़ाना है। हाइब्रिड फंड के साथ, इक्विटी और डेट मार्केट के बीच आवंटन का कोई निश्चित प्रतिशत नहीं होता है और यह फंड, फंड के मैनेजर और फंड के लक्ष्य पर निर्भर करता है।

इन तीन फंडों में क्या अंतर है?

अब जब आपने देख लिया है कि इक्विटी, डेट और हाइब्रिड फंड क्या हैं, तो आइए अब उनके अंतरों पर चलते हैं।

इन्वेस्टमेंट

Equity - यह कंपनियों के शेयरों में निवेश करता है।

Debt - यह डेट सिक्योरिटीज और मनी मार्केट इंस्ट्रूमेंट में निवेश करता है।

Hybrid - यह फंड इक्विटी और डेट इंस्ट्रूमेंट दोनों में निवेश करता है।

रिटर्न

Equity - रिटर्न पूरी तरह से बाजार के प्रदर्शन पर निर्भर करता है।

Debt - रिटर्न अधिक स्थिर होते हैं और बाजार के प्रदर्शन पर निर्भर नहीं होते हैं।

Hybrid - रिटर्न आंशिक रूप से स्थिर होता है और आंशिक रूप से बाजार के प्रदर्शन पर निर्भर करता है।

जोखिम

Equity - ये फंड बहुत जोखिम भरे होते हैं।

Debt - इन फंडों में निम्न स्तर का जोखिम होता है।

Hybrid - ये फंड मध्यम स्तर का जोखिम उठाते हैं।

आपको कौन सा फंड चुनना चाहिए?

आपको किस प्रकार का म्युचुअल फंड चुनना होगा, यह आपकी जोखिम लेने की क्षमता और आपके लक्ष्यों की समय सीमा पर निर्भर करता है। उदाहरण के लिए अगर आप उच्च जोखिम लेने वाले आक्रामक निवेशक हैं, तो आप इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं।

दूसरी ओर अगर आप कम जोखिम वाले निवेशक हैं, तो डेट म्यूचुअल फंड वही हो सकता है जिसकी आपको तलाश है। और अंत में अगर आप एक मध्यम निवेशक हैं जो थोड़ा ऊंचा जोखिम लेने के लिए तैयार हैं, तो हाइब्रिड फंड आपके लिए एक हो सकता है।

Conclusion -

जैसा कि आप देख सकते हैं, इन तीनों म्युचुअल फंडों में से प्रत्येक अलग-अलग लक्ष्यों की पूर्ति करता है। इसलिए, जिस फंड में आप निवेश करना चाहते हैं, उसे चुनते समय अपने लक्ष्यों और जोखिम उठाने की क्षमता को ध्यान में रखें।

ये भी पढ़ें -

आपको Mutual Fund में कितनी जल्दी निवेश शुरू कर देना चाहिए? जानिए क्या कहते है एक्सपर्ट

Interval Mutual Fund Kya Hai? क्या आपको इंटरवल फंडों में निवेश करना चाहिए? जानिए

Mutual Fund निवेशकों को एक फंड से दूसरे फंड में कब स्विच करना चाहिए? यहां सीखें जरूरी टिप्स

What is Equity Plus Fund in Hindi | इक्विटी प्लस फंड क्या होते है? और यह कैसे काम करते है?

Next Story