फिल्म अंग्रेजी मीडियम के शूटिंग के दौरान इरफ़ान खान का ऐसा हुआ था हाल, सुजित सरकार ने कहीं ये बात!

बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड तक इरफ़ान खान ने अपनी एक्टिंग से लोगों के दिलों पर राज किया। 29 अप्रैल 2020 को लंबी बीमारी के वजह से उनका देहांत हो गया। लेकिन वह आज भी अपने फैंस के दिलों में जिन्दा है।
 
फिल्म अंग्रेजी मीडियम के शूटिंग के दौरान इरफ़ान खान का ऐसा हुआ था हाल, सुजित सरकार ने कहीं ये बात!

बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड तक इरफ़ान खान (Irrfan Khan) ने अपनी एक्टिंग से लोगों के दिलों पर राज किया। 29 अप्रैल 2020 को लंबी बीमारी के वजह से उनका देहांत हो गया। लेकिन वह आज भी अपने फैंस के दिलों में जिन्दा है। कहते हैं उनका चेहरा हीरो वाला नहीं था, लेकिन फिर भी उनके एक्टिंग की और लोग आकर्षित होते थे। कहते हैं वह अपनी आंखों से बाते किया करते थे।

इरफ़ान ने 1988 में 'सलाम बॉम्बे' से एक्टिंग करियर की शुरुवात की थी। उसके बाद उन्होंने 'कमाल की मौत', 'दृष्टि', 'एक डॉक्टर की मौत', 'कसूर', 'हासिल', 'तुलसी', 'पीकू', 'अंग्रेजी मीडियम' 'पान सिंह तोमर', 'द लंचबॉक्स', 'तलवार', 'लाइफ ऑफ पाय', 'मुंबई मेरी जान', 'साहेब बीवी और गैंगस्टर रिटर्नस', 'हिंदी मीडियम', 'मकबूल' जैसी फिल्मों में काम किया।

इरफान की आखरी फिल्म 'अंग्रेजी मीडियम' थी। उन्होंने 2 साल का गैप लेकर यह फिल्म साइन की थी। 2 साल वह खतरनाक बीमारी का इलाज कराने वह विदेश में थे। और फिल्म के डायरेक्टर को लगता था कि उनके अलावा इस किरदार को उनसे अच्छा और कोई अभिनेता नहीं निभा सकता।

इरफान के लिए करीब 1 साल तक दिग्दर्शक सुजित सरकार ने वापस मुंबई लौटने का इंतजार किया। सुजीत ने कहा कि इरफान की जगह और कोई दूसरा अभिनेता नहीं ले सकता था। इसलिए उन्होंने 1 साल तक इरफान का तबियत ठीक होने की प्रतीक्षा की। जब वो मिलने आए तब वह बिल्कुल नए एक्टर की तरह लग रहे थे। जब हमने फिल्म की शुरू की तो उन्हें कुछ समझ नहीं आ रहा था। वह बहुत अच्छे अभिनेता थे। एक्टिंग उनके खून में था। मैंने उनके जैसा अभिनेता आज तक नहीं देखा।'

अन्य खबरें:

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|