आर्थिक

How to Calculate SIP Returns? | एसआईपी निवेश से रिटर्न की गणना कैसे करते है? ये है तरीका

Ankit Singh
22 Jun 2022 5:02 AM GMT
How to Calculate SIP Returns? | एसआईपी निवेश से रिटर्न की गणना कैसे करते है? ये है तरीका
x
SIP Return Calculation: SIP पर रिटर्न इस बात से तय होता है कि निवेशक कितना जोखिम उठाने को तैयार है। जितना अधिक जोखिम उतना अधिक इनाम। तो आइए यहां जानते है कि एसआईपी निवेश से रिटर्न की गणना कैसे करते है? (How to Calculate SIP Returns?)

SIP Return Calculation: SIP निवेश एक निर्धारित तिथि पर और नियमित अंतराल पर किया जाता है। जब आप निवेश करते हैं, तो आपको स्कीम के वर्तमान NAV के आधार पर यूनिट्स अलॉट की जाती है। आप लॉन्ग टर्म में बड़ी संख्या में यूनिट्स एकत्र करते है। नतीजतन, कुछ समय में अपने कुल रिटर्न का निर्धारण करना मुश्किल हो सकता है।

SIP पर रिटर्न इस बात से तय होता है कि निवेशक कितना जोखिम उठाने को तैयार है। जितना अधिक जोखिम उतना अधिक इनाम। क्योंकि इस परिदृश्य में जोखिम मध्यम है, इनाम समान रूप से मध्यम है। इन फंडों को एकमुश्त या SIP के हिस्से के रूप में खरीदा जा सकता है।

How to Calculate SIP Returns? | SIP रिटर्न की गणना करने के चार तरीके

1) साधारण वार्षिक रिटर्न (Simple Annualised Return)

इसे इफेक्टिव एवरेज आउटपुट के रूप में भी जाना जाता है, और यह पूरी तस्वीर पेश किए बिना प्रॉफिट बढ़ाने का एक तरीका है। जब भी होल्डिंग पीरियड 12 महीने से कम होती है, तो मुट्ठी भर निवेशक रिटर्न को वार्षिक करना चाहेंगे।

उदाहरण के लिए, अगले 8 महीनों या 240 दिनों में, 25 रुपये का NAV 20 रुपये तक बढ़ सकता है। (25-20)/20 = 0.25 का उपयोग फुल रिटर्न की गणना के लिए किया जा सकता है।

हम Simple Annualised Return की गणना के लिए इस प्रक्रिया का उपयोग करते हैं:

(365/240) - 1 = 40.4 प्रतिशत (1 + 0.25)

2) पूर्ण रिटर्न या पॉइंट-टू-पॉइंट (Absolute Return or Point-to-Point)

जब आपका निवेश एक वर्ष से कम समय के लिए होता है, तो इस रणनीति का आमतौर पर उपयोग किया जाता है। फंड का मूल और वर्तमान या अंतिम नेट एसेट वैल्यू (NAV) वह सब है जो आवश्यक है। यह आपके शुरुआती निवेश पर सीधे रिटर्न का निर्धारण करने में आपकी सहायता करता है।

शब्द "Absolute Return" पूरे समय में एक फंड के समग्र प्रदर्शन को दर्शाता है। यह एक निश्चित अवधि में NAV के मूल्य में आनुपातिक वृद्धि या कमी की गणना करता है।

Absolute Return की गणना (वर्तमान एनएवी - प्रारंभिक एनएवी) / प्रारंभिक एनएवी गुणा 100 के रूप में की जाती है।

अगर वर्तमान NAV 15 है और पूर्व NAV 13.5 है, तो वर्तमान एनएवी 15 है और पूर्व एनएवी 13.5 है।

समय अवधि के दौरान, रिटर्न (15 - 13.5) x 100/13.5 = 150/13.5 = 11.11 प्रतिशत होगा।

अगर समय अवधि को महीनों में मापा जाता है, जैसे कि 3 महीने, वर्ष, जैसे कि 2, या दिन, जैसे कि 100, तो निम्न सूत्र लागू किया जा सकता है।

पिछला उदाहरण तीन महीनों में 11.11 x 4 = 44.44 प्रतिशत, दो वर्षों में 5.55 प्रतिशत और 100-दिन की अवधि में 40.55 प्रतिशत का रिटर्न देगा।

3) चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (Compound Annual Growth Rate - CAGR)

चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (CAGR) एक फार्मूला है जो चक्रवृद्धि प्रभाव का उपयोग करके किसी निवेश की वार्षिक वृद्धि दर की गणना करता है।

जब अवधि एक वर्ष से अधिक लंबी हो तो रिटर्न की गणना करने के लिए CAGR एक बेहतर तरीका है। यह अनिवार्य रूप से एक आंकड़ा है जो दर्शाता है कि अगर निवेश की स्थिर दर होती तो निवेश कैसे विकसित होता।

हालांकि, रिटर्न साल-दर-साल भिन्न हो सकता है। नतीजतन, CAGR एक औसत वार्षिक वृद्धि दर दर्शाता है जो समय के साथ मूल्य में परिवर्तनशीलता को सुगम बनाता है।

मान लीजिए कि एक निवेशक ने तीन साल पहले 15 रुपये के एनएवी पर 1 लाख रुपये म्यूचुअल फंड में लगाए थे। वर्तमान एनएवी 30 रुपये है।

=(((अंत-मूल्य/शुरुआत-मूल्य) (1/वर्ष की संख्या))-1*100 सूत्र है।

परिणामस्वरूप, = (((30/15)(1/3))-1)*100 =25.99%

इस समीकरण का उपयोग करें यदि होल्डिंग समय महीनों में है: =(((अंत-मूल्य/शुरुआत-मूल्य)(12/नंबर-की-महीने)) (((30/15)(12/36)-1)*100 =25.99 प्रतिशत -1*100

फॉर्मूला का प्रयोग करें: =(((अंत-मूल्य/शुरुआत-मूल्य) (365/दिनों की संख्या)) यदि आप एनएवी और दिनों को जानते हैं।

-1*100 = (((30/15)(365/1095)-1)*100 = 25.99%

4) एक्सआईआरआर विधि (XIRR Method)

इनकम और एक्सपेंस हमेशा सूक्ष्म रूप से वितरित नहीं किए जाएंगे और इसके बजाय अप्रत्याशित समय पर हो सकते हैं। XIRR एक एक्सेल फ़ंक्शन है जो रिटर्न की आंतरिक दर या अनुचित क्षणों के साथ नकदी प्रवाह की अनुसूची के वार्षिक रिटर्न की गणना करता है।

XIRR एक एक्सेल फ़ंक्शन है जो अनियमित अंतराल पर होने वाले नकदी प्रवाह के एक सेट के लिए रिटर्न की आंतरिक दर की गणना करता है। XIRR की गणना करने के लिए, आपको निम्नलिखित जानकारी की आवश्यकता होगी।

a) SIP की राशि

b) SIP निवेश की शुरुआत और समाप्ति तिथियां

c) परिपक्वता (मोचन) राशि

d) मोचन तिथि

IRR (Internal Rate of Return) समय के साथ किए गए निवेश के लिए मुद्रा की समय आपूर्ति को ध्यान में रखता है। एक निवेशक को उस दिन फंड के एनएवी के आधार पर एक विशेष संख्या में यूनिट प्राप्त होगी। नतीजतन, उसे उस दिन से क्रेडिट इकट्ठा करना शुरू कर देना चाहिए जिस दिन उसका एसआईपी शुरू होता है।

ये भी पढ़ें -

अगर मौजूदा एसआईपी समाप्त हो जाएं तो क्या रिन्यू कराना चाहिए? जानिए SIP Renewal Process in Hindi

ये 5 तरीके अपनाएंगे ताे SIP से हाेगी खूब कमाई

म्यूच्यूअल फंड SIP बंद करने का है प्लान? तो जरा ठहरिए और जानें कि क्या है इसके ढेर सारे नुकसान

क्या आप जानते है कि म्यूच्यूअल फंड SIP के साथ फ्री टर्म लाइफ इंश्योरेंस की भी पेशकश करते है?

Monthly SIP vs Weekly SIP: म्यूच्यूअल फंड निवेश के लिए कौन सा एसआईपी मोड है बेहतर?

TagsSIP 
Next Story