आर्थिक

कर्ज के जाल से पाना चाहते है मुक्ति तो अपनाएं ये Financial Tips, बचत करने में भी मिलेगी मदद

Ankit Singh
27 Jan 2022 6:17 AM GMT
कर्ज के जाल से पाना चाहते है मुक्ति तो अपनाएं ये Financial Tips, बचत करने में भी मिलेगी मदद
x
ऋण संबंधी समस्याएं कई कारणों से हो सकती है। लेकिन एक बार कर्ज के जाल में फंसने के बाद इंसान उससे जल्दी बाहर नहीं निकल पाता है, नतीजन वह मानसिक तनाव भी झेलने लगता है। इस समस्या से निजात पाया जा सकता है, लेकिन कुछ Financial Tips अमल में लाना होगा।

कोई भी इंसान हो उसके जीवन में कभी न कभी आर्थिक संकट जरूर आता है। पैसों की समस्या को दूर करने के लिए वह अपने दोस्त या रिश्तेदारों से उधार लेता है लेकिन बाद में उस कर्ज को नहीं चुका पता तो वह उस कर्ज को चुकाने के एवज में नया कर्ज लेता है। इसी तरह व्यक्ति कर्ज के जाल (Debt Trap) में फंसता चला जाता है। इससे वह मानसिक रूप से भी बीमार पड़ने लगता है। हालांकि आप आर्थिक संकट के समय संयम और समझदारी दिखाएंगे तो आप कर्ज के जाल में फंसने से बच सकते है। यहां हम कुछ ऐसे Financial Tips बता रहे है जिसे अपनाकर आप कर्ज से मुक्ति पा सकते है।

सेविंग को जोड़ने की जरूरत

कोरोना महामारी से हमे यह सबक ले लेना चाहिए कि बुरे वक्त में सिर्फ बची हुई सेविंग ही काम आती है। कोरोना महामारी में पूरे भारत ने आर्थिक तंगी का सामना किया। ऐसे समय में एकत्रित धन ही लोगों के काम आया। तो जरूरी है कि सेविंग के साथ थोड़ी और सेविंग करके इमरजेंसी फंड का निर्माण किया जाए। इस फंड को इमरजेंसी के वक्त ही इस्तमाल करें। नियमित खर्चों के लिए इस फंड का इस्तमाल न करें। इसके लिए आप अपनी सैलेरी में से पहले सेविंग अलग कर लें फिर बचे पैसे से घर का खर्चा चलाये फिर अंत में जो पैसे बचे उसे इमरजेंसी फंड में डाले।

लोन देने वाली कंपनी के झांसे में न आएं

इस वक्त तमाम बैंक और फाइनेंसियल कंपनी खुले हाथों से कर्ज बांट रही है। तकरीबन सप्ताह में एक बार क्रेडिट कार्ड देने वाली कंपनियों के फोन जरूर आते है। यह लुभावने वादों के साथ लोन की पेशकश करते है। सुनने में तो यह बहुत ही अच्छा लगता है लेकिन कंपनी आपसे हिडन चार्जेस नहीं बताती है। अमूमन आप क्रेडिट कार्ड ले लेते है तो आपके अंदर उधार लेने की प्रवित्ति शामिल हो जाती है और यह प्रवित्ति आगे चलकर आपको कर्ज के जाल में फंसा सकती है। अगर आपको लोन की बहुत जरूरत है तो आप पाइवेट संस्था के बजाए प्रतिष्ठित बैंक से कर्ज लें।

पुराने कर्ज चुकाएं

अगर आपने पहले से कर्जा ले रखा है तो सबसे पहले उस कर्जे को चुकाने के प्रयास करें। छोटे लोन है तो उसे एक बार में सेटल करें। अगर अलग अलग जगहों से कर्ज ले रखा है तो सबसे पहले वह कर्जा चुकाएं जिसपर सबसे ज्यादा ब्याज लग रहा है। भले ही आपको कर्ज चुकाने के लिए अलग से काम करना पड़े तो करिए लेकिन कर्ज को चुकाने के लक्ष्य सबसे पहले बनाएं।

रीस्ट्रक्चर करवाएं लोन

अगर आपका क्रेडिट कार्ड लोन बहुत ज्यादा बढ़ गया है और आप उसे चुका नहीं पा रहे है तो आप उसे रीस्ट्रक्चर करवा सकते है। रिस्ट्रक्चर में क्रेडिट कार्ड की बकाया रकम को पर्सनल लोन में बदल दिया जाता है और पेनाल्टी भी माफ कर दी जाती है। यह सुविधा कई बैंक देते है।

कर्ज के बदले कर्ज से बचे

एक बात का ध्यान रखें कभी भी एक कर्ज को चुकाने के लिए दूसरा कर्ज न लें। इससे आपकी ही परेशानी बढ़ेगी और आप अपने लिए खुद कर्ज का जाल बुनेंगें। अगर आपके ऊपर ज्यादा कर्ज है तो उसे सोना, जमीन या फंड से चुकाने की कोशिश करें।

ये भी पढें -

बनना है मालामाल, तो कम उम्र से ही अपनाएं ये टिप्स

जॉब की शुरुआत होते ही इन 5 चीजों की करें प्लानिंग, पैसों की नहीं होगी किल्लत, फ्यूचर होगा सेफ

टेंशन फ्री होकर करना चाहते है लाइफ एंजॉय तो इन जगहों पर करें निवेश, कभी नहीं आएगी आर्थिक तंगी

Next Story