आर्थिक

क्या ELSS निवेश को लॉक इन पीरियड से पहले भुनाया जा सकता है? जानिए क्या कहता है नियम

Ankit Singh
1 July 2022 7:07 AM GMT
क्या ELSS निवेश को लॉक इन पीरियड से पहले भुनाया जा सकता है? जानिए क्या कहता है नियम
x
ELSS Withdrawal: इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम या ELSS एक ऐसा विकल्प है जो 3 साल की छोटी लॉक-इन पीरियड के साथ हाई रिटर्न प्रदान करता है। लेकिन क्या ELSS निवेश को लॉक इन पीरियड से पहले भुनाया जा सकता है? आइये जानते है।

ELSS Withdrawal: हर साल इनकम पर टैक्स बचाने की तलाश में कई तरह ऑप्शन सामने आते हैं। कुछ शार्ट टर्म के लिए हैं, जबकि अन्य को लॉन्ग टर्म प्रतिबद्धता की आवश्यकता है। हालांकि लॉक-इन पीरियड विचार का एक कारक है, बड़ी चुनौती एक ऐसा विकल्प ढूंढना है जो निवेश किए गए प्रत्येक रुपये पर हाई रिटर्न देता है। इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम या ELSS एक ऐसा विकल्प है जो 3 साल की छोटी लॉक-इन पीरियड के साथ हाई रिटर्न प्रदान करता है।

ELSS और इसके फायदें

ELSS एक टैक्स सेविंग इंस्ट्रूमेंट है जो आपके पैसे को म्यूचुअल फंड के इक्विटी-लिंक्ड इंस्ट्रूमेंट्स में निवेश करता है। ऐसे निवेश में कई निवेशकों से पैसा इकट्ठा किया जाता है और उन कंपनियों या शेयरों में लगाया जाता है जो अधिक मुनाफा कमा सकते हैं। इस प्रकार अर्जित लाभ को निवेशकों के बीच समान रूप से वितरित किया जाता है।

ELSS के तहत कुल 1.5 लाख रुपए IT अधिनियम की धारा 80 (C) के तहत टैक्स योग्य आय से छूट दी गई है। छूट उस टैक्स ब्रैकेट द्वारा निर्देशित होती है जिसके अंतर्गत आप आते हैं। इसका किसी भी तरह से मतलब यह नहीं है कि आप केवल 1.5 रुपये तक ही ELSS में निवेश कर सकते हैं। आप ईएलएसएस में किसी भी राशि का निवेश करना चुन सकते हैं, जो आप करने में सक्षम हैं। हालांकि, आप धारा 80C के तहत एक वित्तीय वर्ष में केवल 1.5 लाख रुपये तक के कर लाभ का विकल्प चुन सकते हैं।

यह योजना धारा 80सी के तहत सभी निवेश विकल्पों में सबसे कम लॉक-इन अवधि के साथ आती है, यानी सिर्फ 3 साल। अन्य निवेश विकल्प उच्च लॉक-इन अवधि के साथ आते हैं - फिक्स्ड डिपाजिट - 5 वर्ष, PPF - 7 वर्ष, EPF - 5 वर्ष, NPS - 15 वर्ष, आदि।

हालांकि अगर आप अपने निवेश से अधिकतम लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो अपने निवेश को लंबी अवधि के लिए रखने की सलाह दी जाती है।

क्या 3 साल के भीतर ELSS निकाला जा सकता है?

इस प्रश्न का सरल उत्तर है नहीं। ELSS निवेश 3 साल की लॉक-इन अवधि के अंत से पहले निवेश राशि को वापस लेने का विकल्प प्रदान नहीं करता है। ELSS में निवेशकों को उनकी निवेशित राशि के बदले फंड यूनिट दी जाती है। इन इकाइयों पर ही लॉक-इन पीरियड लागू होती है।

रिडीम की गई राशि का उपयोग कैसे करें?

तीन साल की अवधि के बाद आप लिक्विड मनी के रूप में अपने निवेश को वापस लेने का विकल्प चुन सकते हैं और फिर राशि को किसी अन्य ELSS में निवेश कर सकते हैं और लाभ प्राप्त करना जारी रख सकते हैं। यह फायदेमंद है क्योंकि आपको टैक्स बेनिफिट देते समय अपनी इनकम से किसी भी अतिरिक्त राशि को लॉक करने की चिंता करने की आवश्यकता नहीं है।

अपने ELSS में निवेशित रहें

हालांकि आप अपनी इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम को 3 साल के बाद रिडीम कर सकते हैं, लेकिन जब तक आप कर सकते हैं तब तक निवेशित रहना सबसे अच्छा है। लंबी निवेश अवधि सुनिश्चित करती है कि आप हाई रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं। निवेश करने से पहले अपने लॉन्ग टर्म फाइनेंसियल गोल और जोखिम लेने की क्षमताओं को ध्यान में रखें।

ये भी पढ़ें -

टैक्स बेनिफिट के लिए सबसे बेस्ट है ELLS Fund, जानिए अपने लिए सही ईएलएसएस फंड कैसे चुनें?

ELSS में बढ़ेगा पैसा और बचेगा टैक्स, लेकिन निवेश से पहले इन बातों को समझ लेना है बहुत जरूरी

ELSS म्यूच्यूअल फंड में निवेश करते समय निवेशक अक्सर करते है 5 गलतियां

TagsELSS 
Next Story