आर्थिक

What is Scheduled Bank in Hindi: शेड्यूल बैंक क्या है? और इसके फंक्शन क्या है, जानिए

Ankit Singh
2 Jun 2022 7:11 AM GMT
What is Scheduled Bank in Hindi: शेड्यूल बैंक क्या है? और इसके फंक्शन क्या है, जानिए
x
Scheduled Bank in Hindi: भारत के बैंकिंग सेक्टर को मुख्य रूप से दो ग्रुप - शेड्यूल और नॉन-शेड्यूल में विभाजित किया जा सकता है। इस पोस्ट में हम जनेंगे कि शेड्यूल बैंक क्या है? (What is Scheduled Bank in Hindi) और अनुसूचित बैंकों के कार्य (Function of Scheduled Banks in Hindi) क्या है?

Scheduled Bank in Hindi: पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (PPBL) ने पिछले वर्ष में अनुसूचित बैंक (Scheduled Bank) का दर्जा प्राप्त किया है। यह दर्जा भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा प्रदान किया गया था। इसके साथ, पेटीएम बैंक को भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम, 1934 की सेकंड शेड्यूल में शामिल किया गया है। इससे कंपनी को अधिक उत्पाद और वित्तीय सेवाएं प्रदान करने में मदद मिलेगी। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि लगभग 33.3 करोड़ पेटीएम वॉलेट हैं जो बैंक द्वारा समर्थित हैं। यह ग्राहकों को 2.11 करोड़ से अधिक इन-स्टोर व्यापारियों और 87,000 ऑनलाइन व्यापारियों को भुगतान करने में सक्षम बनाता है। आइए इस पोस्ट में शेड्यूल बैंकों के बारे में अधिक समझते हैं।

शेड्यूल बैंक क्या है? | What is Scheduled Bank in Hindi

Scheduled Bank in Hindi: भारत में बैंकों के लिए विभिन्न सब कैटेगिरी हैं। भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम, 1934 की दूसरी अनुसूची या अनुसूची II के तहत सूचीबद्ध बैंकों को अनुसूचित बैंक (Scheduled Bank) के रूप में जाना जाता है। इस कैटेगिरी के अंतर्गत आने के लिए बैंक की जुटाई गई धनराशि और चुकता पूंजी कम से कम 5 लाख रुपये होनी चाहिए। इसके अलावा, जिन बैंकों को शेड्यूल स्टेटस मिला है, वे सेंट्रल बैंक से कम ब्याज वाले ऋण के लिए उत्तरदायी हैं। कई अन्य दायित्व हैं जिन्हें सभी शेड्यूल बैंकों को पूरा करने की आवश्यकता है। उनमें से एक भारतीय रिजर्व बैंक के साथ एवरेज डेली कैश रिज़र्व रेश्यो बनाए रखना है।

शेड्यूल बैंक के प्रकार | Types of Schedule Bank in Hindi

● शेड्यूल II के तहत सभी बैंकों को आगे वर्गीकृत किया गया है -

● Scheduled कमर्शियल पब्लिक सेक्टर बैंक

● SBI और उसके सहयोगी

● Scheduled कमर्शियल प्राइवेट सेक्टर बैंक

● पुराने प्राइवेट बैंक

● भारत में अनुसूचित विदेशी बैंक

● नए प्राइवेट सेक्टर के बैंक

शेड्यूल बैंकों के कार्य | Function of Scheduled Banks in Hindi

● जनता से जमा की स्वीकृति

● उधार देने की सुविधा

● डिमांड विथडरॉल की सुविधा

● फंड ट्रांसफर की सुविधा

● ड्राफ्ट जारी करना

● ग्राहकों को लॉकर सुविधा प्रदान करना

● फॉरेन एक्सचेंज से निपटना

इन सबके अलावा शेड्यूल बैंकों को अधिक स्थिर माना जाता है और इसलिए इसकी संभावना नहीं है जिससे जमाकर्ताओं के अधिकारों को ठेस पहुंचे। वहीं, Scheduled Banks भारतीय रिजर्व बैंक से धन उधार लेने के लिए अधिकृत हैं।

ये भी पढ़ें -

Features of Savings Account: बैंक एकाउंट खुलवाने से पहले जरूर जान लें बचत खाते की 10 विशेषताएं

What is a bank और क्यों है इसके बारे में आपके लिए जानना ज़रूरी

Repo Rate Kya Hai? : What is Repo Rate in Hindi

Next Story