चुनाव

तमिलनाडु में मुख्यमंत्री के लिए पहली पसंद स्टालिन : सर्वे

Janprahar Desk
19 Jan 2021 12:18 AM GMT
तमिलनाडु में मुख्यमंत्री के लिए पहली पसंद स्टालिन : सर्वे
x
तमिलनाडु में मुख्यमंत्री के लिए पहली पसंद स्टालिन : सर्वे
नई दिल्ली, 18 जनवरी :- द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) प्रमुख एम. के. स्टालिन आगामी तमिलनाडु विधानसभा चुनावों में लोगों के बीच मुख्यमंत्री के तौर पर पहली पसंद बने हुए हैं। स्टालिन के बाद राज्य की जनता मुख्यमंत्री और ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) नेता ई.के. पलानीस्वामी को एक बार फिर मुख्यमंत्री बनते देखना चाहती है। एक सर्वेक्षण में सोमवार को यह बात सामने आई।

राज्य के सभी 234 विधानसभा क्षेत्रों में 15,000 से अधिक लोगों पर किए गए आईएएनएस सी-वोटर सर्वेक्षण में यह आंकड़े सामने आए हैं। सर्वे में यह भी सामने आया कि सुपरस्टार रजनीकांत और कमल हसन मुख्यमंत्री की दौड़ में काफी दूर हैं।

सर्वेक्षण में लोगों से की गई बातचीत के आधार पर निकले निष्कर्ष में पता चला है कि तमिलनाडु में 36.4 प्रतिशत लोग स्टालिन को मुख्यमंत्री के लिए सबसे उपयुक्त उम्मीदवार के रूप में देखते हैं और उसके बाद पलानीस्वामी को 25.5 प्रतिशत इस पद के लिए उपयुक्त मानते हैं।

एआईएडीएमके के ओ. पनीरसेल्वम, जो वर्तमान में राज्य के उपमुख्यमंत्री हैं, उन्हें शीर्ष पद के लिए उपयुक्त उम्मीदवार के रूप में 10.9 प्रतिशत लोगों ने वोट दी हैं। पनीरसेल्वम ने तीन बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया है।

सर्वेक्षण में यह भी सामने आया है कि एएमएमके से वी.के. शशिकला को 10.6 प्रतिशत लोग मुख्यमंत्री के लिए उपयुक्त उम्मीदवार के रूप में देख रहे हैं। शशिकला पूर्व मुख्यमंत्री और एआईएडीएमके नेता दिवंगत जे. जयललिता की करीबी सहयोगी रहीं हैं।

सर्वेक्षण में कहा गया है कि दक्षिणी फिल्मों के साथ ही बॉलीवुड सुपरस्टार रजनीकांत, जिन्होंने राज्य के चुनाव में नहीं लड़ने की घोषणा की है, उन्हें मुख्यमंत्री के लिए 4.3 प्रतिशत लोग उपयुक्त उम्मीदवार मानते हैं। हालांकि 29 दिसंबर, 2020 को रजनीकांत ने कोविड-19 महामारी का हवाला देते हुए स्वास्थ्य कारणों से तमिलनाडु की राजनीति में नहीं आने के अपने फैसले की घोषणा की थी।

इसी तरह दक्षिणी फिल्मों के साथ ही बॉलीवुड में एक अलग मुकाम हासिल करने के बाद राजनीति में कदम रखने वाले कमल हसन को 3.6 प्रतिशत लोग मुख्यमंत्री बनते देखना चाहते हैं। तमिलनाडु में 1967 से ही द्रमुक और एआईएडीएमके ने शासन किया गया है। 234 सदस्यीय विधासभा के लिए इस साल के अंत में चुनाव होने वाले हैं।

अन्य खबरे :-

Next Story