आर्थिक

Dividend in Share Market: डिविडेंड क्या होता है? कौन-कैसे उठा सकता है इसका फायदा, जानिए

Ankit Singh
2 July 2022 11:45 AM GMT
Dividend in Share Market: डिविडेंड क्या होता है? कौन-कैसे उठा सकता है इसका फायदा, जानिए
x
Dividend in Share Market: अगर आप शेयर बाजार के निवेशक हैं तो डिविडेंड या लाभांश के बारे में जरूर सुना होगा। इस आर्टिकल में आपको यही बताने वाले है कि शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या होता है और कौन उठा सकता है इसका फायदा?

Dividend in Share Market: शेयरहोल्डर इक्विटी में अपने निवेश पर दो तरह से रिटर्न कमाते हैं। पहला पूंजी मूल्यवृद्धि (Capital Appreciation) और दूसरा लाभांश (Dividend) प्राप्त करके जो कंपनियां अपने शेयरहोल्डर्स को भुगतान करती हैं। इस पोस्ट में हम चर्चा करेंगे कि शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या होता है?

शेयर मार्केट में डिविडेंड क्या है? | What is Dividend in Share Market?

प्रॉफिट कमाने वाली कंपनियां (अपने लेनदारों को भुगतान करने के बाद) उस प्रॉफिट को व्यवसाय में फिर से निवेश करना चुन सकती हैं, शेयरहोल्डर्स को इसका भुगतान कर सकती हैं, शेयरों को पुनर्खरीद कर सकती हैं या अपने कर्ज का भुगतान कर सकती हैं। जब शेयरहोल्डर्स को भुगतान किया जाता है, तो इसे लाभांश (Dividend) के रूप में जाना जाता है। ये भुगतान आमतौर पर कैश में किए जाते हैं जिसे कैश डिविडेंड के रूप में जाना जाता है, लेकिन कुछ मामलों में वे इन भुगतानों को स्टॉक के रूप में भी करना चुन सकते हैं जिसे स्टॉक डिविडेंड के रूप में जाना जाता है।

डिविडेंड यील्ड अक्सर निवेशकों के लिए एक आवश्यक फैक्टर होता है जब यह चुनते हैं कि कौन से स्टॉक में निवेश करना है। डिविडेंड यील्ड की गणना मौजूदा शेयर वैल्यू पर की जाती है।

उदाहरण - अगर ABC लिमिटेड 5 रुपए पर शेयर का डिविडेंड घोषित करता है और शेयर का बाजार मूल्य 250 रुपये है तो:

डिविडेंड यील्ड = पूरे साल का डिविडेंड/वर्तमान शेयर मूल्य

इस मामले में यह है: 5/250 = 0.02 या 2%

डिविडेंड का भुगतान किसी कंपनी के शेयर की कीमत के मौलिक मूल्य को प्रभावित नहीं करता है। कंपनियां जो अपने जीवन चक्र के शुरुआती चरण में हैं और उच्च विकास दर है, आमतौर पर ग्रोथ को सुविधाजनक बनाने के लिए कंपनी में अपने अधिकांश मुनाफे का फिर से निवेश करना पसंद करते हैं। अच्छी तरह से स्थापित कंपनियां वफादार शेयरहोल्डर्स को पुरस्कृत करने के लिए रेगुलर डिविडेंड का भुगतान करती हैं।

स्टॉक डिविडेंड क्या है? | What is Stock Dividend in hindi

स्टॉक डिविडेंड को कंपनी के शेयरों की संख्या में वृद्धि के रूप में वर्णित किया जा सकता है। नए शेयर मौजूदा शेयरहोल्डर्स को दिए जाते हैं। इन शेयरों का भुगतान मौजूदा शेयरधारकों को आनुपातिक आधार पर किया जाता है। ये भुगतान आम तौर पर अंशों में किए जाते हैं और प्रति शेयर भुगतान किए जाते हैं।

स्टॉक डिविडेंड कैसे काम करते हैं? | How do Stock Dividends Works?

एक कंपनी कई कारणों से स्टॉक डिविडेंड का भुगतान करना चुन सकती है। पहला यह कि वे कंपनी के कैश बैलंस को कम नहीं करना चाहते हैं या अपर्याप्त नकदी भंडार होने के बावजूद शेयरहोल्डर्स को पुरस्कृत करना चाहते हैं। स्टॉक डिविडेंड भुगतान शेयर की कीमत को कम कर सकता है, जिससे व्यापार में वृद्धि हो सकती है और तरलता में सुधार हो सकता है। कम शेयर की कीमतें तरलता में वृद्धि करती हैं क्योंकि किसी के शेयर को बेचने की अधिक महत्वपूर्ण संभावना है जिस शेयर की कीमत 100 रुपए है और उसे बेचा न जाएं तो उसकी कीमत 5000 रुपए हो सकती है।

जो निवेशक तुरत कैश फ्लो प्राप्त करना चाहते हैं, उनके लिए कैश डिविडेंड एक बेहतर विकल्प की तरह लग सकता है। दूसरी ओर स्टॉक डिविडेंड निवेशक को एक विकल्प प्रदान करते हैं। वे इस उम्मीद में बड़े शेयरों के साथ कंपनी में निवेशित रहना चुन सकते हैं कि कंपनी फिर से निवेशित धन के साथ बेहतर प्रदर्शन करेगी या वे कुछ नए शेयर बेचने और अपने लिए कैश फकोव उत्पन्न करने का निर्णय ले सकते हैं।

ये भी पढ़े -

What is a Fractional Share in Hindi | क्या होते है फ्रैक्शनल शेयर? जानिए इनके क्या फायदें है

Volume in Share Market: शेयर मार्केट में वॉल्यूम क्या है? ट्रेडिंग के लिए यह जरूरी इंडिकेटर क्यों है?

भारत में कैसे हुआ Online Share Market का 'जन्म'? यहां पढ़िए पूरी कहानी

What is a Stop-Limit Order in Hindi | जानिए शेयर ट्रेडिंग में स्टॉप-लिमिट ऑर्डर क्या है?

Next Story