क्या है अंधविश्वास? लोग क्यों मानते हैं अंधविश्वास में? Hindi essay on अंधविश्वास 

भारत में अंधविश्वास इतना क्यों फैला हुआ है? क्या है अंधविश्वास का मतलब? Andhviswas kya hai?
 
क्या है अंधविश्वास? लोग क्यों मानते हैं अंधविश्वास में? Hindi essay on अंधविश्वास

Andhviswas kya hai? अंधविश्वास (blind faith) एक ऐसी चीज है जिसका ना कोई इलाज है ना कोई समाधान है। लोग वर्षों से कुछ बातों पर विश्वास करते आ रहे हैं और वह अपने विश्वास को लेकर इतने पक्के होते है कि इस चक्कर में बुद्धि और समझ भूल जाते हैं। अंधविश्वास के नाम पर लोग अजीब अजीब चीजें करते हैं और दूसरों से भी करवाते हैं जिसका सही मायने में कोई मतलब नहीं बनता। 

क्या है अंधविश्वास? Meaning of Blind faith in Hindi | अंधविश्वास का अर्थ

सीधे सीधे शब्दों में अंधविश्वास का मतलब होता है बिना किसी आधार या बिना किसी मतलब के किसी बात पर विश्वास करना और ऐसा मानना कि अगर यह चीज ना की जाए तो यह हमारे लिए बुरा हो सकता है। अंधविश्वास आज से नहीं, बल्कि बहुत वर्षों से माना जाता रहता। हमारे बड़े बुजुर्गों द्वारा इन चीजों की शुरुआत हुई थी और यह आज तक चलती आ रही है। अंधविश्वास को ज्यादातर भगवान से जोड़ा जाता है। लोग किसी भी भगवान के नाम पर लोग अक्सर अंधविश्वास का दामन थाम लेते हैं और ऐसा मानते हैं कि इनका पालन नहीं करने से भगवान नाराज हो जाएंगे और इससे हमारी किस्मत बिगड़ सकती है या हम पर कोई संकट आ सकता है।
andhviswas in india
Superstition in India: हमारे भारत देश में अंधविश्वासों पर कुछ ज्यादा ही ज़ोर दिया जाता है। लोग तरह तरह की चीजों पर विश्वास करते हैं और इन चीजों को अपने परिवार वालों द्वारा भी मनाते हैं। आज हम ऐसे ही कुछ अंधविश्वासों के ऊपर बारे में बात करेंगे जिन्हें लोग बहुत ज्यादा मानते आ रहे हैं।

Superstition in India | भारत में अंधविश्वास

  • लोग ऐसा मानते हैं कि शनिवार या गुरुवार के दिन नाखून या बाल नहीं काटने चाहिए। ऐसा मानने के पीछे उनकी यह सोच होती हैं कि इन दिनों में बालों या नाखूनों को काटने से मां लक्ष्मी और शनिदेव का प्रकोप पड़ता है। हालांकि इस अंधविश्वास के पीछे कोई ठोस वजह नहीं है लेकिन भगवान पर अपने भरोसे के चलते लोग इसका नियम से पालन करते हैं।
  • बिल्ली का रास्ता काटना बहुत ज्यादा अशुभ माना जाता है खासकर कि अगर वह बिल्ली काली हो। भारत में यह चीज लोग बहुत ज़्यादा विश्वास करते हैं कि रास्ते में अगर कोई भी काली बिल्ली उनका रास्ता काट ले तो यह उनके लिए एक बुरा संकेत हो सकता है। लोग ऐसा मानते हैं कि ऐसा होने से उनका दिन बुरा जाएगा या वह जो काम करने निकल रहे हैं वह बिगड़ सकता है।
  • यह आदत अक्सर बच्चों में और युवा पीढ़ी में देखी जाती है। अक्सर बच्चे बैठकर अपना पैर जोर-जोर से हिलाते रहते हैं और इसे करने से घर के बड़े हमेशा रोकते रहते हैं। वह कहते हैं कि ऐसा करने से घर से लक्ष्मी बाहर चली जाएगी। हालांकि जोरों से पैर हिलाना इंसान के मन में चल रही बेचैनी का एक संकेत होता है। इसका हमारे धन से कोई भी संबंध नहीं होता है!
  • बहुत से घरों में शाम के वक्त झाड़ू लगाना अशुभ माना जाता है। ऐसा मानते हैं कि सूरज ढलने के बाद झाड़ू लगाने से लक्ष्मी माता नाराज हो जाएंगी और घर से चली जाएंगी इसलिए दिन का उजाला रहते रहते घर में झाड़ू लगाने की सलाह दी जाती है।
  • कहीं बाहर जाते वक्त अगर आपको छींक आ जाए तो यह भी एक अशुभ संकेत माना जाता है। लोग ऐसा मानते हैं कि अगर छींक आ जाती है तो होने वाला काम बिगड़ सकता है। इसलिए थोड़ी देर रुक कर फिर बाहर निकलना चाहिए।
  • एक और चीज जो लोग बहुत मानते हैं वह है घर में कांच का टूट जाना। घर में कोई भी आईना या कांच की चीज टूटने से लोग ऐसा समझते हैं कि उन पर कोई भी विपत्ति आने वाली है और इससे उन्हें परेशानी होने वाली है।
खैर हमने आपको लोगों द्वारा माने गए कुछ अंधविश्वासों के बारे में बताया था। लेकिन हम नहीं चाहते कि आप इन पर विश्वास करें। यह बिल्कुल भी बेबुनियाद हैं और इन पर विश्वास करने का कोई मतलब नहीं है। आज हमारा देश इतना आगे बढ़ गया है तो इन चीजों पर विश्वास करना हमें और भी पीछे ले जाएगा। हम आपको यही सलाह देंगे कि आप भी इन अंधविश्वासों पर ना भरोसा करें और जो लोग कर रहे हैं उन्हें भी ऐसा करने से रोके।
अन्य खबरें:

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|