आर्थिक

Types of Home Loan in India: भारत में होम लोन कितने प्रकार का होता है और किन कामों के लिए मिलता है?

Ankit Singh
29 March 2022 6:09 AM GMT
Types of Home Loan in India: भारत में होम लोन कितने प्रकार का होता है और किन कामों के लिए मिलता है?
x
Types of Home Loan in Hindi: अगर आप भी अपने सपनों के घर को बनाने के लिए Home Loan लेना चाहते है तो पहले आपको यह जान लेना चाहिए कि भारत में कितने प्रकार के होम लोन उपलब्ध और सबकी जरूरते क्या है?

Types of Home Loan in India:.खुद का घर होना हर किसी का सपना होता है। अगर आप किराये के मकान में रह रहे हैं और अचानक अपने माता-पिता या दादा-दादी से उपहार के रूप में घर मिल गया तो यह आपको एक अलग अनुभव देता है। इसी तरह जिन लोगों के पास अपना घर नहीं है, वे विभिन्न बैंकों द्वारा दिए गए होम लोन से लाभान्वित हो सकते हैं। होम लोन का मुख्य उद्देश्य वित्तीय सहायता देना है। भारत में वैसे तो विभिन्न प्रकार के होम लोन उपलब्ध है, आपको अपने जरूरत के हिसाब से इसे चुनने की आव्यशक्ता है। आइए यहां जानते है कि भारत में होम लोन कितने प्रकार का होता है और किन-किन कामों के लिए मिलता है?

Types of Home Loan in Hindi

भारत में कई प्रकार के होम लोन हैं जो विभिन्न विशेषताओं के साथ आते हैं जैसा कि नीचे चर्चा की गई है।

  • लैंड परचेस लोन
  • होम परचेस लोन
  • होम कंस्ट्रक्शन लोन
  • होम इम्प्रूवमेंट लोन
  • होम एक्सटेंशन लोन
  • होम कन्वर्शन लोन
  • ब्रिज्ड लोन
  • स्टाम्प ड्यूटी लोन
  • बैलेंस ट्रांसफर लोन

1) लैंड परचेस लोन

यह लोन बैंकिंग और वित्तीय संस्थानों द्वारा उधारकर्ता को अपने सपनों का घर बनाने के लिए जमीन खरीदने में सहायता करने के लिए अप्रूव किया जाता है। आम तौर पर यह लोन चुकौती के लिए 15 साल तक की अवधि का होता है। यह उन लोगों के लिए फायदेमंद हो सकता है जिनके पास आय का नियमित प्रवाह है और जो सोचते हैं कि लोन की लागत भविष्य में जमीन से कम होने वाली है।

2. होम परचेस लोन

होम परचेस लोन आपको एक नया या मौजूदा घर खरीदने के लिए आवश्यक फाइनेंस देता है। घर की कुल लागत का लगभग 80-85% लोन के रूप में प्राप्त किया जा सकता है। यह भारत में सबसे अधिक प्राप्त होम लोन में से एक है। वेतनभोगी कर्मचारियों के रूप में लोग अपने दम पर घर बनाने के बजाय अच्छी तरह से विकसित क्षेत्र में एक नया फ्लैट या घर खरीदने की कोशिश कर रहे हैं। यह रवैया इस तरह के लोन की मांग को बढ़ाता है।

3. होम कंस्ट्रक्शन लोन

ये लोन घर बनाने के उद्देश्य से अप्रूव किए जाते हैं। उपरोक्त दो लोन की तुलना में यह लोन प्रक्रियात्मक पहलुओं के संदर्भ में बहुत जटिल होगा। यदि आपके द्वारा घर का निर्माण शुरू होने के एक वर्ष से पहले जमीन खरीदी गई है तो घर की लागत निर्धारित करने के लिए जमीन की कीमत पर विचार किया जाएगा, अन्यथा जमीन की लागत को घर की लागत से बाहर रखा गया है। इस लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज उपरोक्त लोन से थोड़े अलग हैं।

4. होम इम्प्रूवमेंट लोन

जैसा कि नाम से पता चलता है कि ये लोन बैंकों और आवास वित्तीय संस्थान द्वारा घर में सुधार गतिविधि करने के लिए आप्रूव किए जाते हैं, चाहे वह नवीनीकरण, मरम्मत, कोई बिजली का काम हो, छोटी उपयोगिताओं का निर्माण जो घर में सुधार लाता हो। बाहरी कार्य जैसे मरम्मत, वॉटरप्रूफिंग या आंतरिक कार्य जैसे टाइलिंग और फर्श, प्लंबिंग, विद्युत कार्य, पेंटिंग भी शामिल हैं।

5. होम एक्सटेंशन लोन

ये लोन आपके घर का विस्तार करने के लिए एक अतिरिक्त कमरा, बालकनी, रहने के क्षेत्र का विस्तार आदि के माध्यम से वित्तीय सहायता देने के लिए हैं, आम तौर पर इसके लिए नगरपालिका से अनुमति की भी आवश्यकता होती है।

6. होम कन्वर्शन लोन

ये बैंकों और वित्तीय संस्थानों द्वारा उन लोगों को अप्रूव्ड लोन हैं, जिन्होंने पहले ही घर खरीदने के लिए उनसे होम लोन प्राप्त कर लिया है और अब दूसरे घर में शिफ्ट होना चाहते हैं, जिसके लिए कुछ और वित्तीय सहायता की आवश्यकता हो सकती है। कन्वर्शन के माध्यम से मौजूदा लोन को नए घर में ट्रांसफर कर दिया जाता है।

7. ब्रिज्ड लोन

जैसा कि नाम से पता चलता है कि ये ऐसे लोन हैं जिनका उद्देश्य उन लोगों की मदद करना है जिनके पास घर है जो मौजूदा घर को बेचकर एक नया घर खरीदना या बनाना चाहते हैं। अगर आप अपने मौजूदा घर को बेचना चाहते हैं, लेकिन कोई संभावित खरीदार नहीं मिल रहा है, लेकिन आप जल्द से जल्द एक नए घर में शिफ्ट होना चाहते हैं, तो ऐसे मामलों में ये लोन दिए जाते हैं।

8. स्टाम्प ड्यूटी लोन

स्टाम्प ड्यूटी लोन घर या जमीन की खरीद से जुड़ी स्टाम्प ड्यूटी का भुगतान करने के लिए आवश्यक वित्त को मंजूरी देने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। ये अन्य लोन की तरह लोकप्रिय नहीं हैं।

9. बैलेंस ट्रांसफर लोन

इन्हें मौजूदा लोन का भुगतान करने और दूसरे लोन पर स्विच करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। उदाहरण के लिए अगर आपके पास पहले से ही एक बैंक से एक होम लोन है जो ब्याज के रूप में 10% प्रति वर्ष शुल्क लेता है, कुछ समय बाद आप एक बैंक में आए जो आपको 9% की दर से लोन देता है तो इस प्रकार के लोन का उपयोग करके आप मौजूदा लोन का भुगतान कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें -

घर खरीदने का प्लान बना रहें? तो क्या आपको होम लोन लेना चाहिए या कैश पेमेंट करना चाहिए? जानिए

Personal Loan Insurance Kya Hai? | What is Personal Loan Insurance in Hindi

बैंक या NBFC, पर्सनल लोन के लिए कौन है सबसे अच्छा? जानें एनबीएफसी और Bank के बीच अंतर

CIBIL Score for Personal Loan: पर्सनल लोन के लिए मिनिमम सिबिल स्कोर कितना होना चाहिए?

सैर-सपाटे के लिए नहीं है फंड तो ट्रेवल लोन का उठाएं लाभ, जानिए Benefits of Travel Loan in Hindi

Micro Personal Loan Kya Hai? | जानिए माइक्रो पर्सनल लोन क्या है और इसे कौन ले सकता है?

Next Story