आर्थिक

Digital Rupee Kya hai? | डिजिटल रुपया कैसे काम करता है और यह बिटकॉइन से कितना अलग है? समझें

Ankit Singh
5 Feb 2022 6:22 AM GMT
Digital Rupee Kya hai? | डिजिटल रुपया कैसे काम करता है और यह बिटकॉइन से कितना अलग है? समझें
x
Digital Rupee: बजट 2022 में वित्तमंत्री ने Digital Rupee को बढ़ावा देने की बात कही है। ऐसे में आइए समझते है कि Digital Rupee Kya Hai (What is Digital Rupee in Hindi) यह कैसे काम काम करता है? (How does Digital Rupee work?) और क्या यह बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी से अलग है?

Digital Rupee in Hindi: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitaraman) ने अपने केंद्रीय बजट 2022 (Budget 2022) के भाषण के दौरान क्रिप्टोकरेंसी से संबंधित कुछ प्रमुख घोषणाएं कीं, विशेष रूप से क्रिप्टो इनकम पर नया टैक्स लेने की बात कही गई। अधिकांश लोग यह देखने के लिए उत्सुक थे कि क्या क्रिप्टोकरेंसी अपनी छाप बनाती है, लेकिन सरकार अपनी डिजिटल रुपया (Digital Rupee) मुद्रा की घोषणा करके एक नई दिशा में चली गई है।

सरकार द्वारा कहा गया है कि Digital Rupee इस साल के अंत तक उपलब्ध होगा। इसे सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (CBDC) कहते हुए, घोषणा में कहा गया है कि डिजिटल रुपया (Digital Rupee) डिजिटल अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देगा। तो Digital Rupee Kya hai? (What is Digital Rupee in Hindi), यह कैसे काम करता है (How does Digital Rupee work?) और क्या यह बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी से अलग है? इसे आसानी से समझने के लिए आगे पढ़ना जारी रखें।

Digital Rupee Kya hai? | What is Digital Rupee in Hindi

Digital Rupee मूल रूप से रेगुलर करेंसी का डिजिटल रूप है जिसका उपयोग हम दैनिक लेनदेन के लिए करते हैं। डिजिटल मुद्रा के माध्यम से आप अपने पैसे को डिजिटल रूप से स्टोर कर सकते है। Digital Rupee ब्लॉकचेन तकनीक द्वारा संचालित है जो मुद्रा प्रबंधन को सस्ता बनाता है, जिससे सरकार भविष्य में कम नोट छाप सकती है। चूंकि करेंसी डिजिटल रूप से ऑपरेट होती है तो इसका जीवनकाल भी बढ़ता है, क्योंकि आप Digital Rupee को नष्ट नहीं कर सकते हैं या उसे खो नहीं सकते है।

डिजिटल रुपया कैसे काम करेगा | How does Digital Rupee work?

भले ही Digital Rupee ब्लॉकचेन तकनीक द्वारा संचालित होगा लेकिन इसकी निगरानी केंद्रीय निकाय द्वारा की जाएगी, जो विभिन्न कारणों से मुद्रा में अस्थिरता को रोकता है। चूंकि डिजिटल रुपया फिएट मुद्रा (Fiat Currency) का एक और रूप है, इसलिए यह डिजिटल भुगतान को एक नए स्तर पर ले जाने की संभावना है। हम अभी भी नहीं जानते हैं कि सरकार Digital Rupee को सिस्टम में कैसे डालने की योजना बना रही है।

क्या डिजिटल रुपया बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरंसी से अलग है?

Digital Rupee में क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) के सभी ब्लूप्रिंट हैं। यह ब्लॉकचेन तकनीक पर आधारित है और भविष्य के लिए फिजिकल करेंसी पर निर्भरता को कम करने का प्रयास करता है। हालांकि बिटकॉइन पर किसी भी गवर्निंग बॉडी का अधिकार नहीं है, फ्रॉड होने की स्थिती में आपकी रक्षा न के बराबर है। बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी उसी आधार पर बनाई गई है। लेकिन जब Digital Rupee की बात आती है, तो नियंत्रण की स्थिति भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के पास होती है, जो अन्य बैंकिंग संस्थाओं के साथ अपना नेटवर्क स्थापित करेगा।

हम Digital Rupee के बारे में तब और जानेंगे जब सरकार अधिक जानकारी प्रदान करेगी, जो वित्त वर्ष 2022-23 के अंत से पहले होने वाला है।

ये भी पढ़ें -

Sensex vs Nifty: आसान भाषा में समझें क्या होते हैं सेंसेक्स और निफ्टी? दोनों के बीच क्या है अंतर

What is e-Rupi in Hindi : e-RUPI कैसे करता है काम और कहां होगा इस्तेमाल, विस्तार से जानें

Aadhaar Card की डिटेल को कितनी बार अपडेट किया जा सकता है? जानिए UIDAI का नियम

Next Story