मधुबाला के अंतिम समय में कोई नहीं था उनके पास, जानिए उनकी दर्दनाक कहानी

मधुबाला ने बहुत छोटी उम्र में फिल्मों में काम करना शुरू किया था। धीरे धीरे उन्होंने अपने एक्टिंग से लोगों के दिलों पर राज करने लगी। उनका मासूम चेहरा, नटखट अदाओं से लोगों के दिलों में घर कर लिया।
 
मधुबाला के अंतिम समय में कोई नहीं था उनके पास, जानिए उनकी दर्दनाक कहानी

'एक लड़की भीगी भागी सी', याद है ये गाना! यह सॉन्ग 1958 में आई फिल्म 'चलती का नाम गाडी' से है। इस फिल्म में मधुबाला (Madhubala) और किशोर कुमार (Kishore Kumar) अहम् किरदार में थे। किशोर कुमार, मधुबाला की ख़ूबसूरती पर फ़िदा थे लेकिन मधुबाला का दिल तो दिलीप कुमार (Dilip Kumar) के लिए धड़कता था। दिलीप कुमार और मधुबाला की अधूरी प्रेम कहानी तो हम सभी जानते है, लेकिन क्या जानते है दिलीप कुमार से बदला लेने के लिए मधुबाला ने किशोर कुमार से शादी की थी।

मधुबाला (Madhubala) ने बहुत छोटी उम्र में फिल्मों में काम करना शुरू किया था। धीरे धीरे उन्होंने अपने एक्टिंग से लोगों के दिलों पर राज करने लगी। उनका मासूम चेहरा, नटखट अदाओं से लोगों के दिलों में घर कर लिया। शुरुवाती दिन में उनका नाम अभिनेता प्रेम नाथ, डायरेक्टर केदार शर्मा और कमल अमरोही के साथ जुड़ा, लेकिन उनके और दिलीप के रिश्ते की खबर आज भी सुर्खियों में रहती है, क्योंकि एक बार दिलीप कुमार ने कहा था कि वो जब जिन्दा रहेंगे तब तक मधुबाला से प्यार करते रहेंगे।

मधुबाला के अंतिम समय में कोई नहीं था उनके पास, जानिए उनकी दर्दनाक कहानी

मधुबाला और दिलीप की शादी नहीं हो सकी क्योंकि उनके पिता नहीं चाहते थे मधुबाला दिलीप कुमार के साथ शादी करे। दोनों ने अपने रस्ते अलग कर लिए। किशोर कुमार भी मधुबाला से बहुत प्यार करते थे। उन्होंने अभिनेत्री के साथ शादी करने का फैसला कर लिया। लेकिन मधुबाला की तबियत ठीक नहीं रहती थी, रिपोर्ट के मुताबिक उनके दिल में छेद था। उन्होंने 1957 में इसका इलाज कराया था। कहा जाता हैं कि उनका शरीर में ज्यादा खून बनता था, जिसके बाद कभी उनके नाक और मुंह से खून बाहर आया करता था।

1960 में किशोर कुमार ने मधुबाला को प्रोपोज़ किया और शादी की और लंदन उनके ट्रीटमेंट के लिए चले गए। वहां उन्हें पता चला कि मधुबाला के पास सिर्फ 2 साल है। वह इस बीमारी के वजह से ज्यादा जिन्दा नहीं रहेंगी। 

मधुबाला के अंतिम समय में कोई नहीं था उनके पास, जानिए उनकी दर्दनाक कहानी

माधबाला की बहन मधुर ने रेडिफ को दिए इंटरव्यू में कहा कि दिलीप से नाराज होकर मधुबाला ने किशोर से शादी की। जब उनकी शादी हुई तब वह सिर्फ 27 साल की थी। जब डॉक्टर ने बताया कि मधुबाला के पास ज्यादा वक़्त नहीं है तो किशोर भाई उन्हें मुंबई के कार्टर रोड वाले घर पर लाकर उन्हें अकेला छोड़ दिया। उस समय उनके साथ सिर्फ एक नर्स और ड्राइवर रहा करते थे। वह चार महीने में एक बाद मधुबाला से मिलने आया करते थे। वह कभी मधुबाला का फ़ोन भी लेते थे। किशोर भाई मधुबाला से बहुत प्यार करते थे लेकिन जब वह लंदन से लौटे तो उन्होंने उसे घर में अकेला छोड़ दिया। वह बिल्कुल भी अच्छे पति नहीं थे।

23 फरवरी, 1969 को उन्होंने (Madhubala Death) उसी घर में आखरी सांस ली। जब उन देहांत हुआ तब वह सिर्फ 36 साल की थी। अपने पूरे करियर में उन्होंने 73 फिल्मों दी है। वह आज भी अपने अभिनय के वजह लोगों के दिलों में जिन्दा है।

अन्य खबरें:

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|