आर्थिक

Mutual Fund से अपना पैसा निकालने के लिए इन 3 टिप्स को करें फॉलो, तभी मिलेगा बढ़िया रिटर्न

Ankit Singh
12 March 2022 10:45 AM GMT
Mutual Fund से अपना पैसा निकालने के लिए इन 3 टिप्स को करें फॉलो, तभी मिलेगा बढ़िया रिटर्न
x
Mutual Fund withdrawal: निवेशक म्यूच्यूअल फंड में मुनाफा कमाने के लिए निवेश करता है, लेकिन सही समय पर म्यूचुअल फंड निवेश से बाहर निकलने के महत्व को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। हम यहां ऐसे 3 विथडरॉल स्ट्रेटेजी बता रहे है, जिन्हें फॉलो करके आप स्मार्ट तरीके से अपना पैसा सकते है।

Mutual Fund withdrawal Strategy: जब म्युचुअल फंड की बात आती है, तो अधिकांश लोग केवल सबसे बढ़िया म्यूचुअल फंड योजना का चयन करने में रुचि रखते हैं जो हाई रिटर्न दे सके। हालांकि इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि हर निवेशक मुनाफा कमाने के लिए निवेश करता है, लेकिन सही समय पर म्यूचुअल फंड निवेश से बाहर निकलने के महत्व को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है।

यहां तक ​​​​कि अगर आपने एक शीर्ष फंड का चयन किया है, तो अगर आप अपनी विथडरॉल स्ट्रेटेजी पर काम करने में विफल रहते हैं तो रिटर्न नहीं मिलेगा। यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जो आपके म्यूचुअल फंड निवेश के लिए निकासी की रणनीति बनाने में आपकी मदद कर सकते हैं-

1. निवेश के उद्देश्य के करीब होने पर तैयार रहें

एक निश्चित उद्देश्य के बिना कोई भी निवेश बिना किसी बंदरगाह के जहाज को नेविगेट करने जैसा है। हर यात्रा को एक मंजिल की जरूरत होती है, और यही बात निवेश के लिए भी सच है। लेकिन अपने लक्ष्य के 100% प्राप्त करने की प्रतीक्षा करने के बजाय, जब आप अपने लक्ष्य के 90-95% के करीब हों, तो म्यूचुअल फंड यूनिट्स को रिडीम करना शुरू करना बुद्धिमानी है।

आमतौर पर यह सलाह दी जाती है कि आप धन की आवश्यकता से कम से कम 6-12 महीने पहले व्यवस्थित रूप से निकासी शुरू कर दें। आप इसके लिए SWP (सिस्टमैटिक विदड्रॉल प्लान) का इस्तेमाल कर सकते हैं। आपके द्वारा निकाली गई राशि को सेविंग बैंक एकाउंट या बैंक FD जैसे अन्य सुरक्षित विकल्पों में जमा किया जा सकता है।

2. सिस्टेमेटिक ट्रांसफर पर विचार करें

अगर आप यूनिट्स को नहीं बेचना चाहते हैं, तो दूसरा विकल्प यह है कि आप अपने फंड को जोखिम वाली योजनाओं से कम जोखिम वाली योजनाओं में ट्रांसफर करना शुरू कर दें। उदाहरण के लिए अगर आपने 10 साल के लिए इक्विटी फंड में निवेश किया है और लक्ष्य के 90% करीब हैं, तो इक्विटी फंड यूनिट्स को भुनाएं और राशि को डेट फंड में निवेश करें। जैसा कि आप जानते हैं, डेट फंड इक्विटी फंड की तुलना में काफी सुरक्षित हैं।

अधिकांश AMC अब STP (सिस्टेमैटिक ट्रांसफर प्लान) भी प्रदान करते हैं। इस सुविधा के साथ, आप AMP को एक म्यूचुअल फंड स्कीम से उसी फंड हाउस द्वारा दी जाने वाली दूसरी स्कीम में फंड स्विच करने के लिए स्थायी निर्देश दे सकते हैं। आप इस सुविधा का उपयोग सुरक्षित फंड में सिस्टमैटिक ट्रांसफर के लिए करने पर विचार कर सकते हैं।

3. एग्जिट लोड और टैक्स के बारे में सोचें

कई म्यूचुअल फंड योजनाओं में एक्जिट लोड भी होता है। यह एक प्रकार का शुल्क है, आम तौर पर निकासी राशि का 1%, जिसे आपको इकाइयों को भुनाते समय भुगतान करना होता है। हालांकि एग्जिट लोड ज्यादातर 3-5 साल से ज्यादा के निवेश पर लागू नहीं होता है। लेकिन आपको अपने AMC से इसकी पुष्टि कर लेनी चाहिए।

इसी तरह म्यूचुअल फंड विथडरॉल के लिए भी टैक्स संबंधी नियम हैं जिन पर आपको विचार करना चाहिए। इक्विटी और डेट फंड पर अलग-अलग टैक्स लगता है। यहां तक ​​कि शॉर्ट टर्म और लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन की परिभाषाएं भी अलग-अलग हैं। रिडीम करने से पहले टैक्स पहलू पर भी विचार करें।

म्यूच्यूअल फंड विथडरॉल की स्ट्रेटेजी बनाएं

निवेशक के हमेशा दो महत्वपूर्ण पहलू होते हैं- एंट्री और एग्जिट। ज्यादातर लोग केवल अपनी अधिकतम रिटर्न कैसे उत्पन्न करें पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। लेकिन विथडरॉल स्ट्रेटेजी के बिना आपका बेस्ट इन्वेस्टमेंट भी आपको कम रिटर्न प्रदान कर सकता है।

ये भी पढ़ें -

Mutual Fund Portfolio को इन ऑप्शन के साथ करें Boost, फंड हाउस फ्री में देती है ये सुविधाएं

Mutual Fund Redemption: म्यूचुअल फंड रिडीम करने का बना रहे है प्लान? तो पहले खुद से पूछ लें ये 4 सवाल

Exit Load in Mutual Fund: जानिए म्यूच्यूअल फंड में एग्जिट लोड क्या होता है? | Exit Load in Hindi

Loan Against Mutual Funds: म्यूचुअल फंड में करते हैं निवेश तो आसानी से ले सकते हैं लोन, जानिए क्या है तरीका

Next Story