उड़ीसा के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां (Odisha)

मशहूर खेल पत्रिका स्पोर्टस्टार ने 2011 से 2020 तक खेलों को बढ़ावा देने के लिए ओडिशा को दशक के सर्वश्रेष्ठ सम्मान से सम्मानित किया है। ओडिशा को दशक का सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार ‘स्पोर्टस्टार एसेस अवार्ड’ मिला है। 

 
उड़ीसा के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां (Odisha)

प्राचीन काल से मध्यकाल तक ओडिशा राज्य को कलिंग, उत्कल, उत्करात, ओड्र, ओद्र, ओड्रदेश, ओड, ओड्रराष्ट्र, त्रिकलिंग, दक्षिण कोशल, कंगोद, तोषाली, छेदि तथा मत्स आदि नामों से जाना जाता था। परन्तु इनमें से कोई भी नाम सम्पूर्ण ओडिशा को इंगित नहीं करता था। अपितु यह नाम समय-समय पर ओडिशा राज्य के कुछ भाग को ही प्रस्तुत करते थे।

मशहूर खेल पत्रिका स्पोर्टस्टार ने 2011 से 2020 तक खेलों को बढ़ावा देने के लिए ओडिशा को दशक के सर्वश्रेष्ठ सम्मान से सम्मानित किया है। ओडिशा को दशक का सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार ‘स्पोर्टस्टार एसेस अवार्ड’ मिला है। 

Odisha के अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां

  • उड़ीसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक हैं।
  • गणेशी लाल उड़ीसा के राज्यपाल हैं।
  • उड़ीसा की राजधानी भुवनेश्वर है।
  • 1 अप्रैल 1936 को उड़ीसा का गठन हुआ था।
  • उड़ीसा का राजकीय पशु सांभर हिरण है।
  • नीलकंठ उड़ीसा का राजकीय पक्षी है।
  • रथ यात्रा उड़ीसा का विश्व प्रसिद्ध त्योहार है।
  • जगन्नाथ मंदिर उड़ीसा का विश्व विख्यात मंदिर है।
  • उड़ीसा का क्षेत्रफल 1,55,707 वर्ग किलोमीटर है।
  • उड़ीसा राज्य कैंसर के उष्णकटिबंधीय दक्षिण में स्थित है और पूरे वर्ष यहां गर्मी रहती है।
  • उड़ीसा की राज्य भाषा उड़िया के साथ हिंदी और अंग्रेजी है।
  • उड़ीसा राज्य की पहचान कलिंग के नाम से भी है।
  • उड़ीसा का इतिहास 260 वीसी से माना जाता है।
  • उड़ीसा की भूमि सपाट है और मृदा जलोढ़ है।
  • उड़ीसा में ज्यादातर लोग जनजाति समाज के हैं और अधिकांश जनजाति मुख्य रूप से उड़ीसा के कोरापुट, फूलबनी , सुंदरगढ़ और मयूरभंज जिलों में रहते हैं।
  • उड़ीसा के पड़ोसी राज्य झारखंड, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश और छत्तीसगढ़ है।
  • उड़ीसा के पूर्व में बंगाल की खाड़ी है।
  • उड़ीसा और छत्तीसगढ़ की सबसे बड़ी नदी महानदी का प्राचीन नाम चित्रोत्पला था जिसे अब महानंदा या नीलोत्पला के नाम से भी जाना जाता है।
  • उड़ीसा का लोक नृत्य उड़िया है।
  • उड़ीसा में लगभग 500 किलोमीटर लंबी समुद्र तटीय रेखा है जिसके कारण यहां बहुत से खूबसूरत समुद्र तट देखने को मिलते हैं।

उड़ीसा के समुद्री तट

  1. Puri Beach :- इस समुद्री तट को पूरी टच भी कहते हैं यह बहुत ही लुभावना और सुंदर तट है।
  2. Gopalpur Beach :- गोपालपुर समुद्री तट भुवनेश्वर से 170 किलोमीटर और बेरहपुर से 15 किलोमीटर है।
  3. Chandipur Beach :- चांदीपुर तट समुद्री तट बेरासपुर से 16 किलोमीटर दूर है।
  4. कोणार्क तट( Konark Beach):- यह तट समुद्र के किनारे बसा कोणार्क पूरी से 35 किलोमीटर और भुवनेश्वर से 65 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।
  5. बालेश्वर या बालासोर उड़ीसा का तटीय जिला है। इसके अलावा कटक, अंगल आदि बंदरगाह भी प्रसिद्ध हैं।

अन्य खबरें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|