आर्थिक

Mutual Fund में निवेश करके भूल गए है? तो इन 2 सिंपल स्टेप के जरिए से लगा सकते है फंड का पता

Ankit Singh
29 Jun 2022 11:51 AM GMT
Mutual Fund में निवेश करके भूल गए है? तो इन 2 सिंपल स्टेप के जरिए से लगा सकते है फंड का पता
x
अगर आपके पास एक लंबे समय से भूले हुए म्यूचुअल फंड निवेश हैं, तो इसे अभी भी ट्रैक किया जा सकता है और नीचे दिए गए स्टेप्स के साथ आसानी से भुनाया जा सकता है।

कभी-कभी ऐसा हो सकता है कि एक निवेशक कई म्यूचुअल फंड निवेश करता है, लेकिन लंबे समय में उनमें से कुछ के डिटेल से चूक जाता है। अगर आपके पास एक लंबे समय से भूले हुए म्यूचुअल फंड निवेश हैं, तो इसे अभी भी ट्रैक किया जा सकता है और नीचे दिए गए स्टेप्स के साथ आसानी से भुनाया जा सकता है-

1) फोलियो नंबर की खोज करें

अपने निवेश को ट्रैक करने के लिए सबसे पहले आपको फोलियो नंबर की जरूरत होगी जो प्रत्येक म्यूचुअल फंड निवेश को सौंपा गया है। आपको अपने रजिस्टर्ड ईमेल में उन पुराने एकाउंट डिटेल की खोज करनी चाहिए जो कंपनियां नियमित रूप से अपने ग्राहकों को भेजी जाती हैं। इसमें आपके निवेश के बारे में सभी जरूरी जानकारी होती है, जैसे फोलियो नंबर, अल्लोकैटेड यूनिट्स, एड्रेस, बैंक डिटेल इत्यादि।

अगर आपने डिजिटलीकरण शुरू होने से पहले निवेश किया है, तो आप इस जानकारी को इकट्ठा करने के लिए फिजिकल मेल और डॉक्यूमेंट की जांच कर सकते हैं।

2) करंट स्टेटस को ट्रैक करें

एक बार आपके पास फोलियो नंबर होने के बाद म्यूच्यूअल फंड कंपनी से ऑनलाइन या उनके नजदीकी कार्यालय में जाकर संपर्क करें। लेटेस्ट एकाउंट डिटेल प्राप्त करने के लिए आप एक हेल्पलाइन नंबर पर मेल या कॉल कर सकते हैं।

अगर आप म्यूचुअल फंड के पैसे को भुनाना चाहते हैं, तो कंपनी के प्रतिनिधि आपको इसके लिए गाइड कर सकते हैं। अगर आप अभी भी इसे होल्ड करना चाहते हैं, तो अपना लेटेस्ट ईमेल, पता और अन्य डिटेल अपडेट करें, ताकि नोटिफिकेशन और एकाउंट डिटेल नियमित रूप से प्राप्त होते रहें।

KYC और PAN आवश्यकताएं

म्यूचुअल फंड में निवेश करते समय अब ​​पैन नंबर देना और KYC करवाना अनिवार्य कर दिया गया है। इसलिए अगर आपको पहले से जमा नहीं किया गया है, तो आपको अपना पैन नंबर और अन्य डिटेल प्रदान करने की आवश्यकता हो सकती है। परेशानी से बचने के लिए नियमित रूप से अपना डिटेल अपडेट करें

आपको अपना इन्वेस्टमेंट स्टेटस जानने के लिए नियमित रूप से म्यूच्यूअल फंड एकाउंट डिटेल की जांच करते रहना चाहिए और यह तय करना चाहिए कि आप इसे रखना चाहते हैं या इसे भुनाना चाहते हैं। भविष्य में किसी भी नोटिफिकेशन या एकाउंट डिटेल को याद नहीं करने के लिए AMC के साथ अपनी संपर्क जानकारी, बैंक डिटेल इत्यादि को समय-समय पर अपडेट करना एक अच्छा अभ्यास है। साथ ही, अगर बैंक डिटेल अपडेट किया जाता है, तो म्यूचुअल फंड रिडेम्पशन सीधे आपके बैंक एकाउंट में किया जा सकता है।

ये भी पढ़ें -

म्यूच्यूअल फंड NFO में निवेश का है प्लान? तो ठहरिए और जानें कि क्यों नहीं करना चाहिए NFO में इन्वेस्ट

Best Mutual Fund for Retirement: बेहतर रिटायरमेंट प्लानिंग के लिए इन 5 तरह के म्यूचुअल फंड में करें निवेश

अगर आप युवा निवेशक है, तो जानिए आपको किस तरह के Mutual Fund में करना चाहिए इन्वेस्ट?

Next Story