दरगाह के बाहर वह मिलीं, मशहूर नायिका के शरीर में  एड्स की वजह से कीट़ पडी थीं।

 
AIDS

बॉलीवुड की दूनिया दूर से जितनी खूबसुरत दिखती है उतनी डरावनी भी हैं। ऐसा हम पहले भी कई बार देख चुके हैं, इस दुनिया में खून के रिश्ते भी कामयाबी और नाकामयाबी के पैमाने पर होते हैं। तो कई बार हमें स्टार्स सबके साथ अकेले देखने को मिल जाते हैं।

सिनेवर्ल्ड से दूर जाने के बाद ये सभी सेलेब्रिटीज को धीरे-धीरे भुल जाते हैं। निशा नूर 80 के दशक की दुर्भाग्यपूर्ण सितारों में से एक हैं। निशा ने 80 के दशक में उठ भारतीय सिनेमा में अभिनय किया था। कमल हसन के साथ कई फिल्मों में काम कर चुकीं निशा उस वक्त उसने बहुुत ख्याति प्राप्त कर ली थी!

उन्होंने अपनी खूबसूरती और बेहतरीन एक्टिंग के दम पर कुछ ही समय में अपना नाम कमा लिया था। वह हमेशा फैंस और उसके दोस्तों अन्य सभी से घिरे रहते थे। लेकिन एक वक्त ऐसा भी आया जब उनके साथ कोई नहीं बचा। उनके अंत के समय उनके साथ कोई नहीं था।

 2007 में निशा नूर एक दरगाह के पास पड़ी मिली थी। वह बहुत बुरी स्थिति में थी। उनके अंगों पर चाबियां और मग थे, कोई उन पर ध्यान नहीं दे रहा था, वे अपनी बीमारी केे् वजह से खुद को साफ भी नहीं कर रहे थे। उसे पास के अस्पताल ले जाया गया।

वहां डॉक्टरों ने कहा कि उसे एड्स है। उसका इलाज किया गया। लेकिन उसकी हालत इतनी खराब थी कि वह ज्यादा दिन जीवित नहीं रही और इसी बीच उसकी मौत हो गई। इन सभी हिट फिल्मों के बावजूद इतनी पॉपुलैरिटी हासिल करने के बावजूद निशा के आखिरी वक्त में कोई उनके साथ नहीं था!

 'टिक! टिक करें! निशा नूर ने 'टिक!', 'अय्यर द ग्रेट', 'कल्याण अगतिगल' जैसी कई हिट फिल्मों में काम किया है। उन्होंने ग्लैमर की इस सिल्वर लाइनिंग दुनिया में काम किया लेकिन धीरे-धीरे वे गायब हो गए। फिर उन्हें पैसे की कमी महसूस होने लगी। कुछ ने तो यहां तक ​​कह दिया कि उन्होंने बिजनेस शुरू कर दिया है। लेकिन अक्सर कहा जाता है कि इस सिल्वर लाइनिंग में उनके साथ गलत व्यवहार किया गया। उन्हें एड्स था, और अस्पताल में भर्ती होने के बाद, उनके कई सहकर्मियों को उनके बारे में सूचित किया गया था। लेकिन किसी ने उन पर ध्यान नहीं दिया।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|