आर्थिक

Line of Credit in Hindi: क्रेडिट लाइन क्या है और यह कैसे काम करता है? जानिए लाइन ऑफ क्रेडिट के फायदें

Ankit Singh
3 March 2022 12:23 PM GMT
Line of Credit in Hindi: क्रेडिट लाइन क्या है और यह कैसे काम करता है? जानिए लाइन ऑफ क्रेडिट के फायदें
x
Line of Credit in Hindi: आप कई प्रकार के लोन के बारें में सुना होगा लेकिन क्या आप जानते है कि लाइन ऑफ क्रेडिट क्या है? (What is Line of Credit in Hindi) तो आइए लेख में समझते है कि Credit Line Kya hai? और इसके फायदें (Benefits of Line of Credit in Hindi) क्या है।

Line of Credit in Hindi: कई बार ऐसी स्थितियां आ जाती हैं जहां किसी व्यवसाय को आपातकालीन वित्तीय सहायता की आवश्यकता हो सकती है। हाल की स्थिती को देखा जाएं तो कोविड -19 लॉकडाउन सबसे बड़ा उदाहरण है, जहां व्यवसायों को बंद करना पड़ा, लेकिन फिर भी उन्हें ओवरहेड खर्च का भुगतान करना पड़ा। बिजनेस लोन या पर्सनल लोन जैसे ट्रेडिशनल लोन की कई लिमिटेशन होती हैं।

जैसे बैंक और NBFC केवल एक फिक्स्ड लिमिट से अधिक अमाउंट के लोन की पेशकश करते हैं। उन उधारकर्ताओं के लिए छोटी लोन राशि उपलब्ध नहीं है जो एक बड़ा लोन नहीं चाहते हैं। इसलिए उधारकर्ताओं को एक बड़ा लोन प्राप्त होता है, भले ही वे केवल लोन अमाउंट का एक अंश चाहते थे। इसके आलवा लोन अमाउंट का ब्याज दर संपूर्ण ऋण राशि पर होता है, जिसके परिणामस्वरूप ब्याज व्यय में वृद्धि होती है।

तो, इन लिमिटेशन को कम करने के लिए कोई क्या कर सकता है? इसका आंसर 'लाइन ऑफ क्रेडिट (Line of Credit)' या LOC कहलाता है। Line of Credit विशेष रूप से उधारकर्ताओं के लिए होती है जिन्हें लगातार अंतराल पर धन की आवश्यकता होती है। तो आइए विस्तार से समझते हैं कि क्रेडिट लाइन क्या है (What is Line of Credit in Hindi), इसके फायदें क्या है? (Benefits of Line of Credit in Hindi) और लाइन ऑफ क्रेडिट के लिए आवेदन कैसे करें (How to Apply for A Line of Credit)

लाइन ऑफ क्रेडिट क्या है? | What is Line of Credit in Hindi

Line of Credit in Hindi: जैसा कि नाम से पता चलता है, लाइन ऑफ क्रेडिट वित्तीय सहायता का एक निरंतर तरीका है जिसमें एक उधारकर्ता अपनी आवश्यकताओं के अनुसार लगातार अंतराल पर राशि उधार ले सकता है। आवेदक को एक निश्चित लोन अमाउंट के लिए आवेदन करना होता है, और एक बार यह अप्रूव हो जाने के बाद, उन्हें एक बार में पूरे अप्रूव्ड अमाउंट को उधार लेने की जरूरत नहीं होती है।

वे केवल उसी धनराशि को निकाल सकते हैं जिसकी उन्हें वर्तमान में आवश्यकता है और शेष राशि ऋणदाता के पास छोड़ सकते है। फिर अगर आगे चलकर उन्हें अधिक धन की आवश्यकता होती है, तो वे अतिरिक्त राशि उधार ले सकते हैं। इस मामले में ब्याज, केवल निकाली गई राशि पर लागू होता है न कि कुल स्वीकृत राशि पर।

लाइन ऑफ क्रेडिट (Line of Credit) का मुख्य लाभ यह है कि उधारकर्ता को ट्रेडिशनल लोन की तुलना में कम ब्याज का भुगतान करना पड़ता है। लाइन ऑफ क्रेडिट पर लिए लागू ब्याज उसी तरह है जैसे क्रेडिट कार्ड के लिए ब्याज काम करता है, जहां किसी को इस्तेमाल की गई राशि पर ब्याज का भुगतान करना होता है न कि पूरी क्रेडिट सीमा पर।

मान लीजिए एक ऋणदाता ने Line of Credit के जरिए 100,000 रुपए का लोन लिया और सिर्फ 30,000 रुपए ही विथडरॉल किया है तो ब्याज केवल 30,000 रुपए पर ही लागू होगा।

क्रेडिट लाइन के प्रकार | Types of Line of Credit in Hindi

मुख्य रूप से लाइन ऑफ क्रेडिट दो प्रकार के होते है, जो ऋणदाता द्वारा प्रदान किए जाते है-

सिक्योर्ड: इस तरह के लाइन ऑफ क्रेडिट लोन में कोलैटरल के तौर किसी मूल्यवान संपत्ति को गिरवी रखना पड़ता है। इसमें सुरक्षा शामिल है, इसलिए सिक्योर्ड लाइन ऑफ क्रेडिट की ब्याज दरें भी कम होती है।

अनसिक्योर्ड: बिना किसी सुरक्षा या कोलैटरल के एक अनसिक्योर्ड लोन अप्रूव किया जाता है। ये उधारदाताओं के लिए जोखिम भरा होता है इसलिए वे आपसे अधिक ब्याज दर वसूल सकते हैं।

लाइन ऑफ क्रेडिट के फायदें | Benefits of Line of Credit in Hindi

ट्रेडिशनल लोन की तुलना में Line of Credit के कई लाभ हैं। आइए इनमें से कुछ लाभों पर नजर डालते है-

  • लाइन ऑफ क्रेडिट के लिए ब्याज दरें आमतौर पर बिजनेस लोन या पर्सनल लोन की तुलना में कम होती हैं।
  • लाइन ऑफ क्रेडिट में उधारकर्ता अप्रूव्ड क्रेडिट लिमिट से अपनी इच्छानुसार किसी भी राशि का उपयोग कर सकता है। यह एक रेगुलर लोन के बिल्कुल विपरीत है, जहां ऋणदाता कुल ऋण राशि तय करता है, और आपको इसे पूरी तरह से उधार लेना होता है।
  • ब्याज केवल निकाली गई राशि के लिए लागू होता है।
  • छोटे व्यवसाय के मालिक और सेल्फ एम्प्लॉयड पर्सन लाइन ऑफ क्रेडिट के लोन का लाभ उठा सकते हैं क्योंकि वे अपनी आवश्यकताओं के अनुसार छोटी मात्रा में उधार ले सकते हैं, इस प्रकार वे जोखिम को सीमित कर सकते हैं और एक ही समय में वित्तीय सहायता सुनिश्चित कर सकते हैं।
  • लाइन ऑफ क्रेडिट के साथ व्यवसाय के मालिक निश्चिंत हो सकते हैं कि जरूरत पड़ने पर वित्त उपलब्ध होगा।
  • जो व्यक्ति पर्सनल लोन के लिए उच्च ब्याज दरों से बचना चाहते हैं, वे हमेशा अपनी व्यावसायिक जरूरतों के लिए लाइन ऑफ क्रेडिट देख सकते हैं।
  • एक LOC एक उच्च क्रेडिट लिमिट के साथ आता है जिसका उपयोग किसी भी समय किया जा सकता है, एक ट्रेडिशनल लोन के विपरीत जहां राशि ऋणदाता द्वारा पहले से तय की जाती है, और कोई इसे बाद में संशोधित नहीं कर सकता है।

लाइन ऑफ क्रेडिट के लिए आवेदन कैसे करें? | How to Apply for Line of Credit in Hindi

लाइन ऑफ क्रेडिट के लिए आवेदन करना लोन के लिए आवेदन करने के समान है। आप किसी बैंक या NBFC में जा सकते हैं और एप्लीकेशन फॉर्म भरकर और सभी डाक्यूमेंट्स प्रदान करके Line of Credit के लिए आवेदन कर सकते हैं। ऋणदाता आपकी मासिक आय, क्रेडिट स्कोर, पिछले ऋण, रीपेमेंट हिस्ट्री आदि का मूल्यांकन करेगा।

सभी तरह की जांच हो जाने के बाद बैंक या NBFC लोन राशि को अप्रूव कर देंगे।

ये भी पढ़ें -

सबसे बेस्ट Perosnal Loan Offer की पहचान करने के लिए इन 5 तरीकों को अपनाएं

बच्चों के सुरक्षित भविष्य के लिए जरूर खरीदें Child Insurance Plan, लेकिन इन बातों का भी रखें ध्यान

RD Interest Rate Calculator: जानिए रिकरिंग डिपॉजिट पर कैसे कैलकुलेट किया जाता है ब्याज?

क्रेडिट कार्ड पर लोन कैसे लें? | How to Get a Loan on Credit Card?

टैक्स बचाने के लिए ये है सबसे धांसू इन्वेस्टमेंट ऑप्शन, रिटर्न भी मिलेगा खूब

Next Story