क्राइम

Big News: 20 साल की उम्र में बैंक लूटा और आराम से गुजारी बाकी की जिंदगी, मरने के बाद हुआ चोरी का खुलासा !

Sudarshan Kendre
13 Jan 2023 11:45 AM GMT
Big News: At the age of 20, he robbed a bank and lived the rest of his life comfortably, the theft was revealed after death!
x

Big News: At the age of 20, he robbed a bank and lived the rest of his life comfortably, the theft was revealed after death!

फिल्म में लड़का एक बैंक डकैती को करीब से देखता है। वह इसे बार-बार देखता है। वह अगले दस दिनों तक हर दिन एक ही फिल्म देखता है। और फिर वह फिल्म की तरह असल जिंदगी में भी बैंक लूटने का फैसला करता है। बैंक में काम करने वाला एक २० साल का लड़का शाम को बैंक से थक-हार कर घर आता है। खाना खाने के बाद वह फिल्म देखने लगता है। यह फिल्म एक बैंक डकैती पर आधारित थी। उन्हें फिल्म बहुत पसंद है और फिल्म देखते समय उनके दिमाग में एक आइडिया भी आता है। फिल्म में लड़का एक बैंक डकैती को करीब से देखता है।

फिल्म से सीखा बैंक लूटना......

'द थॉमस क्राउन अफेयर' एक हॉलीवुड फिल्म थी। १९६८ में स्टीव मैकक्वीन डकैती अमेरिकी राज्य ओहियो में सबसे बड़ी बैंक डकैती थी। इस डकैती का अपराधी टेड कॉनराड नाम का एक बीस वर्षीय लड़का था। इस फिल्म से चोरी करने के बाद लड़के ने जीना सीख लिया। उन्होंने सोसायटी नेशनल बैंक ऑफ ओहियो में एक टेलर के रूप में काम किया। उसने अपनी योजना के बारे में किसी को नहीं बताया। उसने बैंक के एक भूरे रंग के पेपर बैग में २ लाख १५ हजार डॉलर रखे और चुपचाप बैंक से निकल गया।

बैंक सुरक्षा की कई कमियों को जानता था और उसका फायदा उठाता था। किसी को शक नहीं हुआ और वह बैंक से बड़ी रकम लेकर फरार हो गया। यह घटना जुलाई १९६९ में हुई थी। यह राशि उस समय बहुत बड़ी थी। बैंक से लगभग सारा पैसा गायब हो चुका था। शाम तक बैंक में अफरातफरी मच गई। जांच शुरू हुई। टेड कॉनराड को छोड़कर बैंक में काम करने वाले सभी लोग वहां मौजूद थे।

अब यह स्पष्ट हो गया था कि टेड कोनराड ने चोरी की थी। बीस साल का लड़का करोड़ों रुपये लेकर लापता हो गया। पुलिस ने उसकी हर जगह तलाश की। अमेरिका के कई शहरों में उसकी तलाश की गई, लेकिन पकड़ा नहीं जा सका। राशि बहुत बड़ी थी, जांच कई वर्षों तक चली। टेड कॉनराड अमेरिका का मोस्ट वांटेड अपराधी बन गया। देश भर की पुलिस ने उसकी तलाश की, लेकिन कोनराड का कोई पता नहीं चला। कुछ साल बाद पुलिस को बैंक डकैती के इस मामले को बंद करना पड़ा।

बीस साल की उम्र में टेड कॉनराड एक फिल्म की बदौलत करोड़पति बन गए। वह कुछ समय तक पुलिस से छिपा रहा, इसके बाद उसी बैंक से १०० किमी दूर एक घर में चला गया। टेड अपना नया जीवन कॉनराड के साथ शुरू करता है। उसने अपना नाम बदल लिया। उनके पास अब पैसे की कोई कमी नहीं थी, लेकिन इसके बावजूद वह लो प्रोफाइल लाइफ जीते रहे। जिस फिल्म से उन्हें डकैती के बारे में पता चला, उसमें दिखाया गया था कि कैसे वह लो प्रोफाइल रहकर पुलिस से बच सकते हैं।

52 साल बाद मामला सुलझा......

पहले तो सालों तक इस बड़े पैमाने पर बैंक डकैती की बात होती रही, लेकिन धीरे-धीरे इसे लोगों के दिमाग से निकाल दिया गया। करीब २ साल पहले १२ नवंबर २०२१ को एक खबर ने सबको चौंका दिया था। अमेरिकी पुलिस ने ५२ साल पहले हुई बैंक डकैती के मास्टरमाइंड की पहचान करने का दावा किया है। दरअसल, चोरी के बाद शुरुआती कुछ सालों तक वह पुलिस से छिपा रहा। इसके बाद उन्होंने अपना नाम बदलकर थॉमस रुंडेल रख लिया।

मृत्यु के संदेश से चोर का रहस्य खुल गया......

कॉनराड को गोल्फ खेलना बहुत पसंद था। एक नए नाम के साथ उन्होंने गोल्फ में अपनी पहचान बनाई। वह एक अमेरिकी गोल्फर बन गया। दुनिया की नजरों में वह मशहूर गोल्फर थॉमस रान्डेल थे। थॉमस रंडेल का ७२ वर्ष की आयु में निधन हो गया। वह एक प्रसिद्ध गोल्फर थे, इसलिए अखबारों में कई मृत्युलेख थे। इन शोक संदेशों में उनकी एक पुरानी फोटो भी थी। यह वही फोटो थी जो पुलिस के पास थी। इस शोक संदेश के आधार पर पुलिस ने बैंक लूटकांड का पर्दाफाश किया और सारा सच सामने आ गया। करोड़ों रुपए चोरी करने और सालों तक न पकड़े जाने का राज उनकी मौत के बाद खुला। टेड कॉनराड और थॉमस रंडेल एक ही व्यक्ति थे।

Next Story