क्राइम

Maharashtra: छेड़खानी के बाद सिरफिरे ने महिला टीचर को किया आग के हवाले।

Janprahar Desk
5 Feb 2020 9:02 AM GMT
Maharashtra: छेड़खानी के बाद सिरफिरे ने महिला टीचर को किया आग के हवाले।
x
महाराष्ट्र (Maharashtra) के वर्धा (Wardha) जिले में कॉलेज की जिस अध्यापिका को उसका पीछा करने वाले व्यक्ति ने आग के हवाले कर दिया था, उसकी हालत स्थिर लेकिन नाजुक बनी हुई है। एक डॉक्टर (Doctor) ने मंगलवार देर रात यह जानकारी दी। राज्य सरकार के निर्देश पर मंगलवार को मुंबई स्थित नेशनल बर्न्स सेंटर के

महाराष्ट्र (Maharashtra) के वर्धा (Wardha) जिले में कॉलेज की जिस अध्यापिका को उसका पीछा करने वाले व्यक्ति ने आग के हवाले कर दिया था, उसकी हालत स्थिर लेकिन नाजुक बनी हुई है। एक डॉक्टर (Doctor) ने मंगलवार देर रात यह जानकारी दी। राज्य सरकार के निर्देश पर मंगलवार को मुंबई स्थित नेशनल बर्न्स सेंटर के निदेशक सुनील केसवानी (Sunil Keswani) को हवाई मार्ग के जरिये नागपुर ले जाया गया, जहां महिला का इलाज चल रहा है। पीड़िता अंकिता पिसुड्डे (Ankita Pisudde) (25) वर्धा के हिंगणाघाट की निवासी है और उसका इलाज नागपुर में ऑरेंज सिटी अस्पताल में चल रहा है।

बताया जा रहा है कि अंकिता पिसुड्डे (Ankita Pisudde) का एक परिचित विकेश नगराले (Vikesh Nagrale) (27) पिछले कुछ समय से उसे परेशान कर रहा था। नगराले ने अंकिता को हिंगणाघाट में सोमवार को उस वक्त आग के हवाले कर दिया था, जब वह कॉलेज जा रही थी। पीड़िता का शरीर चालीस प्रतिशत झुलस गया है। राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने मंगलवार को अस्पताल का दौरा किया और घोषणा की कि आरोपी पर मुकदमे की कार्रवाई जल्द से जल्द पूरी की जाएगी और महिला के परिजनों की मांग पर प्रख्यात वकील उज्ज्वल निकम को विशेष अभियोजक नियुक्त किया जाएगा।

गृहमंत्री ने कहा, “हम आंध्र प्रदेश के कानून का अध्ययन कर यह जानने की कोशिश करेंगे कि ऐसे मामले में 21 दिन में फैसला किस प्रकार सुनाया गया था।” केसवानी ने नागपुर में संवाददाताओं से कहा कि महिला की हालत स्थित लेकिन नाजुक बनी हुई है और उसे कहीं और नहीं भेजा जाएगा। उन्होंने कहा, “वह पूरी तरह सचेत अवस्था में है लेकिन अभी बात करने की अवस्था में नहीं है। उसके फेफड़ों की हालत तीन चार दिन बाद पता चलेगी। उसकी जान बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है।”

मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक वक्तव्य में कहा गया कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने घटना को गंभीरता से लिया है और पीड़ित महिला के इलाज का खर्च मुख्यमंत्री चिकित्सा सहायता निधि से दिया जाएगा। महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग ने सोमवार को वर्धा पुलिस अधीक्षक को मामले के संबंध में एक रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। पुलिस के अनुसार नगराले और महिला दो साल पहले तक दोस्त थे। बाद में महिला ने नगराले के आचरण को देखते हुए उससे दोस्ती तोड़ ली थी। एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “नगराले विवाहित है और उसका सात महीने का एक बच्चा भी है। वह बल्हारशाह में एक फर्म में काम करता है। वह महिला का पीछा करता था। उसने पिछले महीने आत्महत्या करने की भी कोशिश की थी।”

पीड़िता के रिश्तेदार शुभम पिसुड्डे ने कहा कि कई बार चेतावनी दिए जाने के बावजूद नगराले पीड़िता को पिछले कई वर्षों से परेशान कर रहा था। रिश्तेदार ने बताया कि नगराले की वजह से पिछले साल पीड़िता की शादी टूट गई थी। इस बीच हिंगणाघाट में वकीलों के संघ ने निर्णय लिया है कि कोई स्थानीय वकील आरोपी की तरफ से पेश नहीं होगा। एक स्थानीय अदालत ने नगराले को आठ फरवरी तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है।

Next Story