Dilip Kumar-Madhubala Love Story: दिलीप कुमार-मधुबाला की प्रेम कहानी किसी ट्रेजेडी से कम नहीं थी!

बॉलीवुड ब्यूटी क्वीन मधुबाला (Madhubala) और दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार (Dilip Kumar) की प्रेम कहानी किसी ट्रेजेडी से कम नहीं थी। वैसे तो दिलीप और मधुबाला की प्रेम कहानी किसी से छिपी नहीं है
 
Dilip Kumar-Madhubala Love Story: दिलीप कुमार-मधुबाला की प्रेम कहानी किसी ट्रेजेडी से कम नहीं थी!

बॉलीवुड ब्यूटी क्वीन मधुबाला (Madhubala) और दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार (Dilip Kumar) की प्रेम कहानी किसी ट्रेजेडी से कम नहीं थी। वैसे तो दिलीप और मधुबाला की प्रेम कहानी किसी से छिपी नहीं है, लेकिन क्या आप जानते हैं उनकी प्रेम कहानी सिर्फ एक गुलाब से शुरू हुई थी। 

साल 1951 में दोनों एक्टर फिल्म तराना की शूटिंग कर रहे थे। उस वक़्त दिलीप साहब को पता नहीं था कि मधुबाला उन्हें मन ही मन पसंद करने लगी थी। मधुबाला ने अपनी करीबी मेकअप आर्टिस्ट के हाथों दिलीप कुमार को एक ख़त भेजा और गुलाब का फूल भेजा, उसमें लिखा था, 'अगर आप मुझे चाहते हैं तो ये गुलाब क़बूल फरमाइए। वरना इसे वापस कर दीजिए।'

दिलीप कुमार ने वो फूल स्वीकारा और दोनों का प्रेम कहानी शुरू हुई। मुगल-ए-आजम की शूटिंग के दौरान उनकी प्रेम कहानी शुरू हुई, परवान चढ़ा और ख़तम भी हो गया। कहते हैं इसी फिल्म की शूटिंग के दौरान दिलीप और मधुबाला करीब आए, दिलीप कुमार रोजाना   सेट पर मधुबाला से मिलने आया करते थे।

ये भी पढ़ें: Dilip Kumar Unknown Facts! ट्रेजेडी किंग दिलीप कुमार की सुनी और अनसुनी बातें, जानिए यहां

कुमार ने मधुबाला से शादी करने का फैसला कर लिया था, लेकिन मधुबाला के पिता नहीं चाहते थे कि ये शादी हो। क्योंकि मधुबाला एक लौटी थी जिसके कमाई से घर चलता था। एक दिन दिलीप कुमार मधुबाला से मिलने सेट पर पहुंचे और उनसे कहा घर पर क़ाज़ी मौजूद है और शादी की सारी तैयारियां हो गई हैं और वो चाहते हैं कि मुधबाला फौरन उनके साथ चलें। 

Dilip Kumar-Madhubala Love Story: दिलीप कुमार-मधुबाला की प्रेम कहानी किसी ट्रेजेडी से कम नहीं थी!

लेकिन इसके साथ एक शर्त रखी, और शर्त ये थी कि उनसे शादी के बाद मधुबाला को अपने पिता से सारे रिश्ते तोडना होगा।  शर्त सुनने के बाद मधुबाला ने एक शब्द नहीं कहा। मधुबाला की ख़ामोशी देखकर दिलीप साहब ने कहा, "क्या इसका मतलब ये है कि तुम मुझसे शादी नहीं करना चाहतीं?’ अगर आज मैं यहां से अकेला चला गया तो वापस कभी नहीं आउंगा।

फिर भी मधुबाला ने एक शब्द नहीं कहा। दिलीप कुमार वहां से अकेले लौट गए। फिर कभी मधुबाला से रिश्ता नहीं रखा। मुगल ए आज़म के साथ दिलीप कुमार और मधुबाला फिल्म 'नया दौर की भी शूटिंग कर रहे थे। फिल्म की चालीस दिन की शूटिंग पूरे टीम को भोपाल जाना था, लेकिन मधुबाला के पिता अताउल्लाह खान ने कहा मधुबाला नहीं जाएगी। दिलीप कुमार ने उनके पिता को मनाने की बहुत कोशिश की नहीं वह नहीं माने।

ये भी पढ़ें: Dilip Kumar Death: नहीं रहे दिलीप कुमार, PM नरेंद्र मोदी समेत कई नेताओं ने जताया शोक

बीआर चोपड़ा ने तुरंत मधुबाला की जगह वैजयंती माला को फिल्म में कास्ट किया। ये मामला कोर्ट तक पहुंच गई, फिर एक बार दिलीप कुमार और मधुबाला आमने-सामने आए। यहीं पर दिलीप साहब ने कहा कि 'मैं मधुबला से प्यार करता हूं और आखरी सांस तक करता रहूंगा।

Dilip Kumar-Madhubala Love Story: दिलीप कुमार-मधुबाला की प्रेम कहानी किसी ट्रेजेडी से कम नहीं थी!

1966 में मधुबाला को गंभीर बीमार हुई, उस दौरान दिलीप साहब को मिलने के बुलाया। मुलाकात के दौरान उन्होंने कहा, "वो मरना नहीं चाहती थीं। मुझे बहुत अफसोस हुआ, जब उन्होने मुझसे पूछा कि अगर वो ठीक हो जाएंगी तो क्या मैं उनके साथ फिर से फिल्म में काम करूंगा?’’ मैंने उनसे कहा, ‘’तुम जरूर ठीक हो जाओगी, तुम ठीक ही हो। मैंने उनको यकीन दिलाया और वादा किया कि हां मैं तुम्हारे साथ फिल्म करूंगा। लेकिन ये वादा कभी पूरा नहीं हो सका।’’

ये भी पढ़ें: Aamir Khan and Kiran Rao love story; एक फ़ोन से इम्प्रेस होकर आमिर ने की थी किरण से शादी!

रॉकी और रानी की प्रेम कहानी में दिखेंगे ये स्टार, करण जौहर करेंगे निर्देशन, जानिए पूरी खबर

यहां देखिये जनप्रहार का लेटेस्ट वीडियो:-  

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|