LET’S KNOW ABOUT MEGHALAYA (मेघालय) IN HINDI

मेघालय की राजधानी शिलांग है , जो बेहद खूबसूरत है और यह इस राज्य का सबसे बड़ा शहर भी है।

 
LET’S KNOW ABOUT MEGHALAYA (मेघालय) IN HINDI

मेघालय

  • मेघालय की राजधानी शिलांग है , जो बेहद खूबसूरत है और यह इस राज्य का सबसे बड़ा शहर भी है।
  • मेघालय पहले असम राज्य का ही एक भाग था, लेकिन सन 1972 में असम के खासी ,गारो और जयंतिया पर्वतीय क्षेत्रों को काटकर नया राज्य घोषित कर दिया गया , जिसका नाम मेघालय रखा गया।
  • मेघालय की करीब 80% आबादी कृषि पर निर्भर है, चावल और मक्का यहां की मुख्य फसल है यहां का करीब 70% हिस्सा जंगल से भरा हुआ है , मेघालय में 3 वन्य जीव अभ्यारण हैं नोंगखाई ,सीजू अभ्यारण और बाघमारा अभयारण्य, यहां जिंदा पेड़ों से पुल बने हुए हैं।
  • मेघालय में हर तरह का जीव जंतु और पक्षी पाए जाते हैं । यहां मुख्य रूप से लाल पांडा, हाथी, भालू , जंगली भैंस, हिरण, जंगली सूअर , दुर्लभ प्रजातियों के चमगादड़ आदि पाए जाते हैं । इसके अलावा सरीसृप , छिपकली , मगरमच्छ और कछुए भी यहां पाए जाते हैं।
  • मेघालय की मावलिनंग गांव को 2003 में एशिया का सबसे स्वच्छ गांव का अवार्ड मिला था।
  • दुनिया में सबसे ज्यादा बारिश मेघालय के मासिनराम और चेरापूंजी में ही होती है , इन दोनों क्षेत्र में साल में 12 महीनों में से 10 से 11 महीने बारिश होती है।
  • मेघालय में करीब 75% लोग ईसाई धर्म का पालन करते हैं।
  • मेघालय में “बंगला फेस्टिवल” गारो जाति के लोगों द्वारा भगवान सूर्यनारायण को धन्यवाद कहने के लिए मनाया जाता है।
  • मेघालय में मुख्य रूप से खासी ,गारो और जयंतीया जाति के लोग बसते हैं, इसके अलावा हजोग और तिवा जनजाति के लोग भी यहां रहते हैं।
  • मेघालय में नोंगक्रेम त्यौहार बहुत लोकप्रिय है जो नवंबर में 5 दिनों के लिए मनाया जाता है, यह मेघालय की खासी जाती द्वारा “फसल धन्यवाद” के रूप में मनाया जाता है जिसकी शुरुआत बकरी की बलि देकर होती है , यहाँ कुंवारे लड़के और लड़कियां साथ मिलकर नृत्य करते हैं जो बेहद ही मनोरंजक होता है।

अन्य खबरें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|