आर्थिक

अगर Health Insurance Premium भरने से चूक जाते है तो क्या होगा? जानिए क्या है इससे जुड़े नियम

Ankit Singh
6 May 2022 6:15 AM GMT
अगर Health Insurance Premium भरने से चूक जाते है तो क्या होगा? जानिए क्या है इससे जुड़े नियम
x
Health Insurance Premium: बिजी लाइफस्टाइल होने के चलते यह संभव है कि आप हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम भुगतान की तारीख से चूक जाएं। ऐसे मामलों में आप क्या कर सकते हैं? आइए एक नजर डालते हैं।

Health Insurance Premium: एक हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी एक पॉलिसीहोल्डर और बीमा प्रदाता के बीच एक कॉन्ट्रैक्ट है जिसमें बीमाधारक समय पर प्रीमियम का भुगतान करने के लिए सहमत होता है और बदले में, बीमाकर्ता हेल्थ कवरेज की पेशकश करने के लिए सहमत होता है। यह स्पष्ट रूप से बताता है कि पॉलिसी को एक्टिव रखने के लिए आपको समय पर अपने प्रीमियम का भुगतान करते रहने की आवश्यकता है।

लेकिन व्यस्त जीवन के साथ, यह संभव है कि आप हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम भुगतान की तारीख से चूक जाएं। ऐसे मामलों में आप क्या कर सकते हैं? आइए एक नजर डालते हैं-

हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम भरने से चूक जाएं तो क्या होगा?

अगर आप समय पर बीमा प्रीमियम का भुगतान करने में विफल रहते हैं, तो आपके पास पॉलिसी द्वारा प्रदान किया गया कवरेज नहीं रहेगा। इसका मतलब यह है कि अगर आपने रिन्यूअल डेट तक प्रीमियम का भुगतान नहीं किया है और किसी कारण से चिकित्सा देखभाल की आवश्यकता है, तो बीमा प्रदाता अब आपके मेडिकल एक्सपेंस को कवर नहीं करेगा। मेडिकल बिलों का भुगतान अपनी जेब से करने के लिए पूरी तरह से आप स्वयं जिम्मेदार होंगे।

ग्रेस पीरियड क्या है?

प्रीमियम भुगतान की तारीख के बाद बीमा प्रदाताओं के पास आमतौर पर 7-15 दिनों की छूट अवधि होती है। यदि आपने नियत तारीख से पहले हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम का भुगतान नहीं किया है, तो आप अपनी पॉलिसी को व्यपगत होने से बचाने के लिए ग्रेस पीरियड के भीतर उसका भुगतान कर सकते हैं। हालांकि, ध्यान दें कि छूट की अवधि में नॉन-वर्किंग डे शामिल नहीं हैं।

आप प्रीमियम भुगतान तिथि को चूकने से कैसे बच सकते हैं?

अगर आपका स्वास्थ्य हेल्थ इंश्योरेंस द्वारा सुरक्षित है, तो आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि आप पॉलिसी को सक्रिय रखने के लिए समय पर प्रीमियम का भुगतान करते हैं। यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जो आपको अपना बीमा लैप्स होने से बचा सकते हैं-

  • अपनी प्रीमियम भुगतान तिथियों पर नज़र रखें और उसी के लिए रिमाइंडर सेट करें।
  • सुनिश्चित करें कि आप बीमा प्रदाता को एक सही ईमेल पता और संपर्क नंबर प्रदान करते हैं क्योंकि वे कई प्रीमियम पेमेंट रिमाइंडर भेजेंगे।
  • अपना सटीक प्रीमियम जानने और आवश्यक राशि को अलग रखने के लिए हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेटर का उपयोग करें।
  • आटोमेटिक ECS (इलेक्ट्रॉनिक क्लियरिंग सिस्टम) का विकल्प चुनें क्योंकि इससे यह सुनिश्चित हो जाएगा कि आपका प्रीमियम देय तिथि से पहले आपके बैंक खाते से आटोमेटिक रूप से डेबिट हो जाएगा।

प्रीमियम का भुगतान न करने का परिणाम पॉलिसी लैप्स हो सकता है

समय पर प्रीमियम का भुगतान करना उतना ही आवश्यक है जितना कि हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदना। बीमा खरीदते समय, मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक और वार्षिक विकल्पों में से एक प्रीमियम आवृत्ति चुनें, जिसके साथ आप सहज हों।

प्रीमियम भुगतान की तारीखों पर पूरा ध्यान दें और लैप्स पॉलिसी की परेशानियों से बचने के लिए समय पर उसका भुगतान करें।

ये भी पढ़ें -

माता-पिता के लिए लेना चाहते है स्वास्थ्य बीमा? जानें पैरेंट के लिए बेस्ट Health Insurance कैसे चुनें?

आपको अपना हेल्थ इंश्योरेंस कवरेज क्यों बदलना चाहिए? यहां जानिए वो 5 कारण

हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को पोर्ट कैसे करें? | How to Port Your Health Insurance Policy?

Micro Health Insurance in Hindi: जानिए माइक्रो हेल्थ इंश्योरेंस क्या है और इसके फायदें क्या है?

Next Story