बच्चों के लिए अभिनव बिंद्रा पर निबंध। Hindi essay on Abhinav Bindra। Who is Abhinav Bindra?

बच्चों के लिए अभिनव बिंद्रा पर निबंध पढ़ने के लिए आगे पढ़ें। Hindi essay on Abhinav Bindra। अभिनव बिंद्रा के बारे में हिंदी में पढ़े।
 
बच्चों के लिए अभिनव बिंद्रा पर निबंध। Hindi essay on Abhinav Bindra। Who is Abhinav Bindra?

स्कूल में अक्सर बच्चों को अलग-अलग तरह की चीजें करने को दी जाती है। साथ ही उन्हें घर पर करने के लिए homework भी दिया जाता है जो कई तरह के हो सकते हैं। ऐसे होमवर्क में निबंध (Essays for children) भी शामिल होता है जहां बच्चों को अपने खुद के अक्षर में किसी विषय पर निबंध लिखना होता है। निबंध का विषय कुछ भी हो सकता है। ऐसे में हम आपके लिए ऐसी शख्सियत पर निबंध (Hindi essay on Abhinav Bindra) लेकर आए हैं जिन्होंने अपने उपलब्धियों से भारत का नाम पूरी दुनिया में रौशन किया है। हम बात कर रहे हैं भारत के विख्यात निशानेबाज अभिनव बिंद्रा (Shooting Champion Abhinav Bindra) के बारे में। अभिनव बिंद्रा को हर कोई जानता है और उनके द्वारा हासिल की गई उपलब्धियों से हर भारतीय गर्व महसूस करता है। तो आइए जानते हैं Hindi essay on Abhinav Bindra। अभिनव बिंद्रा पर निबंध अगर आपको अच्छा लगे तो अवश्य share करें। 
  • अभिनव बिंद्रा पर निबंध। Hindi essay on Abhinav Bindra। Who is Abhinav Bindra? अभिनव बिंद्रा के बारे में हिंदी में

भारत के youth icon के रूप में पहचाने जाने वाले अभिनव बिंद्रा का जन्म 28 सितंबर 1921 में देहरादून उत्तराखंड के देहरादून शहर में हुआ था (Birth date of Abhinav Bindra)। अभिनव बिंद्रा ने 2008 के बीजिंग ओलंपिक में पहला व्यक्तिगत स्वर्ण पदक जीतकर एक इतिहास रच दिया था। अभिनव अब अपने पिता अमित बिंद्रा और मां बबली बिंद्रा के प्रिय पुत्र थे और उनके माता पिता ने अपने बेटे का हर रूप से प्रोत्साहित किया था। 
Shooting Champion Abhinav Bindra
  • Career of Abhinav Bindra in Hindi

अभिनव ने सबसे पहले कोलोराडो विश्वविद्यालय से अपने बीबीए की डिग्री ली जिसके बाद उन्होंने खेल में आगे बढ़ने का फैसला किया। इसमें उनके माता-पिता ने उनका भरपूर समर्थन किया और उन्हें एक सफल शूटिंग स्टार बनाया। इसके अलावा उनके माता-पिता ने पंजाब के पटियाला में उनके घर में इंदौर शूटिंग रेंज स्थापित किया था। अभिनव केवल 15 वर्ष के थे जब उन्होंने निशानेबाजी प्रतियोगिता में भाग लिया था और इसके बाद कभी मुड़कर नहीं देखा। वह नियमित रूप से अभ्यास और व्यायाम करते थे और दिन में 7 घंटे शूटिंग की प्रैक्टिस करते थे। साथ ही 2 घंटे व्यायाम करने में बताते थे। इसी वजह से उन्होंने बहुत कम उम्र में ही कई पुरस्कार भी जीते हैं और देश का नाम रोशन किया है। 
  • Achievements of Abhinav Bindra in Hindi। Abhinav Bindra Awards in Hindi

उन्होंने 11 अगस्त, 2008 के Beijing Olympics में 10 meter air rifle shooting competition में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास बनाया। इसके अलावा उन्होंने 2001 में Munich के European Rifle Circuit Championship में लगातार चार स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास बनाया। इन सबके अलावा भी अभिनव बिंद्रा की उपलब्धियों की सूची बहुत लंबी है। अपने उल्लेखनीय योगदान के लिए उन्हें कई तरह के सम्मान से भी नवाजा गया है जिसमें अर्जुन पुरस्कार, राजीव गांधी खेल रत्न और पद्मभूषण शामिल है। साथ ही उन्हें 2011 में भारतीय सेना की लेफ्टिनेंट कर्नल उपाधि से भी सम्मानित किया गया था।
अपने खेल और मेहनत से अभिनव बिंद्रा ने निशानेबाजी की दुनिया में एक बड़ा मुकाम हासिल किया है। कई लोगों के लिए एक एक प्रेरणा है।
अगर आपको अभिनव बिंद्रा पर हिंदी निबंध (Hindi essay on Abhinav Bindra) अच्छा लगा तो अवश्य share करें और comment section में हमें बताएं कि आपको यह कैसा लगा।
अन्य खबरें:

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|