RBI MPC: सस्ती ईएमआई के लिए करना होगा और इंतजार, ब्याज दरों में नहीं हुआ कोई बदलाव

2021 के लिए रिजर्व बैंक  (RBI) की तरफ से तीसरी मॉनिटरी पॉलिसी की घोषणा की गई। लगातार बढ़ रही महंगाई को देखते हुए इस बार मॉनेटरी पॉलिसी कमिटी में कोई भी बदलाव न करने का फैसला लिया गया है।
 
Shakti kant das

2021 के लिए रिजर्व बैंक (RBI) की तरफ से तीसरी मॉनिटरी पॉलिसी की घोषणा की गई। लगातार बढ़ रही महंगाई को देखते हुए इस बार मॉनेटरी पॉलिसी कमिटी में कोई भी बदलाव न करने का फैसला लिया गया है। RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास का कहना है कि जब तक कोरोना का असर खत्म नहीं हो जाता तब तक अकोमडेटिव नजरिया ही बरकरार रहेगा। 

बता दें कि जैसे पहले रेपो रेट 4 था, ठीक वैसे ही रेपो रेट को बरकार रखा गया है। वहीं रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी पर ही बना रहेगा। बैंक रेट 4.25 फीसदी पर बरकार है। RBI गवर्नर का कहना है कि वैक्सिनेशन से फिलहाल में इकोनॉमी बूस्ट तो नहीं होगी लकिन स्थिरता बनी रहेगी। 


गौरतलब है कि RBI में आखिरी बार 22 मई 2020 में नीतिगत दरों में संशोधन किया था। भारत मे कोरोना के प्रसार के बाद से RBI की नीतियां भी जस की तस है। बता दें कि RBI की मैद्रिक नीति समिति की बैठक हर दो महीने में होती है। इस बैठक में ब्याज दरों का फैसला लिया जाता है और अर्थव्यवस्था में सुधार पर चर्चा की जाती है। 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए हमारे फेसबुक पेजको लाइक करे, हमे Twitterपर फॉलो करे, हमारेयूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कीजिये|