आर्थिक

Bank FD vs Post Office Deposit: बैंक या पोस्ट ऑफिस, फिक्स्ड डिपाजिट के लिए कौन बेहतर? जानें

Ankit Singh
11 April 2022 4:57 AM GMT
Bank FD vs Post Office Deposit: बैंक या पोस्ट ऑफिस, फिक्स्ड डिपाजिट के लिए कौन बेहतर? जानें
x
Bank FD vs Post Office Deposit : मौजूदा समय में बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) के अलावा पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट भी निवेश के लिए एक अच्छा विकल्प है। इस खबर में हम आपको इन दोनों से जुड़ी निवेश के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

Bank FD vs Post Office Deposit: कमाने वाला प्रत्येक व्यक्ति अपने खर्चों के बाद बचत का एक हिस्सा निवेश करना चाहता है ताकि उसका निवेश सुरक्षित रहे और निवेशित राशि से कुछ आय भी हो, इसलिए फिक्स्ड डिपाजिट (FD) सबसे अधिक लोगों को पसंद करता है। FD में निवेश करने के लिए भी जाएं क्योंकि यह जोखिम मुक्त है। मौजूदा समय में बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट के अलावा पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट भी निवेश के लिए एक अच्छा विकल्प है। अगर आप बचत के लिए फिक्स्ड डिपाजिट योजना में निवेश करने की सोच रहे हैं, तो आपके पास बैंक बैंक FD और डाकघर FD दोनों विकल्प हैं। इस खबर में हम आपको इन दोनों से जुड़ी निवेश के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

बैंक सावधि जमा (Bank Fixed Deposit)

बैंक में FD की अवधि 7 दिनों से शुरू होती है और अधिकतम 10 वर्ष है। बैंक एफडी किसी भी बैंक में खोली जा सकती है। ज्यादातर बैंकों के पास ऑनलाइन FD अकाउंट का भी विकल्प होता है। ऑनलाइन FD खोलने से पहले बैंकर से न्यूनतम और अधिकतम राशि, दस्तावेज आदि की जानकारी प्राप्त कर लें। हालांकि, FD पर अलग-अलग बैंकों की ब्याज दरें अलग-अलग हैं। बैंक की FD दरों को उनकी वेबसाइट से एक्सेस किया जा सकता है। हालांकि, हाल ही में सभी बैंक अपनी जमा दरों (FD) में लगातार कटौती कर रहे हैं। SBI फिलहाल आम नागरिकों को 6 फीसदी ब्याज दे रहा है। वहीं अगर एक्सिस बैंक की बात करें तो वह FD पर 6.50% ब्याज दे रहा है। बैंक ऑफ बड़ौदा 6.25 फीसदी की दर से ब्याज दे रहा है।

डाकघर टाइम डिपॉइट (Post Office Time Deposit)

पोस्ट ऑफिस के पास 1 साल, 2 साल, 3 साल और 5 साल का विकल्प है। अब यह आपको तय करना है कि आप कितने कार्यकाल चुनना चाहते हैं। सिक्योरिटी की बात करें तो पोस्ट ऑफिस डिपॉजिट में आपकी जमा राशि की सुरक्षा सबसे ज्यादा होती है क्योंकि इस आधार पर यह गारंटी होती है। डाकघर में कम से कम 1000 रुपये से FD खाता खोला जा सकता है। जमा की जाने वाली अधिकतम राशि की कोई सीमा नहीं है। इसमें सिंगल और ज्वाइंट अकाउंट दोनों की सुविधा है। यदि आयु 10 वर्ष से अधिक है, तो खाता भी नाबालिग के नाम से खोला जाता है और अभिभावक को वयस्क होने तक इसकी देखभाल करनी होती है।

इस योजना में 5 साल के लिए किया गया निवेश कर लाभ के योग्य है और आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80C के तहत छूट प्राप्त की जा सकती है। इसमें खाते चेक और नकद दोनों में खोले जा सकते हैं। इसके अलावा एक डाकघर में खोले गए खाते को दूसरे डाकघर में ट्रांसफर करने की भी सुविधा है।

सेबी पंजीकृत निवेश सलाहकार और प्रमाणित वित्तीय योजनाकार मणिकरण सिंघल ने कहा, 'रिटर्न और कराधान के मामले में दोनों समान हैं, अंतर यह है कि बैंक सावधि जमा समय की अवधि के लिए सुरक्षित हैं, जैसे सरकार ने इसे 1 लाख से 5 लाख तक बढ़ा दिया है। वहीं, डाकघर में पूरा पैसा सुरक्षित रहता है, हां, ब्याज की बात करें तो निश्चित तौर पर डाकघर में ब्याज दर बैंक के मुकाबले अभी भी ज्यादा है।

वहीं, वित्तीय सलाहकार जितेंद्र सोलंकी का कहना है कि हाल के दिनों में पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट बैंक एफडी से ज्यादा ब्याज दे रहा है। बाकी दो निवेश विकल्प लगभग समान हैं, इसलिए निवेश के लिहाज से पोस्ट ऑफिस में निवेश करना सही रहेगा।

डाकघर में 1 वर्ष से 5 वर्ष तक की जमा राशि पर ब्याज

टर्म इंटरेस्ट रेट

  • 1 साल 6.9%
  • 2 साल 6.9%
  • 3 साल 6.9%
  • 5 साल 7.7%

कितना सुरक्षित है पैसा?

  • बैंक में 5 लाख तक की जमा राशि पर सुरक्षा की गारंटी है।
  • बैंक आपके पैसे का इस्तेमाल अपने कारोबार में करते हैं।
  • डाकघर में आपका 100% निवेश सुरक्षा की गारंटी देता है।

ये भी पढ़ें -

Tax Saving Fixed Deposits के बारे में ये 10 रोचक तथ्य जानते है आप?

Fixed Deposit में निवेश करके पाना चाहते है सबसे बेहतर रिटर्न? तो जरूर करें इन 5 फैक्टर्स की जांच

RD, FD या लिक्विड फंड: आपको इमरजेंसी फंड कहां इन्वेस्ट करना चाहिए? जानिए सबसे अच्छा विकल्प

Types of Fixed Deposits in Hindi | फिक्स्ड डिपॉजिट कितने प्रकार के होते है? FD के बारे में जानें सब कुछ

Next Story