आर्थिक

PAN Card Kya Hai?: पैन कार्ड किस काम आता है और इसपर लिखे 10 डिजिट का क्या मतलब होता है?

Ankit Singh
14 Jan 2022 8:39 AM GMT
PAN Card Kya Hai?: पैन कार्ड किस काम आता है और इसपर लिखे 10 डिजिट का क्या मतलब होता है?
x
PAN Card in Hindi: पैन कार्ड आईडी कार्ड के रूप में इस्तेमाल तो होता ही है साथ साथ वित्तीय लेनदेन के कार्यों में इसकी प्रमुखता से जरूरत होता है। अपने इसपर अंकित 10 डिजिट का मतलब भी खास होता है। जो इस लेख में हम आपको बताने जा रहे। तो चलिए विस्तार से जानते है कि PAN Card Kya Hai? (What is PAN Card in Hindi)

PAN Card in Hindi: आधार कार्ड या वोटर आईटी कार्ड की तरह, पैन कार्ड (PAN Card) किसी भी बड़े कार्य को करने के लिए आवश्यक सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेजों में से एक है। PAN Card Kya Hai? (What is PAN Card in Hindi) और इसका उपयोग कैसे किया जाता है, इसके बारे में आप शायद जानते होंगे, लेकिन पैन कार्ड के बारे में कुछ महत्वपूर्ण चीजें हैं जिन्हें आपको जानना आवश्यक है।

PAN Card Kya Hai?, पैन कार्ड आवेदन करने के लिए आवश्यक पात्रता, इसके प्रकार (Types of PAN Card in Hindi) और आप इसके लिए कैसे आवेदन कर सकते हैं, इसकी विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लेख को पढ़ना जारी रखें।

PAN Card Kya Hai? | What is PAN Card in Hindi

PAN Card in Hindi: पैन स्थायी खाता संख्या का संक्षिप्त रूप है। इसपर 10 अंकों का यूनिक अल्फान्यूमेरिक संख्या अंकित होतो है जो भारत के आयकर विभाग द्वारा प्रत्येक करदाता को जारी किया जाता है। प्रत्येक व्यक्ति के लिए प्रत्येक पैन नंबर अलग और यूनिक होता है।

PAN Number किसी व्यक्ति की फाइनेंसियल एक्टिविटीज का रिकॉर्ड रखता है और सभी प्रकार के भुगतानों का एक अभिन्न अंग है। दिखने में एक पैन कार्ड एक फिजिकल प्लास्टिक कार्ड होता है, जिस पर व्यक्ति का नाम, जन्म तिथि और एक तस्वीर के साथ उसका पैन नंबर लिखा होता है।

PAN Number जीवन भर के लिए वैध रहता है क्योंकि यह पते या जॉब प्रोफाइल में किसी भी बदलाव से अप्रभावित रहता है और इस प्रकार इसे पहचान के प्रमाण के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

पैन कार्ड की संरचना | Structure of a PAN Card

PAN Card केवल व्यक्ति के मूल विवरण वाला कार्ड नहीं है, बल्कि और भी बहुत कुछ है। इसे इस तरह से डिजाइन किया गया है कि हर एक स्पेशल करैक्टर और अल्फाबेट इस पर लिखी गई कई चीजों को परिभाषित करते हैं। नीचे दिया गया है कि कैसे एक पैन कार्ड संरचना को परिभाषित किया जा सकता है-

पैन कार्ड में दर्ज 10 डिजिट का मतलब?

PAN Card Number के पहले तीन डिजिट अंग्रेजी लेटर होते हैं। जो AAA से ZZZ तक रहता है। यह तीनों डिजिट कौन से होंगे इसे आयकर विभाग तय करता है। पैन का चौथा अक्षर आयकरदाता के स्टेटस को दिखता है। पैन कार्ड नंबर का चौथा डिजिट भी अंग्रेजी का होता है। उसका डिजिट का मतलब भी खास होता है। जैसे -

"P" किसी एक व्यक्ति के लिए

"C" कंपनी के लिए

"H" हिंदू अनडिवाइडेड फैमिली (HUF) के लिए

"A" लोगों के समूह (AOP) के लिए

"B" व्यक्तियों के निकाय (BOI) के लिए

"G" सरकारी एजेंसी के लिए

"J" कृत्रिम न्यायिक व्यक्ति (Artificial Juridical Person) के लिए

"L" स्थानीय निकायों के लिए

"F" फर्म/ लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप (LLP) के लिए

"T" ट्रस्ट के लिए

PAN Card का पांचवां अक्षर भी अंग्रेजी का होता है। यह धारक के सरनेम (जाति) के हिसाब से तय होता है।

इसके PAN Card कार्ड में आपको 4 नंबर दिख जाएंगे। यह नंबर 0001 से लेकर 9999 तक, कोई भी हो सकते हैं। पैन कार्ड पर दर्ज ये नंबर उस सीरीज को बताते हैं, जो मौजूदा समय में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट में चल रही होती है। और अंत में आखिरी डिजिट एक अल्फाबेट चेक डिजिट होता है, यह कोई भी लेटर हो सकता है।

पैन कार्ड कितने प्रकार के होते हैं? | Types of PAN Card in Hindi

PAN Card in Hindi: पैन कार्ड भी विभिन्न प्रकार के होते है जिनमें से प्रत्येक एक अलग उद्देश्य के लिए है जैसा कि नीचे बताया गया है-=

- संगठनों और कंपनियों के लिए पैन कार्ड

- कोआपरेटिव सोसाइटीज और ट्रस्ट के लिए पैन कार्ड

- व्यक्तिगत करदाताओं के लिए पैन कार्ड

- व्यावसायिक इकाइयों या साझेदारी फर्मों के लिए पैन कार्ड

पैन कार्ड के लिए कौन एलिजिबल है? | Who is Eligible for a PAN Card?

PAN Card in Hindi: इनकम टैक्स के क्लॉज के अनुसार, निम्नलिखित श्रेणियों के तहत भारतीय निवासी पैन कार्ड रखने के पात्र हैं-

  • सेल्फ एम्प्लॉयड पेशेवर या बिजनेसमैन जिनका वार्षिक कारोबार 5 लाख रुपए या उससे अधिक है।
  • वे व्यक्ति जो कर का भुगतान करने के लिए उत्तरदायी हैं या जो कर का भुगतान करते हैं।
  • व्यक्ति जो आयात और निर्यात गतिविधियों में हैं।
  • रजिस्टर्ड एसोसिएशन, आर्गेनाइजेशन या ट्रस्ट

इसके अलावा NRI (भारत के गैर-निवासी), PIO (भारतीय मूल के व्यक्ति), OCI (भारत के प्रवासी नागरिक), कार्डधारक के साथ-साथ विदेशी जो 1961 के आयकर अधिनियम के तहत आते हैं, वे आवेदन करने के पात्र हैं। माता-पिता अपने नाबालिग बच्चों के लिए पैन कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।

पैन कार्ड का उपयोग कब किया जाता है? | When is PAN card used?

आयकर उद्देश्यों के अलावा निम्नलिखित मामलों में भी पैन कार्ड का उपयोग किया जाता है-

1. पहचान प्रमाण के रूप में

आप आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड के अलावा पहचान के प्रमाण के रूप में पैन कार्ड का उपयोग कर सकते हैं। कई अलग-अलग प्रकार के वित्तीय लेनदेन के लिए पैन कार्ड स्वीकार किए जाते हैं।

2. आयकर रिटर्न

पैन कार्ड उन व्यक्तियों और संस्थाओं के लिए अनिवार्य है जो अपना आईटी रिटर्न दाखिल करने के योग्य हैं।

3. इनकम टैक्स रिटर्न क्लेम

जब टीडीएस काटा गया वास्तविक भुगतान किए जाने वाले कर से अधिक होता है। ऐसे मामलों में करदाता पैन कार्ड को अपने बैंक खाते से जोड़कर अतिरिक्त राशि का दावा कर सकता है।

4. बैंक खाता खोलते वक़्त

आप पैन कार्ड जैसे आवश्यक दस्तावेज जमा करके आसानी से बैंक खाता खोल सकते हैं।

5. संपत्ति कार्यों के लिए

संपत्ति खरीदने, किराए पर देने या बेचने के लिए आपके पास प्रमाण के रूप में एक पैन कार्ड होना चाहिए।

6. लोन लेने के लिए

लोन आवेदन प्रक्रिया के समय आपको अपने पैन कार्ड के साथ सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने होंगे। किसी भी प्रकार का लोन लेने के लिए पैन कार्ड एक अनिवार्य दस्तावेज है।

7. फिक्स्ड डिपाजिट के लिए

अगर आप फिक्स्ड डिपाजिट के तौर पर 50 हजार रुपये से अधिक का निवेश करना चाहते है तो पैन कार्ड की आवश्यकता होती है क्योंकि बैंक FD ब्याज राशि पर TDS काटते है।

8. टेलीफोन कनेक्शन के लिए

यदि आप एक नया टेलीफोन या मोबाइल कनेक्शन लेना चाहते हैं, तो आपको सेलुलर ऑपरेटरों के साथ अपना पैन विवरण जमा करना होगा।

9.आभूषण खरीदने के लिए

5,00,000 रुपये से अधिक मूल्य के आभूषण खरीदने के लिए आपको अपना पैन कार्ड विवरण जमा करना होगा।

10. विदेशी मुद्रा

अगर आप अपनी भारतीय मुद्रा को विदेशी मुद्रा में बदलना चाहते हैं, तो आपको अपने पैन कार्ड का विवरण मनी एक्सचेंज अंतर्ज्ञान में जमा करना होगा।

11. इन्वेस्टमेंट पर्पस के लिए

अगर आप सिक्योरिटीज में निवेश करने की योजना बना रहे हैं, तो आपको 50,000 रुपये से अधिक के लेनदेन के लिए संबंधित अधिकारियों को अपना पैन विवरण जमा करना होगा।

पैन कार्ड के बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज | Documents Required for PAN Card

पैन कार्ड के लिए आवेदन करने के लिए निम्नलिखित दस्तावेज जमा करने होंगे-

इंडिविजुअल के लिए - पासपोर्ट, वोटर आईडी, POI/POA, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस की फोटोकॉपी

ट्रस्ट के लिए - ट्रस्ट डीड की कॉपी या रजिस्ट्रेशन नंबर का सर्टिफिकेट

कंपनीज के लिए - कंपनी रजिस्ट्रार द्वारा जारी पंजीकरण प्रमाण पत्र की फोटोकॉपी

हिंदू अविभाजित परिवार (HUF) के लिए - HUF के प्रमुख द्वारा जारी HUF हलफनामे की प्रति और POI/POI डिटेल और जन्म तिथि का प्रमाण

पार्टनरशिप/फर्म के लिए - फर्मों के रजिस्ट्रार और पार्टनरशिप डीड द्वारा जारी पंजीकरण प्रमाण पत्र की फोटोकॉपी

सोसाइटी के लिए - सहकारी समिति के रजिस्ट्रार या चैरिटी कमिश्नर से पंजीकरण संख्या के प्रमाण पत्र की फोटोकॉपी

विदेशियों के लिए - भारत सरकार द्वारा जारी पासपोर्ट POI/OCI कार्ड, रेजिडेंट देश का बैंक डिटेल, भारत में एनआरई बैंक बैंक की फोटोकॉपी

पैन कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें? | How to Apply for a PAN Card in Hindi

PAN Card in Hindi: पैन कार्ड के लिए आवेदन करने के दो तरीके हैं- ऑनलाइन और ऑफलाइन। यहां नीचे दोनों तरिके बताये गए।

पैन कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन

  • NSDL या UTIITSL के आधिकारिक वेब पोर्टल पर जाएं।
  • इसके बाद पैन एप्लीकेशन फॉर्म का पता लगाएं और उसे ठीक से भरें।
  • 2 पासपोर्ट साइज के फोटो के साथ सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करें।
  • आवश्यक शुल्क का भुगतान करें।
  • आपका पैन कार्ड 15 दिनों के अंदर आपके दिए गए एड्रेस पर डाक द्वारा पहुंच जाएगा।

पैन कार्ड के लिए ऑफलाइन आवेदन

  • पैन सेंटर पर जाएं।
  • सटीक जानकारी के साथ पैन एप्लीकेशन फॉर्म भरें। और 2 पासपोर्ट साइज की फोटो जमा करें।
  • अब आवेदन के साथ सभी सहायक दस्तावेज, और प्रोसेसिंग फीस जमा करें।
  • आपका पैन कार्ड जमा करने की तारीख से 15 दिनों के भीतर भेज दिया जाएगा।

ये भी पढें -

खो गया है पैन कार्ड? तो न हो परेशान, यहां जानें Duplicate PAN Card के लिए कैसे करें आवेदन

Link your pan card and Aadhaar card in 5 minutes: घर से ही अपना पैन कार्ड और आधार कार्ड लिंक करें

Life Insurance: Endowment Plan Kya Hai? | Benefits of Endowment Policy in हिंदी

Secured vs Unsecured Loans : सिक्‍योर्ड और अनसिक्‍योर्ड लोन में क्‍‍‍‍या अंतर होता है? यहां समझें

Financial Planning: इन संकेतों को समझे और तुरंत हो जाएं अलर्ट, वरना कर्ज के जाल में फंसकर हो जाएंगे बर्बाद

Next Story