आर्थिक

How To Start Commodity Trading in Hindi | कमोडिटी ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? जानें आसान तरीका

Ankit Singh
20 May 2022 10:47 AM GMT
How To Start Commodity Trading in Hindi | कमोडिटी ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? जानें आसान तरीका
x
How To Start Commodity Trading in Hindi: व्यापारियों को कमोडिटी ट्रेडिंग में सफलता प्राप्त करने के लिए बहुत समर्पण, अनुभव और कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है। इस लेख में कमोडिटी ट्रेडिंग कैसे शुरू करें (How To Start Commodity Trading in Hindi), इस बारें में समझाया गया है।

Commodity Trading in Hindi: कमोडिटी ट्रेडिंग कई शुरुआती और अनुभवी व्यापारियों के लिए एक चुनौतीपूर्ण काम है। ऐसा इसलिए है क्योंकि इक्विटी ट्रेडिंग और निवेश के अन्य विभिन्न रूपों की तुलना में Commodity Trading में चुनौतियां अधिक हैं।

कमोडिटी ट्रेडिंग को ट्रेडिंग के सबसे विकासशील रूपों में से एक माना जाता है, खासकर भारत में इसका चलन नया है। नतीजतन कई व्यापारियों ने इक्विटी और रियल एस्टेट के बाद कमोडिटी में निवेश करना शुरू कर दिया है। हालांकि, कमोडिटी ट्रेडिंग में जोखिम इक्विटी ट्रेडिंग के ही समान हैं, लेकिन यह एक पैसा बनाने वाला प्लेटफॉर्म भी है जो व्यापारियों को सामान खरीदने और बेचने से बड़ा लाभ कमाने में मदद करता है।

व्यापारियों को शुरू करने से पहले एक बात ध्यान में रखनी होगी कि कमोडिटी ट्रेडिंग में सफलता प्राप्त करने के लिए बहुत समर्पण, अनुभव और कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है। इस लेख में कमोडिटी ट्रेडिंग कैसे शुरू करें (How To Start Commodity Trading in Hindi), इस पर एक स्टेप बाई स्टेप गाइड शामिल है जो व्यापारियों को आसानी से शुरू करने और लाभ अर्जित करने में मदद करेगी। तो आइए जानते है कि कमोडिटी ट्रेडिंग कैसे शुरू करें?

कमोडिटी ट्रेडिंग शुरू करने के लिए 5 आवश्यक कदम

commodities में व्यापार शुरू करने से पहले, सभी व्यापारियों को बाजारों, commodities और अर्थव्यवस्था से अच्छी तरह वाकिफ होना चाहिए जो commodities में मूल्य परिवर्तन का कारण बनता है। व्यापारियों को सही निर्णय लेने और कमोडिटी बाजार में कदम रखने के लिए टेक्निकल और फंडामेंटल एनालिसिस का भी अभ्यास करना चाहिए।

उपरोक्त कारकों के अलावा, व्यापारियों को अपना कमोडिटी ट्रेडिंग शुरू करने से पहले सभी आवश्यक डिटेल और आवश्यकताओं को जानना चाहिए। कई अन्य चीजें हैं जिनसे एक व्यापारी को Commodity Market में परिचित होने की आवश्यकता होती है। यहां 5 सरल और प्रभावी स्टेप बताए गए हैं जो उन्हें अपना कमोडिटी ट्रेडिंग शुरू करने में मदद करेंगे।

Step 1 - कमोडिटी ट्रेडिंग एक्सचेंजों के बारे में परिचित होना

Commodity Trading शुरू करने के लिए एक व्यापारी के लिए पहला और प्राथमिक कदम उन सभी एक्सचेंजों से परिचित होना है, जिन पर कमोडिटी का कारोबार होता है।

भारत में, कमोडिटी का कारोबार तीन प्रमुख एक्सचेंजों के माध्यम से किया जाता है जैसे-

1) नेशनल मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज ऑफ इंडिया (NMCE)

2) नेशनल कमोडिटी एंड डेरिवेटिव एक्सचेंज (NCDEX)

3) मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज ऑफ इंडिया (MCX)

भारत के इन लोकप्रिय एक्सचेंजों पर अधिकांश वस्तुओं का कारोबार होता है।

Step 2 - कुशल स्टॉकब्रोकर का चयन

Commodity Trading शुरू करने के लिए अगला महत्वपूर्ण कदम एक विश्वसनीय और कुशल स्टॉक ब्रोकर का चयन करना है। ब्रोकर को SEBI द्वारा विनियमित और पंजीकृत होना चाहिए। एक कुशल स्टॉक ब्रोकिंग कंपनी का चयन करना चुनौतीपूर्ण है क्योंकि खाते की देखभाल स्टॉक ब्रोकर द्वारा की जाती है जो सभी ट्रेडों को निष्पादित करते हैं।

ब्रोकर व्यापारियों को कमोडिटी ट्रेडिंग के बारे में सूचित करने और उनकी सिफारिशों के माध्यम से सूचित निर्णय लेने में भी मदद करते हैं। साथ ही, ब्रोकर का चयन करते समय ट्रेडर को उनके द्वारा लिए जाने वाले ब्रोकरेज फीस और क्लियरिंग फीस, प्लेटफॉर्म फीस, कमीशन आदि जैसे शुल्क के बारे में पता होना चाहिए। ब्रोकर का चयन करते समय एक ट्रेडर को जिस प्रमुख कारक पर विचार करना चाहिए, वह वे सेवाएं हैं जो वे अपने प्लेटफॉर्म पर प्रदान करते हैं।

हालांकि, भारत में Commodity Trading के लिए कई कुशल फुल सर्विस स्टॉकब्रोकिंग कंपनियां एक व्यापारी को कमोडिटी ट्रेडिंग शुरू करने के लिए बेहतर सेवा प्रदान करती हैं।

Step 3 - कमोडिटी ट्रेडिंग एकाउंट खोलना

एक बार जब एक ट्रेडर ने कमोडिटी ट्रेडिंग शुरू करने के लिए अपनी भरोसेमंद ब्रोकिंग कंपनी का चयन कर लिया, तो उन्हें डीमैट एकाउंट खोलकर अगला कदम लागू करना होगा।

उन्हें एक आवेदन पत्र भरना होगा और अपने ब्रोकर के साथ सभी आवश्यक डिटेल जैसे उम्र, इनकम, फाइनेंसियल स्टेटस और बहुत कुछ प्रदान करना होगा। दलाल तब एक व्यापारी द्वारा प्रदान की गई जानकारी की जांच और विश्लेषण करता है। निवेशक के क्रेडिट, ट्रेडिंग अनुभव और जोखिम लेने की क्षमताओं के आधार पर कंपनी डीमैट एकाउंट खोलने के लिए सहमत या अस्वीकार करने का निर्णय लेती है।

ब्रोकर को जानकारी का विश्लेषण करने की आवश्यकता होती है, जो एक अनिवार्य हिस्सा है क्योंकि उन्हें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि अगर बाजार में गिरावट चल रही है तो व्यापारी अपने कर्ज का भुगतान कर सकता है। एक बार जब ब्रोकर किसी व्यापारी के आवेदन को मंजूरी दे देता है, तो डीमैट एकाउंट तुरंत खुल जाता है।

Step 4 - इनिशियल डिपाजिट करना

एक बार जब कोई व्यापारी अपना Commodity Trading एकाउंट खोल लेता है, तो उसे अपना व्यापार शुरू करने के लिए एक छोटा सा निवेश करना पड़ता है। हालांकि, उन्हें इनिशियल मार्जिन जमा करना होगा, जो आमतौर पर कॉन्ट्रैक्ट वैल्यू के आधार पर 5 से 10% के बराबर होता है।

उदाहरण के लिए, सोने की ट्रेडिंग के लिए शुरुआती मार्जिन मनी 3200 रुपये है, जो सोने की ट्रेडिंग यूनिट का 10% है। इनिशियल मार्जिन के साथ, एक व्यापारी को एक मेंटेंस मार्जिन भी बनाए रखना होता है ताकि वह अपने सभी नुकसानों को कवर करने में सक्षम हो, अगर बाजार अन्य परिदृश्यों से प्रतिकूल रूप से प्रभावित होता है।

Step 5 - एक ट्रेडिंग प्लान बनाएं

अब Commodity Trading की सभी फॉर्मेलिटी पूरी हो जानें के बाद एक ट्रेडर को अपना कमोडिटी ट्रेडिंग शुरू करने के लिए एक ट्रेडिंग प्लान बनाना होता है। यह उनकी अपनी वित्तीय क्षमता, जोखिम उठाने की क्षमता और उनकी व्यक्तिगत शैली को समझने के लिए भी बनाया गया है। ऐसी संभावना हो सकती है कि एक ट्रेडर द्वारा विकसित ट्रेडिंग प्लान दूसरे कमोडिटी ट्रेडर के अनुकूल न हो।

इस मामले में, ब्रोकिंग कंपनी व्यापारी को आवश्यक ज्ञान, अभ्यास और जानकारी प्राप्त करने में मदद करती है। वे व्यापारियों को एक प्रभावी ट्रेडिंग प्लान बनाने में मदद करने के लिए उन्हें सभी आवश्यक फंडामेंटल और टेक्निकल एनालिसिस टूल और प्लेटफॉर्म प्रदान करते हैं। व्यापारी को कुछ स्ट्रेटेजी भी विकसित करनी होती हैं जो उनकी ट्रेडिंग स्टाइल और उद्देश्यों के अनुसार उपयुक्त हों।

ये भी पढ़ें -

अगर आप नौसीखिए हैं तो जानिए शेयरों में ट्रेडिंग कैसे शुरू करें? | How to Start Online Trading in Hindi

10 रुपए से कम वाले शेयरों में करना चाहते है निवेश? तो पहले जान लीजिए Penny Stock Kya Hai

Trading Account Kya hai? | ट्रेडिंग एकाउंट कैसे खोले? | Trading Account Kaise Khole?

शेयर बाजार से चाहते है बढ़िया रिटर्न तो सही शेयरों का चुनाव इन मापदंडों के आधार पर करें

Intraday Trading से कमाना चाहते है खूब पैसा? तो इन 9 टिप्स को करें फॉलो

Next Story