आर्थिक

EPF in Hindi: EPF क्या है और इसके फायदें क्या है? जानिए Employees' Provident Fund से जुड़ी सभी जानकारी

Ankit Singh
13 Jan 2022 12:15 PM GMT
EPF in Hindi: EPF क्या है और इसके फायदें क्या है? जानिए Employees Provident Fund से जुड़ी सभी जानकारी
x
EPF in Hindi: आमतौर पर नौकरी करने वाले लोगों को पता होता है कि EPF क्या होता है लेकिन बहुत से लोग ऐसे भी है जो यह नहीं जानते है कि EPF Kya Hai? (What is EPF in Hindi) तो चलिए इस लेख आपको EPF से जुड़ी सारी जानकारी आपको बताते है।

EPF in Hindi: जो लोग नौकरी करते है वह EPF जैसे शब्द से वाकिफ़ होते है। EPF full form - Employees Provident Fund है और हिंदी में कर्मचारी भविष्य निधि के नाम से जाना जाता है जो रिटारमेंट और नौकरी छोड़ने के समय दिया जाता है। किसी भी कंपनी में कर्मचारियों के लिए पीएफ स्किम बहुत फायदेमंद होती है क्योंकि यह न केवल आपकी सेविंग करने का अच्छा तरीका है बल्कि इस पर अच्छी ब्याज दर, टैक्स छूट इत्यादि जैसी तमाम खूबियां इसे खास बनाती हैं। तो चलिए इस लेख में विस्तार से जानते है कि EPF Kya Hai? (What is EPF in Hindi) और इसके फायदें (Benefits of EPF in Hindi) क्या है।

EPF Kya Hai? | What is EPF in Hindi

EPF in Hindi: ईपीएफ या कर्मचारी भविष्य निधि ( Employees' Provident Fund) सरकार द्वारा संचालित तरीका है जो कामकाजी व्यक्तियों को उनकी रिटायरमेंट के लिए बचत करने के लिए प्रभावित करता है। आइए गहराई से देखें कि इस फंड की शुरुआत कैसे हुई और यह कैसे लोगों को अपने बुढ़ापे की बेहतरी के लिए बचत करने की अनुमति देता है।

ईपीएफ का इतिहास | The History of EPF in Hindi

EPF in Hindi: कर्मचारी भविष्य निधि (Employees' Provident Fund) को 1952 में श्रम और रोजगार मंत्रालय द्वारा लॉन्च किया गया था। EPF का मुख्य उद्देश्य कर्मचारियों के बीच बचत को बढ़ावा देना है ताकि जरूरत पढ़ने पर कर्मचारी बचत के पैसों का सही कर सकें। शुरुआत से लेकर अभी तक श्रम और रोजगार मंत्रालय ही सक्रिय रूप से EPF का प्रबंधन कर रहा है।

इस योजना को लागू करने के पीछे का विचार कर्मचारियों को उनकी कड़ी मेहनत और संगठनों के प्रति समर्पण के लिए एक पुरस्कार के रूप में सोशल सिक्योरिटी और एक सुरक्षित भविष्य प्रदान करना था।

EPF को कर्मचारी भविष्य निधि अधिनियम के तहत सभी कामकाजी पेशेवरों के लिए अनिवार्य कॉन्ट्रिब्यूशन के रूप में लागू किया गया था।

EPF के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें | Some Important things about EPF

कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं के बारे में आपको नीचे बताया गया है-

  • कानून में कहा गया है कि अगर कोई भी व्यवसाय जिसमें 20 या उससे अधिक कर्मचारी हैं तो उस संगठन को ईपीएफ संगठन (EPFO) के तहत रजिस्टर्ड करना होगा।
  • प्रत्येक कर्मचारी के लिए केवल एक व्यक्तिगत ईपीएफ खाता होता है।
  • नियोक्ता (कंपनी) और कर्मचारी दोनों मासिक आधार पर कर्मचारी के महंगाई भत्ते और बेसिक सैलरी में से प्रत्येक का 12% EPF में योगदान करते हैं।
  • आपात स्थिति में कर्मचारी एक साल काम करने के बाद अपने EPF का एक हिस्सा निकाल सकते हैं।
  • एनजीओ संगठन कर्मचारी के महंगाई भत्ते और बेसिक सैलेरी का 10% EPF में योगदान करते हैं।
  • कर्मचारी के EPF में जमा हुआ पैसा 8.5% के ब्याज के साथ जमा होता है।

ईपीएफ के फायदें | Benefits of EPF in Hindi

EPF in Hindi: कर्मचारी भविष्य निधि (Employees' Provident Fund) में निवेश करने के कुछ फायदें निम्नलिखित हैं।

  • अगर आपको अपने EPF से सबंधित कोई शिकायत करनी हो तो आप EPFO के माध्यम से कर सकते है।
  • EPF एक वैधानिक निकाय द्वारा शासित है, इसलिए सभी संगठनों के लिए EPFO द्वारा निर्धारित सभी नियमों का पालन करना अनिवार्य है।
  • EPFO ऑनलाइन सेवाओं को आसानी से उपलब्ध कराता है।
  • EPF की मदद से क्लेम सेटलमेंट का समय 20 दिन से घटाकर 3 दिन कर दिया गया है।
  • कर्मचारियों के लिए EPF उन्हें लंबे समय में बहुत सारा पैसा बचाने की अनुमति देता है।
  • EPF में मासिक योगदान से कर्मचारियों के लिए अपनी आवश्यकता के लिए अच्छी रकम बचाना आसान हो जाता है, क्योंकि उन्हें निवेश के लिए एकमुश्त राशि निकालने की आवश्यकता नहीं होती है।
  • कर्मचारी आपात स्थिति के समय अपने EPF का एक हिस्सा भी निकाल सकते हैं।
  • EPF कर्मचारियों के लिए एक रिटायरमेंट फंड का निर्माण करते हुए उनके लिए लांग टर्म निवेश का स्रोत बनाता है।
  • कर्मचारी के वेतन का वह हिस्सा जो ईपीएफ के लिए काटा जाता है, उसपर टैक्स नहीं लगता है।
  • अगर कोई कर्मचारी नौकरी बदलता है तो वह अपना EPF एकाउंट दूसरे कंपनी में ट्रांसफर करवा सकता है।
  • EPF एक बड़ा टैक्स सेविंग साधन है।

EPFO और उसकी सेवाएं | EPFO and its Services

EPFO in Hindi: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन या EPFO भारत सरकार द्वारा बनाया गया मजबूत गवर्निंग बॉडी है जो कर्मचारी भविष्य निधि के एक हिस्से के रूप में कार्य करता है।

EPFO संगठनों और उनके कर्मचारियों को विभिन्न सेवाएं प्रदान करता है, जिससे उन्हें फंड के विभिन्न पहलुओं को समझने में मदद मिलती है। EPFO द्वारा प्रदान की जाने वाली कुछ प्रमुख सेवाएं नीचे बताई गई हैं-

1. ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

कोई भी कंपनी अपना और अपने कर्मचारियों का पंजीकरण ऑनलाइन EPFO पोर्टल पर कर सकते है। यह बहुत ही आसान है।

2. UAN डिटेल कर सकते है जनरेट

कर्मचारी EPFO ऑनलाइन पोर्टल का उपयोग करके अपना UAN डिटेल जनरेट कर सकते है और फिर पीएफ से संबंधित सभी सूचनाओं तक आसान पहुंच के लिए उमंग ऐप में लॉग इन कर सकते हैं।

3. ऑनलाइन ईपीएफ सब्सक्रिप्शन

संगठन आसानी से पीएफ पेमेंट या सब्सक्रिप्शन ऑनलाइन कर सकते हैं।

4. शिकायतों का निवारण

पेंशन के निपटान, पीएफ निकासी, पीएफ ट्रांसफर आदि के संबंध में पूछताछ के मामले में ईपीएफ सदस्य शिकायत कर सकते हैं।

5. ऑनलाइन क्लेम ट्रांसफर स्टेटस और पासबुक

EPF सदस्य आसानी से अपने PF क्लेम की स्थिति की जांच कर सकते हैं या UAN की मदद से अपने PF पासबुक की जांच या डाउनलोड कर सकते हैं।

6. मिस्ड कॉल और एसएमएस सेवा

उपयोगकर्ता आसानी से एक SMS भेजकर या मिस्ड कॉल (011-22901406) के जरिए अपने खाते की जानकारी प्राप्त कर सकते है। SMS के लिए उदाहरण - (EPFOHO UAN to 7738299899)

कर्मचारी भविष्य निधि के लिए पात्रता | Eligibility for EPF in Hindi

  • जिन कर्मचारियों का मासिक वेतन 15 हजार या उससे अधिक होता है वह EPF के लिए पात्र होते है।
  • 20 कर्मचारियों के बराबर या अधिक कर्मचारियों वाले संगठनों को EPF योजना के लिए नामांकन करना होगा।
  • जम्मू और कश्मीर को छोड़कर भारत के सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेश में EPF योजना का लाभ उठाया जा सकता है।

जरूरी बात -

यह ध्यान रखना जरूरी है कि कंपनी और कर्मचारी दोनों के लिए कर्मचारी के महंगाई भत्ते और मूल वेतन (Basic Salary) के बराबर हिस्से का EPF में योगदान करना अनिवार्य है। कंपनी कर्मचारी के वेतन का 12% EPF में योगदान देता है। इसी तरह कर्मचारी के वेतन का 12% कंपनी द्वारा EPF में मासिक योगदान के रूप में काटा जाता है।

ये भी पढें -

Checking PF Account Balance Online in Hindi: अपना पीएफ अकाउंट कैसे चेक करें?

ऐसे जानें अपने PF अकाउंट नंबर में छुपी ये खास जानकारियां, मिलेगा लाभ

How To Check PF Balance in Hindi: इन चार तरीकों से चेक कर सकते हैं पीएफ खाते का बैलेंस

फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीदते वक्त न करें लापरवाही, इन 6 टिप्स के जरिए चुने बेस्ट पॉलिसी

Insurance Kya Hota Hai? : What is Insurance in Hindi | जानिए बीमा कितने तरह का होता है

Next Story