आर्थिक

Self Employed Personal Loan क्या है? यह किसे मिलता है और इसके लाभ क्या है, जानें

Ankit Singh
24 Dec 2021 8:07 AM GMT
Self Employed Personal Loan क्या है? यह किसे मिलता है और इसके लाभ क्या है, जानें
x
Self Eemployed Personal Loan: अगर आप सेल्फ एम्प्लॉयड है और खुद के पेशे और बढ़ाना चाहते है तो आपके लिए स्व-व्यवसायी व्यक्तिगत ऋण (सेल्फ एम्प्लॉयड पर्सनल लोन) एक बढ़िया विकल्प हो सकता है। इस तरह के लोन को प्राप्त करने के लिए क्या नियम और शर्ते है? उसके लिए लेख को पढ़ना जारी रखें।

बैंकों द्वारा कई प्रकार के पर्सनल लोन (Personal Loan) प्रदान किए जाते है। इन्ही में से एक है सेल्फ एम्प्लॉयड पर्सनल लोन (Self Employed Personal Loan) यह लोन खासकर ऐसे व्यक्तियों को दिया जाता है जो स्व-व्यवसायी (Self Employed) है। ये सेल्फ एम्प्लॉयड व्यक्ति बिजनेसमैन, दुकान या कारखाने के मालिक या निजी व्यवसायी हो सकते हैं। पेशेवर जैसे वकील, डॉक्टर, कोचिंग टीचर जो स्वयं अभ्यास करते हैं और रोजगार में नहीं हैं। इसलिए इन्हें सेल्फ एम्प्लॉयड पर्सन के रूप में जाना जाता है। ऐसे व्यक्ति जब लोन लेते है तो उनके लोन के प्रकार को Self-employed Personal Loan कहा जाता है। पर्सनल लोन ऐसे फंड होते हैं जिनका उपयोग कई तरह के उपयोगों के लिए किया जा सकता है। आइये पहले समझते है कि Personal Loan Kya Hai?

पर्सनल लोन क्या है? | What is Personal Loan in Hindi

पर्सनल लोन ऐसे लोन होते है जो किसी विशेष मकसद के लिए नहीं लिए जाते है। इस तरह के लोन बिना किसी कोलैटरल, को-एप्लिकेंट और गारंटर के मिल जाते है। पर्सनल लोन वेतनभोगी के साथ-साथ व्यावसायिक व्यक्तियों और स्वरोजगार व्यक्तियों के लिए भी है।

हालांकि सेल्फ एम्प्लॉयड पर्सनल लोन थोड़ा सा भिन्न है, यह लोन नौकरी पेशा व्यक्ति या वेतनभोगी व्यक्तियों के लिए नहीं होता है। यह उन सभी प्रोफेशनल्स के लिए है जो खुद से अपनी आय अर्जित करते हैं। वे या तो किसी अन्य प्रोफेशनल के साथ नौकरी करने के बजाय पेशे का अभ्यास करते हैं या अपने व्यवसाय के मालिक हैं।

Benefits of Self Employed Personal Loan in Hindi | सेल्फ एम्प्लॉयड पर्सनल लोन के लाभ

1. किसी भी काम के लिए कर सकते है इस्तेमाल

पर्सनल लोन बहुमुखी हैं क्योंकि उनका उपयोग कई कारणों से किया जा सकता है। इसका उद्देश्य घर के नवीनीकरण से लेकर शादी की योजना बनाना या छुट्टी का खर्च वहन करना हो सकता है। दूसरे लोन के विपरीत इसकी कोई सीमा नहीं है। उदाहरण के लिए होम लोन जिसका उपयोग आप कार या वाहन खरीदने के लिए नहीं कर सकते, बल्कि केवल गृह निर्माण/खरीद/विस्तार के लिए कर सकते हैं। इसी तरह आप एजुकेशन लोन का इस्तेमाल एजुकेशनल पेमेंट के लिए कर सकते हैं। हालांकि सेल्फ एम्प्लॉयड के लिए पर्सनल लोन को कई तरह उपयोग में लाया जा सकता है।

2. लचीलापन

Self-employed Personal Loan की खासियत यह है कि यह ब्याज दर और अवधि में लचीलापन (Flexibility) प्रदान करते है। आप कई के लोन के ब्याजदर और टाइम पीरियड को कैलकुलेट कर सकते है। इस तरह के लोन में आप EMI की अवधि को अपने हिसाब से तय कर सकते है।

3. कुछ भी गिरवी रखने की जरूरत नहीं

सेल्फ एम्प्लॉयड पर्सनल लोन प्री-एप्रूव्ड लोन होते है, इसमें आपको कोई संपत्ति गिरवी नहीं रखनी पड़ती है और न ही कोलैटरल की जरूरत पड़ती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि आपके आय का एक परमानेंट स्रोत सिक्योरिटी के उद्देश्य को पूरा करता है। आपको उन बैंकों से प्री-अप्रूव्ड लोन भी मिलता है, जहां आपका मौजूदा खाता है।

4. क्रेडिट कार्ड से भी होता है फायदा

क्रेडिट कार्ड के अपने फायदे हैं। बैंक खाते में पर्याप्त पैसा नहीं होने पर यह भुगतान करने में मदद करता है। एक अच्छा क्रेडिट स्कोर बनाए रखने और कैशबैक अर्जित करने के लिए क्रेडिट कार्ड भी फायदेमंद है। हालांकि यह उच्च ब्याज और चक्रवृद्धि ऋण के साथ भी आता है। जबकि Self Employed Personal Loan के लिए कम ब्याज दरों पर पर्सनल लोन उधार लिया जा सकता है। इसमें क्रेडिट कार्ड की तुलना में अधिक उधार लेने की सीमा भी है।

5. निश्चित ROI

Self-employed व्यक्तियों के लिए Personal Loan में एक निश्चित ROI होती है। मतलब यह है कि इसके ब्याज दरों में परिवर्तन नहीं होता है। पर्सनल लोन के लिए आपको एक फिक्स्ड मंथली भुगतान करना होता है।

Eligibility for Personal Loans for Self Employed | सेल्फ एम्प्लॉयड लोन के लिए पात्रता

- एक अच्छा क्रेडिट स्कोर बहुत ही महत्वपूर्ण है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह स्कोर कर्जदाता की क्रेडिबिलिटी को परिभाषित करता है। यह गारंटर की कमी को पूरा करता है।

-Self Employed Personal Loan के लिए व्यक्तियों की उम्र मायने रखती है। यह आयु सीमा 25 से 68 वर्ष के बीच है। हालांकि कुछ बैंक पेंशनभोगियों को पर्सनल लोन भी प्रदान करते हैं

- सेल्फ एम्प्लॉयड व्यक्तियों को कम से कम 2-3 साल के लिए पेशे में होना चाहिए। इसी तरह व्यवसाय के मालिकों के पास यह दिखाने के लिए प्रमाण होना चाहिए कि उनका व्यवसाय पिछले 2-5 वर्षों से चल रहा है।

- लोन देने वाले संस्थान या बैंक आमतौर पर 5 लाख रुपए की न्यूनतम सकल आय की अपेक्षा करते हैं।

- लोन प्राप्त के लिए आपके पास कारोबार के पेपर्स और आईटीआर पर्ची, बैंक खाते से संबंधित दस्तावेज होने चाहिए।

- स्वरोजगार/व्यवसाय, पता, पहचान और फोटोग्राफ के प्रमाण होने चाहिए।

- मौजूदा लोन या क्रेडिट कार्ड बिल है तो वो भी दिखाना होगा।

How to Improve Eligibility for Self employed Personal Loan? | सेल्फ एम्प्लॉयड लोन के लिए पात्रता में सुधार कैसे करें?

समय पर EMI का भुगतान करके हमेशा एक अच्छा सिबिल स्कोर बनाए रखें, यह आपकी विश्वसनीयता सुनिश्चित करता है। यह लोन प्राप्त करने की संभावना को बढ़ाता है। एक अच्छा क्रेडिट स्कोर और योग्यता बनाए रखने के लिए आप कुछ चीजें कर सकते हैं-

- क्रेडिट कार्ड और EMI का समय पर भुगतान करें। पूरा भुगतान करने का प्रयास करें।

- मौजूदा लोन के साथ-साथ लोन निर्भरता को कम करें। आप क्रेडिट कार्ड का सीमित उपयोग करके और लोन को जल्दी से सेटल करके ऐसा कर सकते हैं।

- यदि उधार देने वाले संस्थान अनुमति देते हैं तो आप को-एप्लिकेंट के साथ आवेदन कर सकते हैं। उदाहरण के लिए पति या पत्नी, माता-पिता या परिवार के सदस्य। को-एप्लिकेंट होने से क्रेडिबिलिटी की संभावना और पुनर्भुगतान की गारंटी में सुधार होता है।

ये भी पढें-

Types of Savings Account in Hindi: सेविंग एकाउंट कितने तरह के होते है? विस्तार से समझिए

Crypto Credit Card Kya Hai? : What is Crypto Credit Card in Hindi

Saving Account पर कौन सा बैंक दे रहा सबसे ज्यादा Interest? यहां जानें देश के टॉप 10 Bank

घर बनवाने के लिए लेना चाहते हैं लोन? तो ये 10 तरह के Home Loan आपके लिए हो सकते है मददगार

Term Loan Kya Hai? : what is Term Loan in Hindi

Next Story